बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के साथ हुआ रावण दहन

बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के साथ हुआ रावण दहन
बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के साथ हुआ रावण दहन

sarvagya purohit | Updated: 09 Oct 2019, 11:05:21 AM (IST) Dhar, Dhar, Madhya Pradesh, India


बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के साथ हुआ रावण दहन


- दशहरा और किला मैदान में हुआ रावण का दहन
धार
दुनिया चले न श्रीराम के बिना रामजी चले ने हनुमान के बिन...,रामजी निकली सवारी..., रामजी की लीला है न्यारी...,जय-जय सियाराम...। कुछ इसी तरह के भजनों के साथ ही वानर सेना रावण का वध करने पहुंची और साथ में भगवान राम भी सेना के साथ थे। भगवान राम ने रावण का वध किया।
असत्य पर सत्य की जीत और अहंकार के अंत का पर्व विजयादशमी मंगलवार को मनाई गई। शहर के दो स्थान दशहरा मैदान और नौगांव किला मैदान पर रावण के पुतले का दहन किया गया। रावण के पुतला दहन के पूर्व शानदार अतिशबाजी खास आकर्षण का केंद्र रही। दशहरा मैदान में करीब फीट का और नौगांव किला मैदान पर फीट का रावण दहन किया गया। इसके साथ यहां अतिशबाजी के साथ ही शोभायात्रा भी निकाली गई। इसके अलावा नगर पालिका द्वारा दशहरे मैदान पर रावण के पुतले का दहन किया गया।
मुंह फाड़कर गर्जना करेगा
सार्वजनिक दशहरा उत्सव समिति नौगांव धार द्वारा इस वर्ष ५१ फीट रावण का दहन किया गया। किला मैदान में इस बार रावण घुमता हुआ और मुंह फाड़कर गर्जना करता हुआ बनाया गया था। जो कि लोगों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ था। राम, लक्ष्मण, हनुमान की शोभा यात्रा संपूर्ण नगर में भ्रमण करती हुई किला मैदान पहुंची। शाम को पुतले का दहन किया गया। दहन के पूर्व आतिशबाजी परंपरागत अनुसार राऊ द्वारा की गई।
अतिशबाजी रहेगी खास
नगर पालिका परिषद् द्वारा हर साल की तरह इस साल भी दशहरा मैदान पर रावण दहन किया गया। रावण दहन के पूर्व आतिशबाजी खास आकर्षण थी। शाम को साढ़ छह बजे दशहरा मैदान पर रावण के पुतले का दहन किया गया ा। दशहरा मैदान में कार्यक्रम के पूर्व ही लोगों का आना शुरू हो गया था। यहां पर शाम तक काफी संख्या में लोगों की भीड़ देखने को मिली थी। यहां पर
झलकियां
-पहले दशहरा मैदान में रावण दहन होने के बाद वहां के लोग किला मैदान पर पहुंचे।
- दशहरा मैदान और किला मैदान में काफी संख्या में लोगों की भीड़ देखने को मिली।
- दो ही स्थानों पर पुलिस के कड़ा सुरक्षा इंतजाम किए गए थे।
- बच्चों में रावण दहन को लेकर काफी उत्साह नजर आ रहा था।
- फेरी वालों की दोनों स्थानों खाघ सामग्री की अच्छी खासी बिक्री भी हुई।
- किला मैदान जाने वाले वाहन मोहन टॉकिज स्थित भोज कॉम्प्लेक्स और लालबाग में पार्क कराए गए थे।
- शहर के कुछ लोगों ने वाहनों को इंदौर-अहमदाबाद में पार्क कर दिया था जिसके कारण इंदौर से धार और धार से इंदौर जाने वाली बसों को निकलने में काफी समस्या का सामना करना पड़ा।
- बड़े वाहनों का प्रवेश मोहन टॉकिज से बंद कर दिया गया था।
- किला मैदान में भीड के चलते व्यवस्था चरमरा गई थी जिसके चलते जैसे-तैसे लोग मैदान में पहुंच रहे थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned