मरीजों की संख्या ज्यादा, दवाई बांटने वाले कम, मचा हडकंप

गोद लिया वार्ड देखने पहुंचे कलेक्टर के सामने आई परेशानी, सीईओ ने लिया जायजा

By: atul porwal

Published: 05 Sep 2019, 11:34 AM IST

धार.
मंगलवार को पीथमपुर की औद्योगिक कंपनियों के जायजे के बाद बुधवार को कलेक्टर श्रीकांत बनोठ जिला अस्पताल पहुंचे। दरअसल कलेक्टर गोद लिए वार्ड की स्थिति देखने पहुंचे थे, लेकिन मरीजों की परेशानी माथे पड़ गई। बुधवार को जिला अस्पताल की ओपीडी में मरीजों की संख्या 824 थी, लेकिन काउंटर पर दवाई बांटने वाले फार्मासिस्ट कम होने से मरीजों को कतार लगाकर इंतजार करना पड़ा। काफी देर खड़े रहकर मरीज परेशान हो गए, वहीं कलेक्टर को देख मरीज उनके पास पहुंचे और परेशानी बताई। हालांकि कलेक्टर को किसी कार्यक्रम में जाना था इसलिए उन्होंने परेशानी सुनकर सिविल सर्जन को स्थिति सुधारने के निर्देश दिए। इधर मौके पर मौजूद जिला पंचायत सीईओ संतोष वर्मा ने गंभीरता दिखाते हुए तत्काल दवाई वितरण की व्यवस्था ठीक करवाई।

देखो आदित्य तुम्हारी पसंद अच्छी है
‘मेरे ज्यादा कुछ समझ नहीं आ रहा है आदित्य तुम देखो, तुम्हारी पसंद अच्छी है।’ गोद लिए मेल सर्जिकल वार्ड का जायजा लेते हुए कलेक्टर श्रीकांत बनोठ ने वार्ड में लगने वाली ग्रेनाईट देखी। डिसीजन नहीं ले पाने के कारण साथ में आए एसपी आदित्य प्रताप सिंह की मदद ली। एसपी ने फर्श पर गहरे रंग तथा दीवार पर लाइट कलर की ग्रेनाईट लगाने का सुझाव दिया। उनके साथ जिला पंचायत सीईओ वर्मा, सिविल सर्जन डॉ. एमके बौरासी, आरएमओ डॉ. सजय जोशी, पीडब्ल्यूडी के कार्यपालन यंत्री अलसिंह भिड़े, बस इंजीनियर बीबी खरे आदि मौजूद थे।

जल्दी अच्छा काम करो, कंपनियों को समझाना है
वार्ड का काम देखते हुए कलेक्टर ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों से कहा कि वार्ड रिनोवेशन का काम जल्दी करो ताकि सीएसआर से जिला अस्पताल का काम करने वाली कंपनियां इसे देखें और समझें कि कैसा और किस क्वालिटी का काम करना है। दरअसल वार्ड में फर्श, दीवार और सिलिंग का काम होना है, जो शुरू हो चुका है।

ऐसे होना है काम
मेल सर्जिकल वार्ड को कलेक्टर ने गोद लिया काम शुरू हो चुका है। इसमें डिमेंटलिंग टाइल्स वर्क, खिड़कियों में मॉडयूल्ड ग्रेनाईट और दवाजों की फ्रेम्स, वार्ड में तीन एल्युमिनियम ट्रेक की तीन खिड़कियां, जिनमें मच्छर जाली लगा होगी, फाल्स सीलिंग, फर्श पर ग्रेनाईट लगाना, दीवार पर 1.2 मीटर तक ग्रेनाईट व इसके उपर 2.4 मीटर तक टाईल्स लगाने का काम होना है।

वार्ड में काम, बरामदे में मरीज
वार्ड निरीक्षण के दौरान कलेक्टर, एसपी जब बरामदे से गुजरे मरीजों के पलंग लगे हुए थे। दरअसल मेल सर्जिकल वार्ड में रिनोवेशन का काम जारी है, जिससे वहां भर्ती मरीजों को बरामदे में शिफ्ट किया हुआ है। इससे मरीजों को बड़ी परेशानी हो रही है। कलेक्टर ने मरीजों को कहीं ओर शिफ्ट करने के लिए कहा तो वार्ड की कमी नजर आई।

स्टोर खाली कर करेंगे इंतजाम
कलेक्टर के निर्देश पर सिविल सर्जन ने मरीजों को स्टोर में शिफ्ट करने की बात कही। डॉ. बौरासी का कहना था कि स्टोर को खाली करवाकर मरीजों को वहां शिफ्ट किया जा सकता है। इस पर कलेक्टर ने स्टोर का निरीक्षण किया। हालांकि स्टोर की जिस बिल्डिंग में मरीजों को शिफ्ट करने की योजना बनाई जा रही है उसे स्वास्थ्य विभाग भोपाल से आए इंजीनियर खस्ता घोषित कर इसे डिमेंटल करने का निर्देश दे चुके हैं।

atul porwal Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned