धार में अब एसपी के स्टेनो हो गए संक्रमित

- एसपी कार्यालय में कोरोना की इंट्री के बाद 70 लोगों की हुई स्क्रीनिंग
- इधर देदला-रानीपुरा में किसान के परिवार के सदस्यों को किया क्वॉरंटीन, हॉस्पिटल स्टॉफ के भी करवाए सैंपल

By: Amit S mandloi

Published: 24 May 2020, 10:42 AM IST

धार.
जिले के शनिवार का दिन अच्छा रहा। शनिवार को जिले के ११ कोरोना पॉजिटिव मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौट गए। इसमें बच्चें भी शामिल है, जिन्होंने इलाज लेकर कम उम्र में कोरोना को मात दी। इधर शनिवार को दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव है। ये दोनों एसपी कार्यालय में पदस्थ है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इन्हें आइसोलेशन सेंटर में शिफ्ट किया गया। साथ ही एहतियातन एसपी कार्यालय स्टॉफ व डीआरपी लाइन के 70 लोगों की स्क्रीनिंग भी करवाई है। साथ ही दो लोगों को क्वॉरंटीन भी किया गया है। राहत की बात यह थी कि ये दोनों एक सप्ताह से क्वॉरंटीन थे।

जिले में कुल 111 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 103 मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके है। जबकि तीन मरीजों ने अपनी जान गंवाई है। 11 मरीजों के शनिवार को डिस्चार्ज होने के बाद सिर्फ ३ ही मरीज रह गए थे। जिनमें धार में सिर्फ एक मरीज टांडा का था। लेकिन दोपहर में एसपी कार्यालय में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि होने के बाद पांच मरीज हो गए है। जिनका इलाज किया जा रहा है।

ये लौटे खुशी-खुशी घर

कुक्षी के कुल 9 लोग ठीक होकर घर पहुंचे। आइसोलेशन सेंटर के बाहर सभी को फूलों का गुलदस्ता देकर विदा किया गया। सभी का मनोबल बढ़ाने के लिए तालियां भी बजाई। डिस्चार्ज कर जयदीप राजेंद्र(37), दिप्ती जयदीप(36), रूपल कपिल(6), देवांश जयदीप(8), धैर्य जयदीप(14), अर्हम नवीन(13), नसीम अली अहमद अली(25), बहादुर रामसिंह(24), पूजा नवीन(36) व नवीन हिम्मतलाल जैन(40) को घर भेज दिया गया। इनके अलावा दो लोगों को इंदौर से डिस्चार्ज किया गया। इनमें कुक्षी के मनीष सोनी व कपिल गुंजाल को डिस्चार्ज कर दिया गया। इस तरह कुल ११ लोग शनिवार को ठीक होकर घर लौटे है। इस दौरान जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ. संजय भंडारी, सिविल सर्जन डॉ. अनिल वर्मा, आयुष चिकित्सक व अन्य मौजूद थे।

सुनकर अच्छा नहीं लगा

नसीम अली कुक्षी के रहने वाले है। कुक्षी के जिस भट्टी मोहल्ले से लगातार कोरोना पॉजिटिव केस आए है। उसी मोहल्ले में एक मल्टी में कोरोना वायरस ने कहर बरपाया। नसीम उसी मल्टी में रहते है और तीसरे केस के रूप में नसीम संक्रमित हुए। नसीम ने बताया कि जब सुना कि मैं संक्रमित हुआ हू तो अच्छा नहीं लगा। मुझे धार लाया गया। यहां मेरा इलाज शुरू हुआ। यहां कि व्यवस्था और डॉक्टर्स के व्यवहार को देखकर संतुष्टि मिली। फिर किसी चीज की तकलीफ नहीं होने दी। दिन में तीन बार टैम्प्रेचर चैक होता था। दवाईयां और खाना बेहतर मिलता। डॉक्टर और नर्स हमेशा मनोबल बढ़ाते थे। इससे ठीक होने में काफी मदद मिली। नसीम ने कहा कि घर पर रहे और खुद को संक्रमण से सुरक्षित रखें।

एहसास नहीं होने दिया कि हम संक्रमित है

कुक्षी के एमजी रोड रहने वाले नवीन जैन(40), उनकी पत्नी पूजा व उनका 13 साल का बेटा अर्हम की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। नवीन और उनके परिवार का धार में इलाज चल रहा था। नवीन ने बताया कि यहां डॉक्टर्स का सपोर्ट काफी अच्छा है। किसी ने अहसास नहीं होने दिया कि हम लोग बीमार है। सभी लोग मनोबल बढ़ाते थे। बेटे अर्हम ने टीवी पर वायरस के बारे में देखा था। लेकिन उसकी सोच भी पॉजिटिव रही। शनिवार को पूरा परिवार ठीक होकर घर लौटा।

चिंता...एसपी ऑफिस पहुंचा कोरोना

पिछले दिनों ही धार शहर कोरोना संक्रमण से मुक्त हुआ था और कोरोना ने शनिवार को दोबारा एंट्री कर ली है। इस बार एसपी कार्यालय से कोरोना इंटर हुआ है। एसपी कार्यालय में एसपी स्टेनो संतोष अचाले(39) व सहायक अरूण भवानीलाल(27) की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि होने से हडक़ंप मच गया। सभी स्टॉफ और संपर्क में आने वाले 70 लोगों की स्क्रीनिंग करवाई गई है। साथ ही दो लोगों को क्वॉरंटीन भी किया गया है। फिलहाल दोनों के संक्रमित होने के सोर्स का पता लगाया जा रहा है। हैरानी की बात यह है कि दोनों की न तो ट्रैवल हिस्ट्री है और न ही किसी संक्रमित के संपर्क आए है। इसके बाद भी पॉजिटिव आने से चिंता है। फिलहाल दोनों ही एक सप्ताह से होम क्वॉरंटीन थी। रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि होने के बाद इन्हें बीओआई टे्रनिंग सेंटर में बने आइसोलेशन में शिफ्ट किया गया।


- जिले के 11 लोग स्वस्थ्य होकर लौटे है। इसमें से कुक्षी के 9 लोगों को धार से डिस्चार्ज किया गया है। जबकि दो लोगों को इंदौर से डिस्चार्ज किया है। धार डीआरपी लाइन के दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
डॉ. आरसी पनिका, सीएमएचओ, धार

धार में अब एसपी के स्टेनो हो गए संक्रमित

12 लोगों को किया क्वॉरंटीन

इधर देदला-रानीपुरा के किसान घनश्याम को कोरोना की पुष्टि होने के चलते शनिवार को भी परिवार के 28 सदस्यों को क्वॉरंटीन किया गया। रानीपुरा स्थित घर से इन लोगों को धरावरा छात्रावास में शिफ्ट किया गया है। इधर निजी चिकित्सालय में जो कर्मचारी किसान के संपर्क में आए है, उनकी पहचान की गई है। कुल 12 कर्मचारियों को क्वॉरंटीन किया गया है। साथ ही 6 के सैंपल भी करवाए गए है। कोरोना संक्रमित का इलाज होने के कारण पूरे हॉस्पिटल को भी सेनेटाइज करवाया गया है।

Amit S mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned