अतिक्रमण हटाने गया दल शिकायतकर्ता की कालर पकड़ी और पत्थर लेकर दौड़ी महिलाएं

-बाद में पुलिस बल की मौजूदगी में उखाड फैंके पतरे, पीडि़त पक्ष का आरोप, रसूखदार का छज्जा बचा रही पालिका

धार.
गुरुवार को नगर पालिका अमला न्यायालय के निर्णय के बाद हटवाड़ा में एक अतिक्रमण हटाने पहुंचा। जहां पर दल को आक्रोश का सामना करना पड़ा।पहले तो महिलाएं और पुुरुष जेसीबी के सामने खड़े हो गए। बाद में जब शिकायकर्ता नजर आया तो ये महिलाएं दौडी और इसकी कालर पकड़ी। बाद में महिलाओं ने पत्थर लेकर भी मारने की कोशिश की। पीडि़त पक्ष ने बताया कि शिकायतकर्ता के भवन का छज्जा नियम के खिलाफ बना हुआ है। इसके क्यों नहीं हटाया जा रहा है।
हटवाडा में चिंतामण गणेश के सामने एक दुकान है। दुकान के पास से सरकारी रास्ता जा रहा है। इस रास्ते को लेकर दो पक्षों में विवाद था। मामला न्यायालय गया था। जहां से नगर पालिका को साईड में दीवार बने पतरों को हटाने के आदेश हुए थे। आदेश के बाद गुरुवार पौने पांच बजे नगर पालिका अमला जेसीबी, ट्रैक्टर लेकर पहुंचा।
अमले का विरोधकरने के लिए गली में रहने वाला परिवार आ गया। पीडि़त पक्ष के पूरणनाथ बैरागी ने बताया कि ये सरकारी रास्ता है। बैरागी ने बताया कि भवन धर्मेंद्र राठौर का है,जिसने शिकायत की है। बैरागी ने बताया कि राठौर के भवन का छज्जा बाहर निकला है। जिसकी शिकायत की थी, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। हम गरीब लोग है तो हमारी कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

बाईक से आ रहा था शिकायतकर्ता, देखकर मारने के लिए लगाई महिला ने दौड़

अतिक्रमण हटाने गया दल शिकायतकर्ता की कालर पकड़ी और पत्थर लेकर दौड़ी महिलाएं
sandip songara IMAGE CREDIT: sandip songara

विवाद की स्थिति चल रही थी। इसी बीच शिकायत कर्ता मोटरसाइकिल से गुजर रहा था। इसे देखकर महिलाओं का गुस्सा सांतवें आसमान पर चला गया। महिला ने दौड़ लगाकर उसे मोटरसाइकिल से खींच लिया। उसकी कालर पकड़ ली। युवक कालर छुड़ाकर भागने लगा तो महिला पत्थर लेकर दौड़ी। वहीं इन लोगों ने सीएमओ विजय शर्मा के पीछे भी भागी। बाद में कोतवाली टीआई सुबोध श्रोत्रिय मौके पर पहुंचे और मामला संभाला। उधर सीएमओ विजय शर्मा ने बताया कि न्यायालय में मामला चल रहा था। वहां से खारिज हुआ और नगर पालिका को हटाने के आदेश जारी किए थे। आदेश के बाद ही अमला मौके पर अतिक्रमण हटाने पहुंचा था

Amit S mandloi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned