प्याज तौलने वाले कर्मचारी ले रहे पैसा और बीच में लगा रहे किसानों की गाडिय़ां


प्याज तौलने वाले कर्मचारी ले रहे पैसा और बीच में लगा रहे किसानों की गाडिय़ां
Dhar

Amit Mandloi | Publish: Jun, 16 2017 11:28:00 PM (IST) Dhar

प्याज तुलाई के दौरान किसानों में विवाद, बंद करना पड़ा तौलकांटा, एसडीएम सहित पुलिस बल किया तैनात, बार-बार तुलाई बंद होने से किसान थे नाराज

धार प्याज की तुलाई के दौरान किसानों और मंडी अधिकारियों का आपस में विवाद हो गया। इसके चलते तौलकांटा बंद कर दिया गया। विवाद की सूचना मिलते ही प्रशासन ने पुलिस बल के साथ एसडीएम को भी तैनात किया। मामला शांत होने के दो घंटे बाद फिर से तौलकांटा शुरू हो सका।
शुक्रवार को दोपहर 12 बजे किसानों के बीच गाड़ी तुलाई को लेकर विवाद की स्थिति बन गई। किसानों का आरोप था कि वे पिछले तीन दिनों से लाइन में लगे हुए है और मंडी कर्मचारी पैसा लेकर बीच में दूसरी गाडिय़ां लगा देते हैं। किसानों ने इसे लेकर अपना आक्रोश व्यक्त किया तो मंडी कर्मचारी और किसान आमने-सामने हो गए। इसके चलते प्याज तुलाई का काम बंद हो गया। लगभग एक घंटे तक चले विवाद में जैसे ही सूचना प्रशासन को लगी तो एडीएम ने तत्काल एसडीएम और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को पुलिस बल के साथ मंडी प्रांगण में भेजा। प्रशासन ने किसानों को बातचीत कर मामले को शांत किया। उसके बाद फिर से तुलाई का काम चालू हुआ। किसानों की मांग थी कि मंडी के एक ही तौलकांटा पर तुलाई हो रही है जबकि अन्य बंद है। प्रशासन ने दूसरा तौलकांटा भी चालू करने की बात कहीं।

तीन दिन से नंबर के इंतजार में सैकड़ों किसान
किसान 13 जून से अपनी प्याज से भरी गाड़ी लेकर मंडी प्रांगण में अपनी बारी का इंतजार कर रहे है। 16 को तीन दिन बाद उनका नंबर आया। मंडी प्रांगण में रोजाना 300 से 400 गाडिय़ां पहुंच रही है। प्याज की आवक अच्छी होने से रोजाना हजारों क्विंटल प्याज खरीदा जा रहा है।

गाडिय़ों को दूसरी मंडी भेजा
मंडी में प्याज की अधिक गाडिय़ां पहुंचने से जगह नहीं है। साथ ही प्याज की खरीदी बार-बार इसलिए रुक जाती है कि सभी शेड भर चुके हैं। प्याज रखने की जगह तक नहीं है। इसके चलते प्रशासन ने 15 जून को आने वाली गाडिय़ों को आरटीओ रोड स्थित मंडी आमखेड़ा भेजना शुरू कर दिया है। 13 और 14 जून की गाडिय़ों की तुलाई की जा रही है।

माल नहीं उठ रहा
पिछले दस दिनों से प्याज की खरीदकर शासन के आदेश पर माल होशंगाबाद भेजा जा रहा है। धार मंडी में प्याज रखने की जगह नहीं है और होशंगाबाद भेजा जाने वाला माल भी ठीक तरह से नहीं उठ रहा है। सिर्फ चार गाड़ी ही जा रही है। इसके चलते बार-बार तुलाई बंद हो जाती है।

तुलाई के लिए दूसरा तौलकांटा शुरू किया
तुलाई को लेकर किसानों और मंडी कर्मचारियों में विवाद हो गया था। एसडीएम व पुलिस को भेजा था। उन्हें किसानों ने एक तौलकांटे की शिकायत की। इसके बाद अब दूसरा तौलकांटा भी शुरू किया जा रहा है। अलग-अलग गांव के किसानों का दिन तय कर सूचना देंगे।

डी नागेंद्र, एडीएम धार
क्या कहते है किसान

- ग्राम बगड़ी निवासी जितेंद्र वर्मा ने कहा कि 13 जून से गाड़ी लेकर मंडी आए है लेकिन अभी तक नंबर नहीं आया है। मंडी प्रशासन का रवैया भी खराब है। कई किसान बीच में भी अपनी गाड़ी लगा देते है। 15 को गाड़ी लेकर आने वाले किसानों को आमखेड़ा मंडी में भेजा जा रहा है।
- ग्राम रायुपरिया के नरेंद्र राठौर ने बताया कि 13 से अपनी बारी का इंतजार कर रहे है। तीन दिन से मंडी में पड़े हुए है लेकिन कोई व्यवस्था तक नहीं है। बार-बार मंडी में काम बंद हो जाता है।

- ग्राम सकनली के रामचंद्र दसाया ने बताया कि मंडी में किसानों के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। दिनभर धूप में तपते है और रात को खुले में ही सोना पड़ रहा है। मच्छरों ने काट-काट कर हाथ-पैर सुजा दिए।
- ग्राम दतवा के मुकुट वर्मा ने कहा कि 14 जून को प्याज लेकर आए थे। व्यवस्थाओं के अभाव में रात में घर चले जाते है। लेकिन मंडी में किसानों ने ही खुद पूरी व्यवस्था संभाल रखी है। मंडी के सभी जिम्मेदार गायब है। बार-बार मंडी में विवाद की स्थिति बनती है और तुलाई बंद हो जाती है। माल रखने की व्यवस्था नहीं होने से भी मंडी प्रशासन काम रोक देता है।


MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned