शारदीय नवरात्रि के नौ दिनों की आराधना के बाद दसवें दिन मातारानी को विदाई देंने प्रतिमा लेकर घाटों में श्रद्धालु पहुंचे। पहले हजारों लोग इसमें शामिल होते थे लेकिन इस बार कोरोना के कारण देवीजी के विसर्जन में अधिक श्रद्धालुओं को शामिल होने की अनुमति नहीं मिली।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned