लूट और डकैती करने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने धरदबोचा

लूट और डकैती करने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने धरदबोचा
लूट और डकैती करने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने धरदबोचा

sarvagya purohit | Updated: 09 Oct 2019, 11:12:10 AM (IST) Dhar, Dhar, Madhya Pradesh, India


लूट और डकैती करने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने धरदबोचा


- क्राइम ब्रांच और राजगढ़ पुलिस को मिली बड़ी सफलता
- दोनों बदमाशों पर ३० और २० हजार रुपए का ईनाम किया था घोषित
धार.
लूट की वारदातों को अंजाम देने की नियत से घूल रहे दो सशस्त्र ईनामी राशि के फरार बदमाशों को हथियार सहित पुलिस से धरधबोचा। बताया जा रहा है कि तिरला थाना क्षेत्र में वर्ष २०१३ और २०१४ की घर में धुसकर डकैती करने व हाईवे में रॉपी लगाकर बस में लूट करने में आरोपी काफी दिनों से फरार थे। पुलिस ने दोनों बदमाशों को पकड़ लिया है।
मंगलवार को स्थानीय कंट्रोल रूम में एसपी आदित्यप्रताप सिंह और एडिशनल एसपी देवेंद्र पाटीदार ने एक प्रेसवार्ता ली। प्रेसवार्ता में पत्रकारों को बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि रोड पर कील लगाकर रागीरों के वाहनों को पंचर कर लूट व डकैती गिरोह के कई वर्षो से फरार ईनामी बदमाश बहादुर पिता स्वर्गीय बिलामसिंह अमलीयार निवासी खरवारी और दिनेश पिता भक्तिया भाभर निवासी जोडवा राजगढ़ कस्में सशस्त्र होकर अपराध करने की नियत से धूम रहे है। पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम को सूचना मिलते ही घेराबंदी की और दोनों आरोपियों को धरदबोचा। आरोपी दिनेश व बहादुर की गिरफ्तारी पर वरिष्ठ अधिकारियों ने क्रमश ३० हजार और २० हजार रुपए का ईनाम घोषित किया था।
बस को लूटा था
एसपी सिंह ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया जाकर एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री के नेतृत्व में क्राईम ब्रांच प्रभारी संतोष पांडेय एवं थाना प्रभारी राजगढ़ लोकेशसिंह भदौरिया को कार्रवाई के लिए निर्देश दिए। एसपी सिंह ने बताया कि राजगढ़ के चौकड़ी के पास दिनेश और बहादुर दोनों आरोपी लूट करने की नियत से योजना बना रहा था। वहीं पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी करके दोनों को पकड़ा। इनके पास से एक लोहे की धारदार तलवार और एक कदेशी कट्टा १२ बार मय कारतूस मिला है। पुलिस ने जब इनसे पूछताछ की तो इन्होनें ७ दिसंबर २०१३ को फरियादी पुष्पराज पिता राजेंद्र सिंह निवासी छत्रीपुरा फारेस्ट नाका के यहां घर में धुसकर लूटपाट करने और परिवार के जागने पर उनके साथ मारपीट करने की बात को कबूल किया। इसके साथ ही पुष्पराज के यहां से सोना-चांदी के आभूषण, नकदी और मोबाइल चुराना भी कबूल किया है। २६ जनवरी के २०१४ को राजस्थान इंदौर (डुंगरपुर) की बस को चिकलिया फाटे के पास रॉपी लगाकर लूट की वारदात को अंजाम देने की बात कबूल की है। इनके ९ साथी अभी गिरफ्तार हो गए है। इसके अलावा एक आरोपी अभी फरार चल रहा है। उसे भी पुलिस जल्द ही पकड़ लेगी।
फोरलेन पर लूटने वालों को जल्द पकड़ेंगे
एसपी सिंह और एडिशनल एसपी ने बताया कि दिनेश और बहादुर को कोर्ट में पेशकर रिमांड की पेशकश की जाएगी। रिमांड के दौरान अन्य मामलों में पूछताछ की जाएगी। फोरलेन पर रॉपी गाढ़कर लूटने वाले गिरोह पर हमारी पूरी तरह नजर है। जल्द ही हम इन रॉपी गाढ़कर लूटने वाले गिरोह को पकड़ लेगे। हमारी जिले की पुलिस व टीम काम कर रही है। इस मामले में हम जल्द ही खुलासा करेंगे। इन गिरोह ट्रेस करने में हम लगभग पहुंच चुके है।
इनका भी रहा सहयोग
दोनों ईनामी आरोपी को पकडऩे के लिए
क्राइम ब्रांच प्रभारी संतोष पांडेय, उनि बलजीतसिंह बिसेन, सउनि धीरजसिंह राठौर, प्रआर रामसिंह गौर, आर गुलसिंह, राजेश, बलराम, रूपेश, राहुल, प्रशांत, अनिल, कामेश, नवीन, आकाश, कुंदन एवं थाना प्रभारी राजगढ़ लोकेशसिंह भदौरिया, अब्दुक जाकीर खान, प्रआर दिवाकर सिंह बैस की भूमिका रही।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned