युवकों को सैकडों गायें रौदते हुए निकल गई लेकिन मुहं से नहीं निकला उफ..... (देखे वीडियो)

- तिरला के ग्राम सुल्तानपुर में होता है गाय-गौहरी का आयोजन

By: Amit S mandloi

Published: 15 Nov 2020, 05:38 PM IST

धार.अमित एस मंडलोई,वीरेंद्र पाटीदार
अगर गायों का झुंड किसी के उपर से निकल जाए तो व्यक्ति घायल हो जाता है, लेकिन धार के सुल्तानपुर में ऐसा आयोजन होता है, जिसमें लोग सडकों पर लेट जाते है और सैकडों गायें उन्हें रौदंते हुएनिकल जाती है। रौंदे हुए युवक फिर उठ खड़ेहोते है।

ये पर्व गाय-गौहरी के नाम से सुल्तानपुर में मनाया जाता है। जिलेभर में गाय-गौहरी का पर्व धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन पशु धन को सजाया जाता है।इसके बाद कई गांवों में गाय-गौहरी पर्व मनायाजाताहै। सुल्तानपुर में सैकडों गायों को जमा कियाजाताहै। इसके बाद डोल-ढमाके बजाए जातेहै आतिशबाजी की जाती है। गाय एक छोर सेदूसरे छोर तक दौड़ लगाती है। गायों वाले मार्ग पर कई लोग औधें लेट जाते है और गायें उनके उपर से निकल जाती है। इसके बाद फिर वे उछल कर खड़ेहा जाते है ,उन्हें खरोंच तकनहीं आती है।

युवकों को सैकडों गायें रौदते हुए निकल गई लेकिन मुहं से नहीं निकला उफ..... (देखे वीडियो)

येहै मान्यता

गायों के नीचे लेटने के पीछे पुरानी मान्यताएं है। सुल्तानपुर के कनीराम भूरिया , नन्दू रामसिंग ,गलू रमेश ,बाबू ,जगदीश ,शंभू, दिनेश ,धर्मराज ,राजेश ,दिनेश ने बताया कि श्रद्धालु अपनी मन्नत उतारने के लिए गायों के पैरों के नीचे लेट जाते है। कई लोग अपने परिवार की भलाई,खुशहाली के लिए ये करते है।

Amit S mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned