पंजीयन से आवक का अंदाजा होने के बाद भी नहीं जागे जिम्मेदार

परिसर में ही लाखों क्विंटल गेहूं डंप कर दिया

By: shyam awasthi

Published: 14 Jun 2020, 10:56 PM IST

राजेंद्र धोका
बदनावर. ब्लाक के 25 खरीद केंद्रों पर अधिकांश जगह परिवहन के अभाव में लगभग 2 लाख क्विंटल गेहूं सड़ांध एवं बदबू मारने लगा है । अनेक स्थानों पर तो अंकुरित भी हो गया है। खुले में पड़ा गेहूं अब तक लगभग 3 तीन इंच बारिश झेल चुका है।
पंजीयन के बावजूद अंदाजा नही लगा सके : खरीद चालू रहने के दौरान ही अधिगृहित गोदाम फुल हो गए थे वहीं रैक पाइंट भी नहीं लग रहे थे । पूर्व पंजीयन के आधार पर बंपर गेहूं की तुलाई भी होने की जानकारी के बावजूद खरीदे गेहूं का परिवहन करने के बजाय केंद्रों के परिसर में डंप किया गया।
देर से जागे और मंडी शेड पर केब का काम शुरू किया : पहली बारिश में ही गेहूं चपेट में आने के बाद मंडी के शेड को अधिगृहित किया जाकर केब बनाने का काम शुरू किया । तब तक तो गेहूं ने तीन बार बारिश झेल ली। परिवहन रेंगता रहा, लेकिन जवाबदारों के निष्क्रिय रहने से शासन एवं आम जनता की गाढ़ी कमाई का गेहूं खराब होने के कगार तक पहुंच गया। गुरूवार को सीसीबी एमडी काछीबड़ोदा पहुंचे, परिवहन के लिए रोड सही करने के निर्देश पर रोड सही भी कर दिया। शुक्रवार को हम्माल एवं केंद्र के लोग वाहन का इंतजार करते रहे लेकिन परिवहन शुरू नहीं हुआ और दोपहर बाद फिर तेज बारिश में गेहूं तर हो गया। अगले दिन जिला विपणन अधिकारी अंकित तिवारी एवं फूड आफिसर आरसी मीणा ने भी भ्रमण कर हालात जाने। शनिवार को एडीएम शैलेंद्रसिंह सोलंकी ने भी खरीदी केंद्रों का दौरा कर हालात जाने।
किसान भी परेशान
परिवहन के अभाव का दंड किसानों को भी भुगतना पड़ रहा है, जब तक खरीदे गेहूं का परिवहन नहीं होगा किसानों के खाते में राशि का समायोजन भी नहीं हो सकेगा।

shyam awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned