बाड़ी के साथ हो रहा सौतेला व्यवहार, बंद बाजार को लेकर व्यापारियों में आक्रोश

बाड़ी. मार्च महीने से चले लॉकडाउन और लगातार कंटेनमेंट जोन के चलते बाड़ी शहर में बाजार बंद पड़ा है। ऐसे में परेशान व्यापारी और दुकानदारों के उपखंड प्रशासन से बार-बार गुहार लगाने के बावजूद जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो गुरुवार को शहर के व्यापार वर्ग से जुड़े हर तबके ने अग्रोहा टावर में एक बैठक आयोजित की।

By: Naresh

Published: 24 Jul 2020, 02:54 PM IST

बाड़ी के साथ हो रहा सौतेला व्यवहार, बंद बाजार को लेकर व्यापारियों में आक्रोश

-आंदोलन के लिए किया गया चैम्बर ऑफ कॉमर्स का गठन

बाड़ी. मार्च महीने से चले लॉकडाउन और लगातार कंटेनमेंट जोन के चलते बाड़ी शहर में बाजार बंद पड़ा है। ऐसे में परेशान व्यापारी और दुकानदारों के उपखंड प्रशासन से बार-बार गुहार लगाने के बावजूद जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो गुरुवार को शहर के व्यापार वर्ग से जुड़े हर तबके ने अग्रोहा टावर में एक बैठक आयोजित की। जिसमें बंद पड़े बाजार को खोले जाने के लिए प्रशासन और सरकार पर दबाव बनाने और बाजार खोलने के लिए जनप्रतिनिधियों को सचेत करने के लिए सभी व्यापारियों की सहमति से एक व्यापारिक संगठन का गठन किया गया। जिसे चैम्बर ऑफ कॉमर्स बाड़ी नाम दिया गया। संगठन का अध्यक्ष मुकेश अग्रवाल को नियुक्त किया गया है। साथ में सुनील गर्ग को महामंत्री, हरीशंकर सर्राफ को कोषाध्यक्ष नियुक्त किया है। साथ में ऋषि गर्ग को सूचना मंत्री बनाया गया है और मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी युवा अंशुल गर्ग सौंपी गई है।
नव गठित संगठन चेंबर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारी बाजार बंद को लेकर सबसे पहले स्थानीय और जिला प्रशासन से मिलेंगे। जिसमें बाजार खोलने के लिए प्रशासन से मांग की जाएगी और यह भी जानकारी ली जाएगी की बाड़ी के साथ जिले के अन्य कस्बों और उपखंडों में कोरोना संक्रमण है, लेकिन वहां के बाजार क्यों खुले है। ऐसी स्थिति में जब प्रशासन सुनवाई नहीं करेगा तो जनप्रतिनिधियों से भी बाजार को खोलने की मांग की जाएगी। इसके बाद आंदोलन की शुरुआत की जा सकती है। जिसमें हर छोटा और बड़ा दुकानदार एवं व्यापारी एक साथ मिलकर सहयोग करेंगे। बैठक में शहर के सर्राफा एवं स्वर्णकार संघ अध्यक्ष राजकुमार वर्मा के साथ खांडसारी संघ अध्यक्ष संजय गोयल, अग्रवाल समाज अध्यक्ष सुनील गर्ग, कपड़ा व्यापार संघ और अन्य संघों के पदाधिकारी भी मौजूद रहे।
बाड़ी के साथ पूरा सौतेला व्यवहार, ऐसे में संगठन की जरूरत

बैठक के दौरान कोषाध्यक्ष हरिशंकर सराफ ने बताया कि बाड़ी के साथ प्रशासन सौतेला व्यवहार कर रहा है। यहां कोरोना को लेकर नियम कुछ और है और जिले के अन्य भागों में कुछ और। ऐसे में संगठन और आंदोलन की जरूरत है। जिसके लिए चेंबर ऑफ कॉमर्स का गठन किया गया है। जिसमें अस्थाई तौर पर अभी अध्यक्ष के साथ अन्य पदाधिकारी नियुक्त किए हैं। जिनके नेतृत्व में पूरा बाड़ी बाजार और व्यापार वर्ग एक साथ एक रणनीति के तहत आंदोलन करेगा और बाजार को किसी भी कीमत पर खुलवाया जाएगा। इसके लिए यदि प्रशासन कोई सुनवाई नहीं करता है, तो स्थानीय जनप्रतिनिधियों से भी मांग की जाएगी और जब कहीं से भी कोई सहानुभूति नहीं मिलेगी तो फिर व्यापारी आंदोलन को अपना हथियार बनाएंगे।
फोटो केप्सन बाड़ी. बंद बाजार को लेकर बैठक करते व्यापारी और दुकानदार।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned