आबकारी दल पर शराब बनाने वालों ने बरसाए पत्थर और चलाए तीर, पुलिस ने हवाई फायर कर छोड़े अश्रुगैस के गोले

आबकारी दल पर शराब बनाने वालों ने बरसाए पत्थर और चलाए तीर, पुलिस ने हवाई फायर कर छोड़े अश्रुगैस के गोले

Amit S. Mandloi | Publish: Nov, 11 2018 12:38:19 AM (IST) Dhar, Dhar, Madhya Pradesh, India

कच्ची शराब के ठिकाने पर दबिश : महुआ लहान और शराब छोडक़र भागे बदमाश

धार. तिरला ब्लॉक के सूरजकुंड में कच्ची शराब के ठिकाने पर दबिश देने गए आबकारी दल पर शराब बनाने वालों ने हमला कर दिया। सुबह साढ़े 7 बजे करीब आबकारी विभाग की 30-40 सदस्यों की टीम मुखबिर की सूचना पर सूरजकुंड में दबिश देने पहुंची। टीम को देखते ही कुछ युवकों ने पत्थर चलाना शुरू कर दिए। पत्थर के हमले से दल हतप्रभ रह गया। दरअसल जिस जगह पर दल दबिश देने पहुंचा था। वह स्थान नदी का पाट था। यहां पर जंगल किनारे हाथ भट्टी से महुआ लहान की शराब बनाई जा रही थी। दल नदी के एक छोर पर था। वहीं दूसरे छोर से दल को देखकर शराब बनाने वाले लोगों ने गोफन से पत्थर चलाना शुरू कर दिए। इस दौरान दल के एक सिपाही ने बताया कि ‘काश्मीरी पत्थरबाज’ की तरह सधे निशाने से बड़े-बड़े पत्थर फेंक रहे थे। जहां से उन तक पहुंचने के लिए पगडंडी थी। इस पथरीली पगडंडी के आसपास के पेड़ों की आड़ से तीर भी चलाए जा रहे थे।
दल ने करीब 8 से साढ़े 12 बजे तक पत्थरबाजों से मुकाबला किया। पुलिस बल बढ़ता देख युवक भाग गए। पुलिस ने यहां से बरामद महुआ लहान नदी में ही बहा दिया। मौके से 50 से अधिक ड्रम बरामद किए गए हैं। जिन लोगों ने पुलिस और आबकारी दल पर हमला किया था। उन युवकों की उम्र करीब 18 से 25 वर्ष के मध्य है। दल ने करीब 7 लाख रुपए की शराब बरामद कर नष्ट की है। करीब 12 हजार लीटर लहान पानी में बहाया है। आबकारी विभाग के दल के पास बड़े पैमाने पर हाथ भट्टी से शराब बनाने के कारखाने की पुष्टि थी। इसके चलते दल ने शनिवार सुबह साढ़े 7 बजे ही सूरजकुंड रवाना हो गया। नदी के पाट के दोनों और टीलेनुमा पहाडिय़ां थी। दल नदी के एक ओर था। दूसरी ओर पत्थरबाज युवक बैठे थे। नदी के मध्य हाथ भट्टी के कारखाने तक पहुंचने के लिए एक छोटी पुलिया थी। यहां तक दल को पहुंचने से रोकने के लिए दूसरे छोर पर बैठे युवाओं ने पत्थर चलाए। आबकारी अधिकारी भौगोलिक स्थितियां और शराब कारोबारियों की गौरिल्ला युद्ध नीति से खूब परेशान हुए। दल एक छोर पर चंद युवाओं को देखकर आगे बढ़ता। जैसे ही नजदीक पहुंचने की कोशिश करता युवा तितर-बितर हो जाते और पीछे से एक बड़ा झुंड पत्थरबाज युवाओं को बेकअप देने के लिए सामने आ जाता।

4 से 5 इंच के थे पत्थर

हमलावरों ने करीब 4 से 5 इंच बड़े पत्थर बरसाए। 50 से 60 मीटर की दूरी होने व हथियार होने के बावजूद पुलिस व आबकारी अधिकारी गोली चलाने से बचते रहे। अश्रु गैस के गोले दागे पर गैस असर नहीं कर पा रही थी। पुलिस ने हवाई पायर किए, मगर बड़े अधिकारियों ने गोली की बात को नकार दिया है। फेंके पत्थर से दल की दो-तीन गाडिय़ों के कांच फूट गए। दल ने इन्हें घेरने के लिए दूसरी ओर से एक टुकड़ी भेजी। युवक आपस में बिखर कर दूसरे दल से भिड़ गए। पीछे से घेरने के लिए आबकारी अधिकारी दिलीप कनासे व उदानिया जीप से पहुंचेतो उन पर पत्थरबाजी शुरू हो गई। गाड़ी के कांच फूट गए। दोनों अधिकारियों ने ड्रायवर को निर्देश देकर फिल्म सिंघम की तरह जीप को लगातार गोल-गोल घुमाया। इसके बाद अधिकारियों ने पत्थरबाजों पर पत्थर भी फेंके। बल बढ़ता देखकर युवक फरार हो गए।
झलकियां
पुलिस ने आंसू गैस के गोले दाग कर बदमाशों को खदेड़ा ।
हमले में आबकारी विभाग की 3 गाडिय़ां भी क्षतिग्रस्त हो गई तथा विभाग व पुलिस के 8 अधिकारी व आरक्षक भी पथराव में घायल हो गए।
कार्रवाई में पुलिस विभाग से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धार व पुलिस विभाग के 3 थाने तिरला, धार व नालछा के थाना प्रभारी व जिला पुलिस बल सहित कुल 8 0, आबकारी विभाग के 40 व राजस्व विभाग के तहसीलदार सहित लगभग 15 पटवारी का बल भी उपस्थित रहा।
कार्रवाई के दौरान 135 व्यक्तियों के बल द्वारा कारवाई को सफलतापूर्वक संपन्न कराया गया।
कार्रवाई में 118 00 किलोग्राम महुआ लहान जब्त कर मौके पर नष्ट किया व लगभग 8 00 लीटर हाथ भट्टी मदिरा व समान जब्त किया गया, जिस का बाजार मूल्य लगभग 7 लाख रुपए है।
अवैध मदिरा निर्माण करने वाले माफियाओ द्वारा बल तीर कमान, गोफन और पत्थरों से प्राणघातक हमला किया गया।
भौगोलिक परिस्थिति वाले आदिवासी इलाकों में दबिश के दौरान आबकारी विभाग ने अपने कर्मियों को हेलमेट और सेफ्टी गार्ड जैसी आवश्यक सुविधाएं भी नहीं दी। यही कारण रहा कि पत्थरबाजों के सामने जवान बेबस नजर आए।
दूसरी बार में आए पुलिस बल के जवान हेलमेट और सेफ्टी गार्ड लगाकर आए थे।
इस पूरे घटनाक्रम में करीब 8 बजे से 1 बजे तक का समय लगा। हाथ भट्टी की कच्ची शराब कुंड के पानी में बहाई गई।
इधर जिला कार्यालय पर पहुंचने पर वरिष्ठ अधिकारी भी स्थितियों को देखने के लिए पहुंचे। पत्थरबाजी में धार कोतवाली के पुलिस जवान व कुछ अधिकारियों को हल्की चोंटे आई है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned