पैरोल से फरारी के बाद डकैत मुकेश ठाकुर गिरोह ने अपराधों में फिर जमाए पैर

धौलपुर. जिले में कुख्यात डकैत मुकेश ठाकुर गिरोह ने संगठित अपराधियों के साथ गिरोह बना कर फिर पैर जमा लिए हैं। गिरोह की ओर से बैक लूट, भूखण्डों पर कब्जे, हत्या व जानलेवा हमलों की सुपारी लेने जैसे जघन्य अपराधों में ये गिरोह सक्रिय बना हुआ है। मामले में सबसे गंभीर बात यह है कि धौलपुर में सक्रिय दस्यु मुकेश गिरोह ने पड़ोसी उत्तर प्रदेश में भी बड़े-बड़े अपराध में अपनी सक्रियता भूमिका दर्ज करा ली है। डकैत मुकेश ठाकुर को प्रदेश के टॉप-10 अपराधियों की सूची में शामिल किया गया है।

By: Naresh

Published: 21 Feb 2021, 11:08 AM IST

पैरोल से फरारी के बाद डकैत मुकेश ठाकुर गिरोह ने अपराधों में फिर जमाए पैर
-जिले के अलावा पड़ोसी प्रदेश में भी फैला रहा गिरोह अपराध
पैरोल से फरारी के दौरान अपराधियों को संगठित कर बनाया गिरोह
अमित सिंह
धौलपुर. जिले में कुख्यात डकैत मुकेश ठाकुर गिरोह ने संगठित अपराधियों के साथ गिरोह बना कर फिर पैर जमा लिए हैं। गिरोह की ओर से बैक लूट, भूखण्डों पर कब्जे, हत्या व जानलेवा हमलों की सुपारी लेने जैसे जघन्य अपराधों में ये गिरोह सक्रिय बना हुआ है। मामले में सबसे गंभीर बात यह है कि धौलपुर में सक्रिय दस्यु मुकेश गिरोह ने पड़ोसी उत्तर प्रदेश में भी बड़े-बड़े अपराध में अपनी सक्रियता भूमिका दर्ज करा ली है। डकैत मुकेश ठाकुर को प्रदेश के टॉप-10 अपराधियों की सूची में शामिल किया गया है।

पैरोल से फरार चल रहा है डकैत मुकेश ठाकुर
पुलिस सूत्रों ने बताया कि हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा कुख्यात डकैत मुकेश ठाकुर को गत वर्ष 19 सितम्बर 2019 से एक माह की पैरोल पर छोड़ गया था। पैरोल अवधि पूरी हो जाने के बाद मुकेश वापस नहीं लौटा। इस संबंध में जेल प्रशासन ने भरतपुर के सेवर थाने पर मामला दर्ज कराया है। डकैत मुकेश ठाकुर पर हत्या, लूट, डकैती सहित अन्य अपराध के विभिन्न थानों पर 35 मामले दर्ज है। करीब एक वर्ष से पुुलिस फरार चल रहे डकैत मुकेश की तलाश में भी जुटी हुई है। पैरोल से फरार हो जाने के बाद पुलिस की ओर से डकैत पर पांच हजार रूपए का इनाम भी घोषित किया गया था। हाल में भरतपुर रेंज आईजी की ओर से 10 हजार रूपए व यूपी पुलिस की ओर से 25 हजार रूपए का इनाम भी घोषित किए जाने की बात सामने आ रही है।

अपराध में अलग रास्ते पर डकैत गिरोह
वैसे तो धौलपुर जिले के डकैतों का आंतक चंबल नदी के आसपास बीहड़ों इलाकों तक सीमित रहा है। यहां डकैतों की ओर से अधिकांश अपराधिक वारदातें आपसी रंजिश के चलते की जाती रही है। लेकिन हाल में सक्रिय हुए मुकेश ठाकुर गिरोह ने अपराध का अलग रास्ता बना लिया है। गिरोह की ओर से हाल में धौलपुर शहर में एक होटल मालिक को जान से मारने की सुपारी लेने, उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के इरादत नगर में बैंक लूट, आगरा के जगनेर में पेट्रोल पंप लूट, आगरा में एक व्यक्ति को गोली मारने की सुपारी लेने की वारदातें जैसे जघन्य अपराधों में गिरोह सक्रिय भूमिका सामने आई हैं।
अपराधियों के साथ मिलकर बनाया गिरोह
सूत्रों ने बताया कि कुख्यात डकैत मुकेश ठाकुर ने फरार चल रहे अपराधियों को संगठित करते हुए गिरोह बना लिया है। पुलिस पड़ताल में हाल में डकैत गिरोह में करीब एक दर्जन से अधिक बदमाश शामिल है। मुकेश गिरोह के सक्रिय सदस्यों में से पुलिस कल्याण, शिवम, रवि कुश्वाह, सीतो, हर विलास, अनिल आदि को पकड़ लिया है। इन गिरफ्तार बदमाशों से पूछताछ के बाद पुलिस के सामने डकैत मुकेश के अपराध के सूची सामने आई है। गिरफ्तार किए गए गिरोह के सदस्यों पर कई जघन्य अपराध संबंधित मामले पूर्व में दर्ज होना सामने आया है। सूत्रों ने बताया कि डकैत मुकेश के अलावा उसके गिरोह सदस्य अजीत ठाकुर, अठ्ठा गुजर्र, मौनी जाट, रामहरि, कल्ला जाटव अभी तक फरार बने हुए है।
गिरोह कर चुका है पुलिस पर कई बार फायरिंग
डकैत मुकेश गिरोह की ओर से कई बार पुलिस पर फायरिंग की वारदात को अंजाम दिया जाना सामने आया है। पुलिस पकड़ से फरार चल रहे मुकेश ठाकुर गिरोह की ओर से गत वर्ष 29 नवम्बर को मनियां थाना इलाके में पुलिस हैड कांस्टेबल को गोली मारने का मामला सामने आया था। इस दौरान डकैत मुकेश ठाकुर के साथ जो अन्य आरोपी थे। जबकि गत 8 फरवरी को बसेड़ी थाना इलाके में गिरोह की ओर से पुलिस नाकेबंदी के दौरान फायरिंग किया जाना सामने आया है।
इनका कहना...
दस्यु मुकेश गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि अन्य फरार सदस्यों को पकडऩे के लिए दबिशें जारी है।
केसर सिंह शेखावत, जिला पुलिस अधीक्षक, धौलपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned