सीएम हेल्पलाइन का विस्तृत ब्योरा तक नहीं बता पाए अधिकारी

टीएल बैठक में नाराज नजर आए कलेक्टर
कहा मूल कार्य तो करना ही पडेगा...

By: Amit S mandloi

Published: 13 Sep 2021, 08:05 PM IST

धार .
मूल कार्य तो करना ही पडेगा। कुछ शिकायतें है, यह बात मुझे समझ नहीं आतीं हैए शिकायतों के डिटेल पता होना चाहि। पूरी जानकारी के साथ बैठक में आएं।

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के नाराजगी भरे ये अल्फाज उन अधिकारियों के प्रति थे जो कि सीएम हेल्पलाइन में उनके विभागों से संबंधित शिकायतों का विस्तृत ब्योरा पूछने पर भी नहीं बता पा रहे थे। कलेक्टर ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन में जिले का अच्छा प्रदर्शन मतलब लोगों में संतुष्टि का भाव है। आपके पास समस्या शिकायत लेकर आने वाले व्यक्ति की तरह आम बनकर सोचे, खुद ब खुद मदद का भाव आ जाएगा। इसी तरह समयावधि के पत्रों के जवाब उत्तरा पोर्टल पर दर्ज किए जाएं।मैं बैठक में संबंधित विषय पढ कर आता हूं आप सभी से अपेक्षा है कि अच्छे से होमवर्क कर ही बैठक में उपस्थित हो।

कलेक्टर ने डूडा के परियोजना अधिकारी को निर्देश दिए कि नगरीय निकायों में खाली प्लॉट में गंदगी की समस्या है। संबंधित नगर पालिका को निर्देश दिए जाए कि वे उसकी साफ. सफाई करवाना सुनिश्चित करें । मौसमी बीमारी एवं डेंगू को दृष्टिगत रखते हुए जिले में इस प्रकार की सभी आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। सीएम हेल्प लाईन के प्रकरणों के त्वरित निराकरण के लिए जिला एवं ब्लाक स्तर पर कॉल सेंटर बनाया जाए। जहां से रेंडमली एल वन अधिकारियों को शिकायतों के निराकरण के लिए कॉल जाते रहे। सभी जिला अधिकारी उत्तरा पोर्टल पर सप्ताह के लास्ट वर्किग डे तक शिकायत का रिस्पांस फीड कर दे। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण जवाब प्रस्तुत किया जाए। सीएम हेल्प लाइन के प्रकरण में किसी भी स्थिति में जिले की स्थिति शुरुआती पायदान पर रहे। इस पर सभी विभागीय अधिकारी फोकस बनाए रखे। जिन शिकायतों में निम्न गुणवत्ता का जवाब प्रस्तुत किया गया है। उन शिकयतों का पुन: गुणवत्तापूर्ण जवाब फीड किया जाए। शिकायतकर्ताए हितग्राही को सही रिस्पांस मिले यह सिस्टम इन लोगों के लिए ही बना है। उसके महत्व को समझे।

Amit S mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned