जान को जोखिम में डालकर ला रहे पीने के लिए पानी

गर्मी में सभी को अपनी कंठ की प्यास बुझाने के लिए पानी की अत्यधिक आवश्यकता होती है। वहीं नालछा विकासखंड के ग्राम सराय में पेयजल संकट की आहट सुनाई देने लगी है।

By: sarvagya purohit

Published: 16 May 2020, 11:15 AM IST

जान को जोखिम में डालकर ला रहे पीने के लिए पानी
गर्मी ने बढ़ाई प्यार पानी के लिए करना पड़ रही है मशक्कत
पत्रिका पड़ताल
धार.
गर्मी में सभी को अपनी कंठ की प्यास बुझाने के लिए पानी की अत्यधिक आवश्यकता होती है। वहीं नालछा विकासखंड के ग्राम सराय में पेयजल संकट की आहट सुनाई देने लगी है। नालछा की तुलना में ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल के पानी की अत्यधिक समस्या देखने को मिलती है। ग्रामीण पानी की तलाश में सुबह 3 बजे से गांव में एकमात्र कुआं में 7 फीट नीचे उतरकर पानी भरते है। इसमें जान का जोखिम भी बना रहता है। यहां पर सुबह से कई ग्रामीण आते है और बारी-बारी से पानी भरते है। इसके बाद कुएं से ऊपर पानी के मटके या फिर हंडे लेकर चढ़ते है।
पीएचई पाइप लाइन का पाइप भी फूटा
ग्राम में लगी पाइपलाइन कई समय से पाइप फूटने से अधिकारी दुरस्त नहीं कर पाए। ग्रामवासियों ने बताया कि ग्राम में पीएचई विभाग द्वारा पाइप लाइन डाली गई है वह भी गांव से बहुत दूर है। वहां तब पहुंचने के लिए भी चढ़ाई चढऩा पड़ती है। ग्रामवासी लक्ष्मण ने बताया कि गांव के एकमात्र जल स्त्रोत कुएं में तो सुबह 3 बजे से नंबर लगाना पड़ता है। नंबर नहीं आने पर पूरे दिन 2 किलोमीटर दूर पहाड़ी चढ़कर नगर से पानी लाना पड़ता है। पहाड़ी चढ़ते वक्त अचानक पैर रपट जाने से मेरा हाथ टूट गया। हाथ पर पट्टा चढ़ा है। पट्टा चढ़ा होने के बावजूद भी मेरे मवेशियों और मेरे परिवार के लिए आज भी पानी एक हाथ से लेकर आ रहा हूं।
अवलोकन किया
ग्रामीणों के फोन आने पर मेरे स्वयं जाकर स्थिति का अवलोकन किया। पंचायत सचिव को कुएं का गहरीकरण करने का बोला है या कोई नई जगह देखकर ग्रामीणों के लिए नलकूप लगाया जाए। इससे उन्हें इस भीषण गर्मी में राहत मिल सकें।
-मनोज पटेल, मंडल अध्यक्ष, भाजपा
जुड़वा दिया गया है
पाइप टूट जाने से लोगों को पानी के लिए मशक्कत करना पड़ रही थी। इसकी जानकारी मिलते ही पीएचई भाग से पाइप जुड़वा दिया गया है।
-बीएस मुवेल, सीईओ, जनपद, नालछा

sarvagya purohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned