सख्ती का असर, लोगों ने लगाया मास्क, दुकानों के सामने गोले बने

दुकानदारों ने दुकानों के सामने बनाए गोल घेरे, बगैर मास्क नहीं दे रहे सामान
एसडीएम, एसडीओ पुलिस, सीएमओ व सीइओ लगातार कर रहे भ्रमण

By: shyam awasthi

Published: 03 Apr 2021, 11:29 PM IST

बदनावर. कोरोना संक्रमण से बचने के लिए प्रशासन की सख्ती के कारण अब लोगों में भी जागरूकता नजर आ रही है। अधिकांश लोग अब मास्क लगाए ही नजर आ रहे हंै। हालांकि इसके बावजूद मास्क नहीं लगाने एवं सामाजिक दूरी का पालन लोग नहीं कर रहे हंै। ऐसे में इन पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। कोरोना संक्रमितों के निवास पर बेरिकेडिंग की जा रही है, उन्हें इलाज की समयसीमा में बाहर नहीं निकलने की सलाह भी दी जा रही है। वहीं पड़ोसियों को भी आगाह किया जा रहा है कि यदि संक्रमित या उसके परिजन बाहर निकले तो सूचना अवश्य करें। ताकि आपका परिवार भी संक्रमित होने से बच सकेगा।

जहां ग्राहकी का दबाव वहां जरूरी गोल घेरे
शहर में ऐसी अनेक दुकानें है जहां ग्राहकों का काफी आना-जाना होता है। ऐसे में प्रत्येक वे दुकाने जहां ग्राहकों का अधिक आवागमन हो वहां भी गोल घेरे होने चाहिए। दुकानदार स्वयं मास्क लगाएं और ग्राहको को बगैर मास्क सामान ही न दे।

दुकानदारों में चिंता
गत वर्ष लाकडाउन का दंश भुगत चुके लोगों की आर्थिक दशा सुधरी ही नहीं थी, इस बार बेहतर सीजन का अनुमान था। लेकिन इस साल फिर वैसे ही हालात बनने से शादी-ब्याह से जुड़े दुकानदार, दिहाड़ी मजदूरी, नौकरी पेशा, होटल, छोटे दुकानदार अपने व्यापार की चिंता में नजर आ रहे हैं। उनका मानना है कि यदि इस बार भी हालात बिगड़े तो अनेक वर्ष पीछे चले जाएंगे। ऐसे में कोविड गाइडलाइन के पालन से ही कोरोना से से बचा जा सकता है। लोगों का कहना है कि जब तक संक्रमण की इस चेन को नहीं तोड़ा जाएगा तब तक व्यापारिक गतिविधियों को महफूज रखना काफी मुश्किल भरा हो सकता है।

shyam awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned