खेत पर देरी से पहुंचा तो दोस्त ने दराते से हत्या कर नदी में फेंका शव

खेत पर देरी से पहुंचा तो दोस्त ने दराते से हत्या कर नदी में फेंका शव

Amit S. Mandloi | Publish: Dec, 08 2018 11:55:46 PM (IST) Dhar, Dhar, Madhya Pradesh, India

दो माह पूर्व हुई हत्या का खुलासा : बार-बार बयान बदलने पर मृतक का दोस्त आया शंका के घेरे में, कड़ी पूछताछ में कबूला गुनाह

धार . 2 माह पूर्व लाबरिया गांव में एक हत्या का पर्दाफाश क्राइम ब्रांच ने कर दिया है। इस हत्याकांड में मृतक का दोस्त ही हत्यारा निकला। आरोपी से जब क्राइम ब्रांच ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने बताया कि लेट आने के कारण मैंने हत्या कर दी।
शनिवार को दोपहर पौने दो बजे स्थानीय कंट्रोल रूम में एसपी बीरेंद्रसिंह ने प्रेसवार्ता ली। एसपी ने बताया कि राजोद थाने क्षेत्र अंतर्गत ग्राम लाबरिया के रहने वाले दिनेश (35) पिता रूगनाथ मारू का शव 2 अक्टूबर को स्थानीय नदी बरमंडली से निकाल गया था। इस पर पुलिस थाना राजोद में मर्ग कायम कर जांच में लिया था। पोस्टमॉर्टम में मृतक के सीने पर घाव के निशान मिले थे। इस पर राजोद पुलिस ने अज्ञात बदमाश के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। मौत के संबंध में सही जानकारी के लिए समस्त जांचे कराई गई। रिपोर्ट आने के उपरांत मामला हत्या का ही पाया गया। इस मामले पुलिस के साथ-साथ क्राइम ब्रांच को भी हत्या गुत्थी सुलझाने के लिए लगाया गया था। पुलिस अधीक्षक बीरेंद्र कुमार सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा एवं रूपेश द्विवेदी के निर्देशन में एसडीओपी सरदारपुर एनएस कंसौटिया, थाना प्रभारी राजोद मीना कर्णावत एवं धार क्राइम ब्रांच/सायबर प्रभारी संतोष पांडेय को जांच में लगाया था।
ऐसे सुलझी
मौत गुत्थी
क्राइम ब्रांच एवं थाना राजोद पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए घटना के नजदीक उपस्थित लोगों से पूछताछ की। इस दौरान कृष्णा पिता रतनलाल राठौर (36) निवासी गठियारा मोहल्ला लाबरिया पुलिस को बार-बार अपने बयान बदलकर घुमाने की कोशिश कर रहा था। शंका होने से टीम उससे कड़ी पूछताछ की तो कृष्णा ने दिनेश की हत्या करने जुल्म कबूल किया।

हाथापाई के बाद दराते से वारकर मार डाला
कृष्णा ने पुलिस को बताया कि उसके पास दो बीघा का खेत धुलिया खेड़ी रोड पर स्थित है। स्टॉप डेम होने से पानी खेत के किनारे रुका रहता है। आसपास खेत वाले इसी नदी से सिंचाई करते हैं। दिनेश पिता रूगनाथ का खेत मेरे खेत से लगा हुआ है। डीपी दिनेश के खेत में लगी जो नदी की दूसरी ओर है। दिनेश से मेरी अच्छी दोस्ती थी। उसे तैरना आता था व मुझे तैरना नहीं आता था। खेत पर मोटर से सिंचाई के लिए डीपी से केबल वायर कनेक्शन करने के लिए दिनेश को शाम 4 बजे मेरे खेत पर बुलाया था। परंतु साढ़े चार बजे तक नहीं आया। काफी देर बाद दिनेश आया तथा कपड़े निकाले तथा नदी में जाने के लिए केबल अपनी कमर में बांध ली। इसी बीच दिनेश मुझे लेट करने लगा, तो मैंने गुस्से में बोला कि तूने पहले ही मुझे लेट कर दिया, जल्दी कर तो दिनेश मुझसे गाली-गलौज करने लगा व हाथापाई हो गई। तो झाड़ी काटने के लिए मेरे पास एक दराता था।मैंने उसके सीने पर वार कर दिया। वह नीचे गिर गया तो उसे नदी में फेंक दिया।
शंका न हो इसीलिए चिल्लाते हुए लोगों को बुला लिया। भीड जमा होने पर मैं वहां से डर के भाग गया था।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned