scriptAfter a long time, the educational ranking of the district improved, D | लम्बे अरसे बाद सुधरी जिले की शैक्षिक रैंकिंग, प्रदेश में अंतिम पायदान से 13वें पर पहुंचा धौलपुर | Patrika News

लम्बे अरसे बाद सुधरी जिले की शैक्षिक रैंकिंग, प्रदेश में अंतिम पायदान से 13वें पर पहुंचा धौलपुर

educational ranking news धौलपुर. राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की ओर से हर माह जारी होने वाली शैक्षिक रैंकिंग में लम्बे अरसे बाद जिले ने अंतिम पायदान से छलांग लगाते हुए १३वां स्थान प्राप्त किया है। परिषद की ओर से 5 जनवरी को जारी जिला रैंकिंग में धौलपुर जिले ने दिसम्बर माह की संयुक्त जिला रैंकिंग (44 पैरामीटर्स) में 190.63 अंक प्राप्त करते हुए 13वां स्थान हासिल किया है।

धौलपुर

Published: January 11, 2022 04:17:48 pm

लम्बे अरसे बाद सुधरी जिले की शैक्षिक रैंकिंग, प्रदेश में अंतिम पायदान से 13वें पर पहुंचा धौलपुर

educational ranking news धौलपुर. राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की ओर से हर माह जारी होने वाली शैक्षिक रैंकिंग में लम्बे अरसे बाद जिले ने अंतिम पायदान से छलांग लगाते हुए १३वां स्थान प्राप्त किया है। परिषद की ओर से 5 जनवरी को जारी जिला रैंकिंग में धौलपुर जिले ने दिसम्बर माह की संयुक्त जिला रैंकिंग (44 पैरामीटर्स) में 190.63 अंक प्राप्त करते हुए 13वां स्थान हासिल किया है। नवम्बर में धौलपुर जिला रैंकिंग में 165.67 अंक के साथ प्रदेश में अंतिम स्थान पर था। अच्छी रैंक का मिलता है लाभ जिले की शिक्षा रैंकिंग में सुधार को लेकर व्यापक रणनीति बनाई गई। 44 पैरामीटर्स पर विशेष रूप से कॉम्प्रेहेंसिव स्ट्रेटजी के तहत कार्य किया गया। सीडीईओ मुकेश कुमार गर्ग ने बताया कि रैंकिंग 44 बिंदुओ के आधार पर हर महीने की 5 तारीख को जारी की जाती है। उन्होंने बताया कि जिला कलक्टर के निर्देशानुसार सीबीईओ एवं अन्य शिक्षा विभागीय अधिकारियों को व्यापक कार्य योजना बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए गए। अच्छी रैंकिंग के अनेक फायदे होते है। भामाशाह भी सरकारी स्कूलों में विकास कार्य कराने में आगे आते हैं। सुधार के लिए यह किए विशेष प्रयाससीडीईओ ने बताया कि विद्यार्थियों के नाम आधार से लिंक करके शाला दर्पण पोर्टल पर अपलोड करने का कार्य किया गया। सरकारी स्कूलों के कमरों में बंद पड़े नाकारा सामान का कमेटी बनाकर निस्तारण करने के लिए अभियान के रूप में सीबीईओ को पाबंद कर टीमों का गठन कर कार्य संपादन करवाया गया। ब्लॉक की रैंकिंग का अपने स्तर पर प्रत्येक प्रश्न, क्षेत्रवार, टेम्पलेटवार विश्लेषण करके कमजोर रहे क्षेत्रों में सुधार के लिए संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर कार्य योजना तैयार की गई। जिससे निस्तारण से स्कूल भवन में रुके पड़े कमरे पढ़ाई में कक्षाकक्ष के रूप में काम में आ सकें। स्कूलों में प्रबंध व विकास कार्यों में सहयोग करने वाली एसडीएमसी व एसएमसी का रजिस्ट्रेशन करवाने के कार्य को प्राथमिकता से करवाने पर जोर दिया गया। कार्यक्रम अधिकारी राजेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि जिले ने अपेक्षित सुधार कर 13वां स्थान प्राप्त किया है। आगामी रैंकिंग में जिले की 44 पैरामीटर्स में स्थिति को श्रेष्ठ पांच जिलों में शामिल करने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में इंफ्रास्ट्रक्चर की ऑनलाइन फीडिंग का कार्य भौतिक स्थिति के आधार पर करवाया गया। स्कूलों में पोर्टल से स्कूल विकास में सहयोग मिलता है। सीएम जनसहभागिता में भामाशाहों का योगदान बढ़ता है। विकास में सहयोग करने वाले भामाशाह प्रेरित होकर सहयोग करते हंै।
After a long time, the educational ranking of the district improved, Dholpur reached 13th from the last rank in the state
लम्बे अरसे बाद सुधरी जिले की शैक्षिक रैंकिंग, प्रदेश में अंतिम पायदान से 13वें पर पहुंचा धौलपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंCorona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up Dayसीमित दायरे से निकल बड़ा अंतरिक्ष उद्यम बनने की होगी कोशिश: सोमनाथजम्मू कश्मीर में Corona Weekend Lockdown की घोषणा, OPD सेवाएं भी रहेंगी बंदबिहार के नालंदा में जहरीली शराब पीने से 9 की मौत, 3 की हालत गंभीररेलवे का कंफर्म टिकट खोने पर घबरायें नहीं, इन नियमों का करें पालन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.