सभी मंत्रों का राजा हैं 24 अक्षरों वाला गायत्री महामंत्र

Shyam Kishor

Publish: Jun, 21 2018 06:02:13 PM (IST)

धर्म कर्म

ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथी के दिन ब्रह्मा जी के आवाहन पर मानव मात्र के उद्धार के लिए माँ गायत्री धरती पर सद्ज्ञान के रुप में अवतरित हुई थी, तब से ही इस दिन को गायत्री जंयती के रूप में मनाया जाता हैं ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned