तांत्रिक विधि से सिद्ध हत्था जोड़ा की करामात जान हैरान रह जाएंगे आप

तांत्रिक विधि से सिद्ध हत्था जोड़ा की करामात जान हैरान रह जाएंगे आप

By: Tanvi

Published: 10 May 2018, 04:02 PM IST

हत्था जोड़ी एक ऐसी जोड़ी है जो दिखने में किसी का जुड़ा हुआ रुप है। हालांकी हत्था जोड़ी तंत्र में बहुत प्रसिद्ध है और इसका प्रभाव काफी अद्भुत निहित रहता है, तांत्रिक वस्तुओं में यह सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है। क्योंकी यह साक्षात चामुंडा देवी का प्रतिरूप माना जाता है। यदि इसे तांत्रिक विधि से सिध्द कर दिया जाए तो साधक निश्चित रूप से चामुण्डा देवी का कृपा पात्र हो जाता है यह जिसके पास होती है उसे हर कार्य में सफलता मिलती है, धन संपत्ति देने वाली यह बहुत चमत्कारी साबित हुई है। तिजोरी में सिन्दूर युक्त हत्था जोड़ी रखने से आर्थिक लाभ में वृद्धि होने लगती है। इसके सिद्ध हो जाने मात्र से धन स्वयं ही आकर्षित होता रहता है और धन-सम्पति, वशीकरण, शत्रु शमन में व्यक्ति सशक्त हो जाता है। जिस व्यक्ति के पास यह होती है। उसे किसी बात कि कमी नहीं होती। उसकी लगभग सभी इच्छाएं पूर्ण होती चली जाती है।

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ये धन को पाने के लिए बहुत कारगर चीज होती है। हत्था जोड़ी की जड़ बहुत मुश्किल से मिलती है। अगर आप इसकी जड़ को अपने घर की तिजोरी में रखते है तो हर तरह से खुशहाली आने लगती है। लेकिन इस बात का हमेशा धयान रखे की जब भी इसे अपने घर में रखे तो पुरे विधि-विदान के साथ ही रखे।

 

 

hatha jodi

हत्था जोड़ी से ये होते हैं लाभ

  • हत्‍था जोड़ी के प्रभाव में व्‍यापार में वृद्धि होती है।
  • किसी भी कंगाल व्यक्ति को मालामाल बना सकती है हत्था जोड़ी।
  • आर्थिक परेशानियों से निपटने के लिए काफी लाभकारी सिद्ध होती है हत्‍था जोड़ी।
  • इस जड़ को घर में रखने से इसके प्रभाव में दरिद्रता और पैसे से संबंधित सभी प्रकार की परेशानियां दूर होती हैं।
  • मुकदमें में जीत और शत्रु को परास्त करने में हत्‍था जोड़ी काफी मददगार सिद्ध होता है।
  • इसकी जड़ से आप वशीकरण और भूत-प्रेत जैसी बाधाओं को भी दूर कर सकते है।

इस तरह करें प्रयोग

  • मंदिर अथवा तिजोरी में हत्‍था जोड़ी स्‍थापित करने के बाद रोज उसके आगे चामुंडा मंत्र का जाप करें।
  • किसी महत्‍वपूर्ण कार्य के लिए जाते समय हत्‍था जोड़ी को अपनी जेब में रखें।
  • शत्रु या विरोधी परेशान कर रहे हैं तो इस जड़ को ताबीज़ बना कर अपने गले में डाल लें।

इन बातों का विशेष रुप से ध्यान रखें

  • यदि आपके पास सिद्ध हत्‍था जोड़ी है तो इस बारे में किसी को न बताएं, ऐसा करने से इसका शुभ प्रभाव कम होता है।
  • हत्‍था जोड़ी को किसी शुभ मुहूर्त में ही लाएं व उसे स्थापित करें।
  • इसकी पवित्रता को बनाए रखने हेतु इसे किसी साफ स्‍थान पर रखें।
  • गलत कार्यों की पूर्ति के लिए इस जड़ का प्रयोग कभी न करें।
hatha jodi

कैसे करें असली हत्था जोड़ी की पहचान?

आपको बता दें की हत्था जोड़ी एक दुर्लभ वनस्पति है,जो की सामन्यता बाजार में नहीं मिलती है। लेकिन कई लोग लालच के लिए बाजार में नकली बना कर बेच रहे हैं। हम आपको बताएंगे कैसे पहचाने असली हत्था जोड़ी

  • हत्था जोड़ी अधिकतर मध्यप्रदेश में पाई जाती है।
  • हत्था जोड़ी के सिरे पर मनुष्य के पंजे जैसी आकृति बनी हुई दिखाई है।
  • हत्था जोड़ी में दे जड़ आपस में जुड़ी होती है जिसमें एक स्त्री और दुसरी पुरुष का रुप मानी जाती है
  • असली नकली की पहचान के लिए आप हत्था जोड़ी को तेल में भीगा दे यदि वह असली होगी तो रात भर में वह पूरा तेल सोख लेगी।
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned