15 जून शनिवार की शाम 5:38 पर सूर्य करेगा मिथुन राशि में प्रवेश, इन राशि वालों पर पड़ेगा सबसे ज्यादा प्रभाव

15 जून शनिवार की शाम 5:38 पर सूर्य करेगा मिथुन राशि में प्रवेश, इन राशि वालों पर पड़ेगा सबसे ज्यादा प्रभाव

Shyam Kishor | Updated: 14 Jun 2019, 05:23:27 PM (IST) धर्म कर्म

सूर्य ने बदला अपना घर, मिथुन राशि में रहेंगे इतने दिन

15 जून शनिवार की शाम 5 बजकर 38 पर भगवान सूर्यदेव वृषभ राशि से मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे। 15 जून से लेकर पूरे एक माह सूर्य मिथुन राशि में ही रहेंगे, सूर्य के इस राशि परिवर्तन को मिथुन संक्रांति कहा जाता है। ज्योतिषाचार्य पं. प्रहलाद कुमार पंड्या ने पत्रिका डॉट काम को बताया की मिथुन संक्रांति के दौरान सभी बारह राशियों में से इन 5 राशियों पर इसका विशेष प्रभाव पड़ने वाला है। जानें इस अवधि में किन किन राशियों पर इसका कैसा असर पड़ेगा।

 

शनिवार : हनुमान जी की इस इच्छा पूर्ति महा सुखदायी स्तुति पाठ करने से पूरन हो जाते हैं सार काम

 

ज्योतिषाचार्य पं. प्रहलाद कुमार पंड्या के अनुसार शनिवार 15 जून को ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि है। इस दिन सुबह 09 बजकर 59 मिनट तक विशाखा नक्षत्र रहेगा। शनिवार को शाम 5 बजकर 38 पर सूर्यदेव वृषभ राशि से मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे, जो पूरे एक माह यानी की 17 जुलाई 2019 की सुबह 4 बजकर 34 मिनट तक सूर्य इसी मिथुन राशि में रहेंगे।

 

पचमड़ी के बड़ा महादेव का घर बैठे भी मिलेगा आशीर्वाद, कर लें ये छोटा सा काम

 

सूर्य के राशि परिवर्तन की इस अवधि को सूर्य की मिथुन संक्रांति कहा जाता है। दरअसल जिस दिन सूर्यदेव एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं, उस दिन को सूर्य की संक्रांति के रूप में मनाया जाता है। सूर्य का राशि परिवर्तन करने से विभिन्न राशियों पर असर देखने को मिलेगा, इस दौरान कई जातकों की जिंदगी में बदलाव आयेंगे और उस स्थिति में शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये और अशुभ फलों से बचने के लिये अपनी राशि के अनुसार बताएं गए उपायों को जरूर करें।

mithun rashi

1- मेष राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके तीसरे स्थान पर होगा। 17 जुलाई तक सूर्यदेव के इस गोचर से भाई-बहनों के साथ आपके संबंध अच्छे बने रहेंगे। आप दूसरों के सामने अपनी बात को अच्छे से जाहिर कर पायेंगे।
उपाय- रोज सुबह स्नान आदि के बाद सूर्यदेव को हाथ जोड़कर नमस्कार करें।

 

 

2- वृष राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके दूसरे स्थान पर होगा, जो धन से संबंध रखता है। सूर्यदेव के इस गोचर से 17 जुलाई तक आपके धन के भण्डार भरे रहेंगे। अपार लक्ष्मी की प्राप्ति होगी और आप हर तरह से सम्पन्न होंगे।
उपाय- किसी मन्दिर धर्मस्थल पर नारियल का दान करने से आर्थिक स्थिति होगी मजबूत।

 

 

3- मिथुन राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके पहले स्थान पर होगा। इस स्थान पर सूर्यदेव के गोचर से 17 जुलाई तक आपको कई तरह के फायदे देखने को मिलेंगे। मान-सम्मान में बढ़ोतरी होगी, प्रेम-संबंध भी ठीक बने रहेंगे, कोर्ट-कचहरी संबंधी कार्यों में सफलता मिलेगी।
उपाय- इस अवधि में हर रोज सूर्यदेव के मंत्र- "ॐ ह्रां ह्रीं हौं स: सूर्याय नम:" का जब 108 या 31 बार जरूर करें।

 

भगवान पर चढ़े फूल का कर लें यह उपाय, चारो ओर से अचानक बढ़ जायेगी इनकम

 

4- कर्क राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके बारहवें स्थान पर होगा। सूर्यदेव के इस गोचर से 17 जुलाई तक आपको शैय्या सुख का लाभ तो मिलेगा, लेकिन आपके खर्चे भी बढ़ेंगे। इस दौरान अपने घर के खिड़की, दरवाजे खुले रखें, ताकि आपके घर के अन्दर सूर्य की उचित रोशनी आ सके।
उपाय- हर रोज उगते सूर्य को अर्घ्य ऊं सूर्याय नमः बोलते हुये दें।

 

 

5- सिंह राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके ग्यारहवें स्थान पर होगा। इस दौरान 17 जुलाई तक आपकी आमदनी में कुछ उतार-चढ़ाव हो भी हो सकते हैं। कोई इच्छा पूरी होते-होते रह सकती है।
उपाय- रात को सोते समय अपने सिरहाने पर 5 बादाम रखकर सोएं और अगले दिन सुबह उठकर उन्हें किसी मन्दिर में दान कर दें।

 

 

6- कन्या राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके दसवें स्थान पर होगा। सूर्यदेव के इस गोचर से 17 जुलाई तक आपको अपने करियर में कई तरह के लाभ देखने को मिलेंगे। आपकी तरक्की सुनिश्चित होगी। साथ ही आपके पिता को भी अपने काम में लाभ मिलेगा।
उपाय- हर रोज घर से बाहर निकलते समय अपना सिर सफेद रंग के कपड़े से ढक्कर रखें।

mithun rashi

7- तुला राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके नवें स्थान पर होगा। इस दौरान 17 जुलाई तक आपको अपने भाग्य का साथ मिलने में थोड़ी परेशानी आ सकती है, कुछ काम पूरे होने में थोड़ा समय लग सकता है।
उपाय- किसी को भी इस अवधि में पीतल की कोई भी चीज़ दान में या गिफ्ट में न दें।

 

 

8- वृश्चिक राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके आठवें स्थान पर होगा। सूर्यदेव के इस गोचर से 17 जुलाई तक आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। उचित खान-पान और एक्सरसाइज के जरिये शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहेंगे।
उपाय- काली गाय की सेवा करें, अपने हाथों से चारा या गुढ़ खिलावें 3 परिक्रमा भी करें।

 

 

9- धनु राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके सातवें स्थान पर होगा। इस दौरान 17 जुलाई तक दाम्पत्य जीवन बड़ा ही खुशहाल रहेगा। जीवनसाथी के साथ आपके संबंधों में प्यार बना रहेगा, एवं हर बात को बिना कहे ही समझ जायेगा।
उपाय- हर रोज अगर संभव हो तो किसी गरीब को भोजन या अन्य कुछ न कुछ जरूर खिलावें।

 

 

हमेशा के लिए पैसों की समस्या हो जायेगी दूर, घर में ही कर लें इन 10 में से कोई भी एक उपाय

 

10- मकर राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके छठे स्थान पर होगा। सूर्यदेव के इस गोचर से 17 जुलाई तक दोस्तों का अधिक साथ नहीं मिल पायेगा, कुछ दोस्त नाराज भी हो सकते हैं। इस दौरान कुछ शत्रु आपके विरूद्ध षड्यंत्र रचने का प्रयास कर सकते हैं।
उपाय- किसी देवी या हनुमान मन्दिर में गेहूं और गुड़ का दान करें।

 

 

11- कुंभ राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके पांचवें स्थान पर होगा। कुंडली में पांचवे स्थान का संबंध मुख्य रूप से विद्या, गुरु, विवेक, संतान और रोमांस से होता है। 17 जुलाई तक सूर्यदेव के इस गोचर से गुरु आपके हर कदम पर साथ खड़े रहेंगे, जिस कारण हर काम आसानी से सफलता मिलते रहेगी।
उपाय- 7 साल से छोटे बच्चों को कुछ मीठी चीज़ खाने के लिये दें।

 

 

12- मीन राशि- सूर्यदेव का गोचर आपके चौथे स्थान पर होगा। 17 जुलाई तक सूर्यदेव के इस गोचर से आपके जीवन में भूमि, भवन और वाहन का लाभ बना रहेगा। साथ ही अपनी माता से पूरा सहयोग मिलेगा।
उपाय- इस अवधि में किसी जरूरतमंद को भोजन जरूर खिलाएं।

********

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned