भगौड़े तांतेड की कृषि भूमि कुर्क

- न्यायालय के आदेश पर कलेक्टर ने दिए आदेश, खाताधारकों को पैसा मिलने की जागी उम्मीद, पुलिस की पकड से बाहर है
91 करोड का घपला है

By: Amit S mandloi

Published: 27 Feb 2021, 08:48 PM IST

धार.
श्री राजेंद्र सूरी बैंक में करोडों रुपए का घोटाला करने वाले संचालक सुरेश तांतेड की कृषि भूमि कुर्क कर ली गई है। ये कुर्की न्यायालय के आदेश पर कलेक्टर द्वारा कराई गई है। अब पीडितों को पैसा मिलने की उम्मीद भी जाग रही है।

राजेंद्र सुरी बैंक में जमा रुपयों के लिए परेशान खाताधारकों को जल्द ही कलेक्टर आलोकसिंह द्वारा कार्रवाई करने से उनका जमा रुपया मिलने की उम्मीद बन गई है। बैंक में करोडों रुपए की गड़बड़ी के मामले में धार कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने न्यायालय के आदेश पर सख्त कार्रवाई करते हुए राजेंद्र सुरी बैंक के अध्यक्ष सुरेश तांतेड की संपत्ति कुर्की करने के आदेश दे दिए हैं । आदेश पत्र सरदारपुर तहसीलदार और एसडीएम को भेजकर जल्द ही संपत्ति सील कर कुर्की करने की बात कही गई है। कलेक्टर के निर्देशन में अधिकारियों द्वारा कुर्की की प्रक्रिया की जा रही है। तांतेड की कृषि भूमि कुर्क कर ली गई है। ये कृषि भूमि अब वह किसी को बेच नहीं पाएंगे।

उधर पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है

पुलिस ने एक्का-दुक्का लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। संचालक तांतेड ने अपनी राजनीति चमकाने के लिए भाजपा-कांग्रेस के बड़े नेताओं को करोडों का लोन बांट दिया था। तांतेड ने कांग्रेस जिलाध्यक्ष बालमुकुंदसिंह गौतम के भाईयों ओमप्रकाश-मनोज गौतम को भी दो करोड का लोन दे दिया। दोनों सहित अन्य की संपत्ति कुर्की के लिए विभाग पत्र भी जारी कर चुका है। सालों बीतने के बाद भाजपा नेता और संस्था का संचालक सुरेश तांतेड और मैनेजर पुलिस की पकड़ से बाहर है। पुलिस इन्हें पकडऩे के प्रयास ही नहीं कर रही है। बैंक में 91 करोड रुपए का घपला है।


इनका कहना

कलेक्टर द्वारा सरदारपुर तहसीलदार की टीम गठित की गई है जल्द ही संस्था के अध्यक्ष की संपत्ति की कुर्की की जाएगी।
बीएस कनेश एसडीएम सरदारपुर

हमें कलेक्टर का आदेश पत्र मिला है जिसमें राजेंद्र सुरी बैंक के अध्यक्ष सुरेश तातेड की संपत्ति कुर्क करने के निर्देश मिले हैं कृषि भूमि कुर्क कर ली गई है।
पीएन परमार तहसीलदार सरदारपुर।

Amit S mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned