राजेंद्र सूरी के डिफाल्टर गौतम, ठाकरे सहित कई की संपत्ति कुर्की के निर्देश

- वसूली का आंकड़ा एक करोड पार पहुंचा, विभाग का कहना गरीबों को जल्द मिलेगा पैसा

By: Amit S mandloi

Published: 20 Feb 2021, 08:21 PM IST

धार. बार-बार नोटिस के बाद भी राजेंद्रसूरी के डिफाल्टर पैसा नहीं जमा करा रहे है। करोडों-लाखों रुपए इन लोगों के द्वारा नहीं भरने पर गरीब खातेदार परेशान है। सहकारिता विभाग ने अब डिफाल्टरों की संपत्ति कुर्की के निर्देश दिए है। इनमें पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष कांग्रेस के मनोजसिंह गौतम सहित भाजपा नेता के रिश्तेदार प्रशांत ठाकरे का नाम भी शामिल है।

राजगढ़ की राजेंद्र सूरी संस्था द्वारा नियमों के खिलाफ लाखों-करोडों रुपए के लोन बांट दिए थे। बैंक में गरीबों ने रोज रुपए जमाकर अपने भविष्य के सपने संजोए थे, लेकिन बैंक द्वारा कई लोगों की एफडी पक जाने पर भी रुपए नहीं दिए थे। इसके बाद लोगों ने आंदोलन किए थे। आंदालन के समय भाजपा सरकार थी तो कोई असर नहीं ुहुआ। कांग्रेस सरकार आने पर संस्था के संचालक भाजपा नेता सुरेश तांतेड़, अन्य संचालक तथा मैनेजरों पर प्रकरण दर्ज हुआ था। इसके बाद लोगों को अपना पैसा मिलने की उम्मीद जागी थी। उधर सहकारिता विभाग भी लगातार पैसा रिकवरी के प्रयास कर रहा है। विभाग ने बड़े डिफाल्टरों को नोटिस देकर कई बार पैसा जमा कराने का मौका दिया , लेकिन ये लोग बड़े नेता होने से विभाग की सुन नहीं रहे है। विभाग ने अब कई लोगों की संपत्ति कुर्की के निर्देश दिए है। उपायुक्त परमानंद गोडरिया ने बताया कि अभी तक एक करोड से अधिक हो चुकी है। गोडरिया ने बताया कि विभाग का फोकस रिकवरी पर है जिससे गरीबों को उनका पैसा वापस दिलाया जाए।

अकेले गौतम से लेना है दो करोड से अधिक

उपायुक्त गोडरिया ने बताया कि कई बडे बकायदार पैसा जमा नहीं करा रहे है। जिनकी संपत्ति कुर्की के निर्देश दिए है। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष कांग्रेस के मनोजसिंह गौतम से दो करोड, भाजपा नेता ठाकरे के रिश्तेदार प्रशांत ठाकरे से 10 लाख, आनंद जैन 29 लाख 98, भरत जायसवाल 17 लाख 18 हजार, अंगूरबाला नरेंद्र जैन 23 लाख, नीलेश जैन 16 लाख, बोंदर चौधरी 12 लाख, शंकर सिसौदिया 70 लाख प्रदीप राठौर 11 लाख, विकास बाफना 14 लाख रुपए लेना है। गोडरिया के मुताबिक इन लोगों की संपत्ति कुर्की के निर्देश जारी किए है।

Amit S mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned