गड्ढे खोदकर पेयजल की आपूर्ति

गड्ढे खोदकर पेयजल की आपूर्ति

Ramesh Vaidhya | Publish: Jun, 15 2018 01:31:23 AM (IST) Dhar, Madhya Pradesh, India

बारिश आगामी सप्ताह तक नहीं होती है, तो मनावर में होगी पानी की किल्लत

मनावर. नपा मनावर के वाटर वर्कस् बैरेज में पीने का पानी चंद दिनों का रह गया हैं। मानसून की खेंच के कारण यदि बारिश आगामी सप्ताह तक नहीं होती है, तो नगर में पानी की किल्लत उत्पन्न हो सकती हैं। पिछले पखवाड़े में किसानों की मांग पर मान परियोजना द्वारा मान नदी में पानी छोड़ा गया था। मान नदी पर बने किसान डेमों में पानी भर जाए और पशुओं को पानी मिल जाए। साथ ही किसानों द्वारा ग्रीष्मकालीन फसलों की सिंचाई के लिये भी पानी उपलब्ध हो सके। मान नदी पर स्थित वाटर वर्कस् के बैरेज से पानी निकालने के लिए डेम के कुछ गेट खोले गए थे, ताकि पानी आगे के डेमों मे जा सके। इसी बीच मान डेम की कैनाल को तो बंद कर दिया गया। परंतु मनावर नगर पालिका अपने वाटर वर्कस् बैरेज के गेट लगाना भूल गई और पूरा डेम खाली हो गया। अगर वर्षा की खेंच और लंबी हो गई तो निश्चित रुप से मनावरवासियों को पेयजल के संकट से जुझना होगा। वैसे मार्च माह में मान डेम की दोनों कैनाले बंद कर मनावर नगरपालिका के लिए पेयजल आरक्षित किया जाता हैं। लेकिन इस बार जो पानी छोड़ा गया वह नपा की बिना डिमांड के छोड़ा गया था लेकिन लापरवाही के चलते उक्त डेम को खाली कर दिया गया। डैम में करीब 8 एमसीएफटी पानी भरता है तथा मनावर नगर में प्रतिदिन 40 लाख गैलन से अधिक पानी का वितरण होता हैं जबकि नगर में नल सप्लाई एक दिवस छोडक़र होती हैं। जानकार सूत्रों का कहना है कि जब बिना डिमांड के पानी बैरेज में आया था तो उसे कैनाल बंद करने के साथ ही बैरेज के गेट क्यों नही लगाये। यह एक जांच का विषय हैं।
निर्देश पर छोड़ा पानी
&मान परियोजना से जो पानी छोड़ा गया था वह विधायक रंजना बघेल के निर्देश पर पशु पेयजल एवं जनकल्याण के लिए छोड़ा गया था। नपा द्वारा कोई डिमांड नहीं की गई थी तथा मान नदी के किसान डेमों में पर्याप्त मात्रा में पानी का भंडारण हो गया था। पूर्ति होने पर हमारे द्वारा पुन: पानी बंद कर दिया गया।
-आलोक चौबे, मान . परियोजना, एसडीओ

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned