मप्र में आरएसएस पदाधिकारी के रिश्तेदार की हत्या

मध्यप्रदेश के धार जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र टांडा में आरएसएस के एक पदाधिकारी के रिश्तेदार की हत्या कर दी गई।

By: harinath dwivedi

Updated: 23 Apr 2020, 03:59 PM IST

धार (टांडा). मध्यप्रदेश के धार जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र टांडा में आरएसएस के एक पदाधिकारी के रिश्तेदार की हत्या कर दी गई। हत्या से पदाधिकारी को इतना सदमा लगा कि उन्हें भी हार्ट अटैक आ गया। जिससें उन्होंने भी मौके पर दम तोड़ दिया। पुलिस ने पूरे मामले की जांच के लिए अलग-अलग टीमें तैनात की हैं, लेकिन आरोपियों का अभी तक सुराग नहीं लग पाया है, पुलिस मामले की जांच करवा रही है।

जिले टांडा थाना क्षेत्र के ग्राम खरवाली में मामूली विवाद में ये हत्या हुई। वारदात को आदिवासी बदमाशों ने अपने पारंपरिक हथियार तीर कमान से अंजाम दिया। तीर लगने से एक युवक की इलाज के लिए ले जाते वक्त रास्ते में मौत हो गई। जिस वक्त युवक की मौत हुई उस दौरान युवक के काका भी साथ थे। हॉस्पिटल पहुंचते-पहुंचते काका की भी हृदयघात से मौत हो गई। काका राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ कुक्षी विभाग के जिला कार्यवाहक थे। घटना मंगलवार शाम की है। दोनों का बुधवार को गांव में अंतिम संस्कार किया गया। वहीं तीन चलाने के मामले में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की है।

मप्र में आरएसएस पदाधिकारी के रिश्तेदार की हत्या

घटना मंगलवार शाम करीब 7.30 बजे की है। समीपस्थ ग्राम खरवाली में ग्राम गातला के तीन युवक रक सिंह पिता जहर सिंह, सुकराम पिता कल्लु, डमरू पिता करमसिंह एक बाइक पर कुर्राटी मारते हुए फरियादी चैनसिंह के घर के सामने रोड पर आए। घर के बाहर खड़े सुरेश पिता निहालसिंह निवासी मुकुंदपुरा ने बोला कि तुम कुर्राटी क्यों मार रहे हो, तो तीनों ने सुरेश के साथ झगड़ा व मारपीट शुरू कर दी। यह देख फरियादी चैनसिंह व उसका भतीजा नवीन आया। समझाया तो ये तीनों चले गए। सुरेश अपने घर मुकुंदपुरा चला गया। कुछ देर बाद शाम करीब 7.30 बजे वे तीनो बाइक से फिर आए व घर के सामने कुर्राटी मारते गाली-गलौज करने लगे। चैनसिंह ने फिर समझाने का प्रयास किया।


इस पर बदमाश वहां से जाने लगे। इस दौरान चैन सिंह का भतीजा नवीन पिता सुरसिंह व राकेश पिता मदन घर से थोड़ी आगे एक पेड़ के पास खड़े थे। तीनों बदमाशों ने जाते वक्त नवीन और राकेश से कहा कि तुम हमे समझाने वाले कौन होते हो, इतना कहते हुए रक सिंह ने बाइक से पीछे रखे तीर-कमान निकाला और नवीन की तरफ तीर छोड़ दिया। यह तीर नवीन की पीठ पर बायीं तरफ लगा। नवीन और राकेश के शोरमचाने पर तीनों भाग गए। इसके बाद चैन सिंह और आसपास के लोग इक_ा हुए। इसके बाद लोगों ने ही तीर निकाल दिया और इलाज के लिए टांडा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया।

हॉस्पिटल पहुंचने वाले थी कि आया अटैक

गाड़ी नवीन के काका राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कुक्षी विभाग के जिला कार्यवाहक तेर सिंह सोलंकी चला रहे थे। टांडा हॉस्पिटल के सामने अचानक तेरसिंह को हॉर्टअटैक आया। इससे गाड़ी हॉस्पिटल के सामने स्थित मंदिर के पास रखी एक गुमटी में जाकर टकरा गई। टक्कर की आवाज सुनकर थाने से जवान और आसपास के लोग दौड़े और तेरसिंह को बाहर निकालकर हॉस्पिटल ले जाया गया। यहां मौजूद डॉ. हरेंद्र प्रतापसिंह तोमर ने जिला कार्यवाहक तेरसिंह को मृत घोषित कर दिया। इधर घायल युवक को सरदारपुर रेफर किया गया। जहां से गंभीर हालत होने से धार जाने के लिए कहा गया। गंभीर अवस्था में धार लाते वक्त नवीन ने भी दम तोड़ दिया। जिला कार्यवाहक तेरसिंह के भाई और नवीन के बड़े पापा फरियादी चैनसिंह की सूचना पर पुलिस ने नामजद रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों कि तलाश शुरू कर दी है।

अंतिम संस्कार खरवाली में हुआ
घटना के बाद खरवाली में मातम छा गया। नवीन का पोस्टमार्टम टांडा स्वास्थ्य केंद्र पर किया गया। इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। बुधवार को दोपहर 12 बजे गांव खरवाली में काका-भतीजे का अंतिम संस्कार किया गया। वायरस के चलते परिजनों ने ही अंतिम संस्कार किया। स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ता भी इस दौरान मौजूद थे।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned