कहीं तेज तो कहीं हल्की बूंदाबांदी ने घोली ठंडक

किसान चिंतित- खेतों में तैयार फसल खराब होने की आशंका, आंधी चलने से पेड़ गिरे

धार.जिले में मौसम ने फिर करवट बदली और बारिश का सिलसिला शुरू हो गया। क्षेत्र में कुछ जगह तेज बारिश तो कही बूंदाबांदी बारिश देखने को मिली। एकाएक परिवर्तन होने से मौसम में ठंडक घुल गई। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत में हवाओं के साथ नमी होने के चलते मौसम बदला है, जिसके चलते बारिश हुई है। दोपहर को बादल छाए और हल्की बूंदाबांदी शुरू हो गई। इससे मौसम में ठंडक घुल गई। मौसम विभाग के अनुसार हवा में नमी होने के चलते बारिश हुई है। कही तेज तो कही हल्की बारिश हुई है।
बुधवार को दोपहर में तेज हवाओं के साथ बादल छाए और बूंदाबांदी शुरू हो गई। हालांकि बूंदाबांदी सिर्फ पांच मिनट हुई और इससे मौसम में ठंडक घुल गई। शहर का अधिकतम तापमान ३६.९ और अधिकतम १६.० दर्ज किया गया।
नागदा. बुधवार दोपहर अचानक चली आंधी से मौसम ठंडा हो गया। वहीं आसपास के ग्रामों में तेज बारिश भी हुई। अचानक बदले मौसम के रूख से अपने कृषि क्षेत्र में गेहूं व चने की फसलों की कटाई कर रहे कृषकों के लिए चिंता बढ़ी। कई जगह कृषकों द्वारा कटाई कर लाई गई गेहूं की फसलें खुले में पड़ी रहने से कृषकों को बड़ी मशक्कत करना पड़ी। ज्ञात हो कि गेहूं व चने की फसल की कटाई को लेकर जोर-शोर से खेतों में कार्य चल रहा है। वहीं अचानक बदले मौसम ने किसानों के लिए चिंता की लकीरें पैदा कर दी।
बदनावर.बादलों की तेज गढग़ढ़ाहट एवं बिजली की गर्जना के साथ बुधवार दोपहर 2.30 तेज बारिश शुरू हो गई। लगभग 15 मिनट हुई तेज बारिश के दौरान रोड से पानी बह निकला। तेज हवाएं भी चल रही थी। अचानक हुई बारिश के कारण खेतों में खड़े एवं कटाई के बाद पड़े गेहूं के ढेर गीले हो गए, किसानों ताबड़ तोड़ ढक़ने के जतन किए, लेकिन उपज गिली हो गई। खेतों से उखाड़ी लहसून के ढेर भी गीले हो जाने से गेहूं के डिस्कलर होने एवं लहसून खराब होने की संभावना जताई जा रही है। ग्राम काछीबड़ोदा सहित अनेक गांवों में बारिश होने एवं उपज में नुकसानी के समाचार है।
राजगढ़.नगर में बुधवार को दोपहर 2.30 बजे के आसपास मौसम ने अचानक करवट ली। हवा के साथ ही बारिश शुरू हो गई। हालांकि कुछ किसानों के गेहूं की फसल कट रही है, जिससे उनके नुकसान हो सकता है।
अनारद.क्षेत्र सहित पूरे क्षेत्र में बीती रात को अचानक मौसम में बदलाव हुआ और बढ़ते तापमान के बीच ठंडक घुल गई। मंगलवार व बुधवार को दिनभर बादलों का डेरा रहा तो ठंडी हवाएं भी चली। रात में हुई बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी। रात में करीब 10 मिनट हुई बारिश किसानों की फसलों पर आफत बनकर बरसी। जिले मेंं मौसम बदला तो किसान ओलावृष्टि की आशंका के कारण अधिक चिंता में नजर आया। बुधवार को सुबह समय ठंडक भरा माहौल रहा। अनारद, तीसगांव, तलाई, बिल्लोदा, पचालना व मलगांव सहित आसपास के क्षेत्र मेेंं बारिश के कारण किसानों की चिंता बढ़ गई है। वर्तमान में रबी की फसल खेतों में आने वाली है और ऐसे में बदले मौसम ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। फसल कटाई का दौर शुरू होने वाला है और अब बदले मौसम ने फसल में नुकसान कर दिया है। फसल कटाई शुरू होने वाली थी कि मंगलवार रात में तेज बारिश से गेहंू गीला हो गया। वर्तमान में हाइवेस्टर से कटाई का काम चल रहा है, जो रुक गया है।
बड़ग्यार. ग्राम पंचायत बड़ग्यार में बुधवार दोपहर 3 बजे बादलों की गर्जना के साथ तेज हवा चली और हल्की बूंदा बांदी शुरू हुई। बारिश के चलते किसान खेतों में पक चुकी गेहूं की फसल को लेकर चिंतित दिखाई दिए। कुछ किसानों ने गेहूं की फसल के ढेर को तिरपाल से ढंका।

shyam awasthi Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned