scriptBarbed wire will help farmers get rid of stray animals, government is | किसानों को आवारा पशुओं से निजात दिलाएगी कांटेदार तारबंदी, सरकार दे रही अनुदान | Patrika News

किसानों को आवारा पशुओं से निजात दिलाएगी कांटेदार तारबंदी, सरकार दे रही अनुदान

- राजस्थान फसल सुरक्षा मिशन: जिले का प्राप्त हुए भौतिक लक्ष्य, पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर होगा चयन

धौलपुर. नील गाय एवं आवारा पशुओं से फसलों की सुरक्षा के लिए अब किसानों को दिन-रात परेशान नहीं होना पड़ेगा। सरकार राजस्थान फसल सुरक्षा मिशन के तहत मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना, राज्य योजना, एनएमइओ (राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन - तिलहन)

धौलपुर

Published: May 27, 2022 09:00:19 pm

किसानों को आवारा पशुओं से निजात दिलाएगी कांटेदार तारबंदी, सरकार दे रही अनुदान

- राजस्थान फसल सुरक्षा मिशन: जिले का प्राप्त हुए भौतिक लक्ष्य, पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर होगा चयन

धौलपुर. नील गाय एवं आवारा पशुओं से फसलों की सुरक्षा के लिए अब किसानों को दिन-रात परेशान नहीं होना पड़ेगा। सरकार राजस्थान फसल सुरक्षा मिशन के तहत मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना, राज्य योजना, एनएमइओ (राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन - तिलहन) योजनांतर्गत खेतों में कांटेदार तारबंदी/चैनलिंक कराने के लिए कृषि विभाग के माध्यम से अनुदान दे रही है। योजना के तहत वर्ष 2022- 23 के भौतिक लक्ष्य भी प्राप्त हुए हैं।
 Barbed wire will help farmers get rid of stray animals, government is giving grant
किसानों को आवारा पशुओं से निजात दिलाएगी कांटेदार तारबंदी, सरकार दे रही अनुदान
यह है पात्रता

व्यक्तिगत आवेदन करने वाले एक किसान के पास एक ही जगह न्यूनतम 1.5 हैक्टेयर कृषि भूमि (6 बीघा) राजस्व रिकॉर्ड अनुसार होना आवश्यक है। सामूहिक रूप से 2 या अधिक किसानों के नाम एक ही जगह न्यूनतम 1.5 हैक्टेयर (6 बीघा) कृषि भूमि होना आवश्यक है।
ऐसे करें आवेदन

नजदीकी ई-मित्र केंद्र पर 6 माह से पूर्व की नवीनतम जमाबंदी, नक्शा ट्रेश, लघु - सीमांत प्रमाणपत्र, जनाधार कार्ड, आधार कार्ड, बैंक पासबुक, एक रंगीन फोटो सहित अन्य आवश्यक दस्तावेज के जरिए आवेदन किया जा सकता है। राज किसान साथी पोर्टल पर 30 मई से ऑनलाइन आवेदन कर मूल पत्रावली सम्बंधित कृषि पर्यवेक्षक / सहायक कृषि अधिकारी कार्यालय में जमा करानी होगी।
पहलेआओ-पहले पाओ

जिले को आवंटित भौतिक लक्ष्य के अनुसार राज किसान साथी पोर्टल पर प्राप्त ऑनलाइन आवेदनों की वरीयतानुसार ‘पहले आओ पहले पाओ’ के आधार पर छंटनी की जाएगी। विभाग द्वारा मौके पर कार्य का जाकर प्री - वेरिफिकेशन किया जाएगा। पत्रावली पात्र होने पर प्रशासनिक स्वीकृति जारी की जाएगी। उसके बाद ही किसान तारबंदी कार्य पूर्ण कराएं।
ऐसे मिलेगी अनुदान राशि

व्यक्तिगत आधार पर एक किसान को न्यूनतम 1. 5 हैक्टेयर भूमि में अधिकतम 400 मीटर रनिंग लंबाई पर 40 हजार रुपए या लागत का 50 फीसदी अनुदान देय है। लघु - सीमांत किसान को लागत का 60 फीसदी या अधिकतम 400 मीटर रनिंग लम्बाई के लिए 48 हजार रुपए का अनुदान मिलेगा। समूह में दो या अधिक कृषकों द्वारा न्यूनतम 1.5 हैक्टेयर भूमि पर तारबंदी करने पर प्रति कृषक अधिकतम 400 मीटर रनिंग के लिए लागत का 50 फीसदी या अधिकतम 40 हजार रुपए का अनुदान मिलेगा।
इन्हें नहीं मिलेगा अनुदान

चारागाह भूमि, धार्मिक ट्रस्ट, सरकारी संस्थान को इस योजना से बाहर रखा गया है।

इनका कहना है

आवारा जानवरों से फसलों के बचाव के लिए किसान तारबंदी करा सकते हैं। इसके लिए सरकार की ओर से अनुदान भी मिलेगा। किसान 30 मई से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
- पिंटूलाल मीना, सहायक कृषि अधिकार, सरमथुरा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नुपूर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- आपके बयान के चलते हुई उदयपुर जैसी घटना, पूरे देश से टीवी पर मांगे माफीहैदराबाद में आज से शुरू हो रही BJP की कार्यकारिणी बैठक, प्रधानमंत्री मोदी कल होगें शामिल, जानिए क्या है बैठक का मुख्य एजेंडाआज से प्रॉपर्टी टैक्स, होम लोन सहित कई अन्य नियमों में हुए बदलाव, जानिए आपके जेब में क्या पड़ेगा असरकेंद्रीय मंत्री आर के सिंह का बड़ा बयान, सिर काटने वाले आतंकियों के खिलाफ बनेगा UAPA की तरह सख्त कानून!LPG Price 1 July: एलपीजी सिलेंडर हुआ सस्ता, आज से 198 रुपए कम हो गए दामकेंद्रीय मंत्री आर के सिंह का बड़ा बयान, सिर काटने वाले आतंकियों के खिलाफ बनेगा UAPA की तरह सख्त कानून!Jagannath Rath Yatra 2022: देशभर में भगवान जगन्नाथ रथयात्रा की धूम, अमित शाह ने अहमदाबाद में की 'मंगल आरती'Kerala: सीपीआई एम के मुख्यालय पर बम से हमला, सीसीटीवी में कैद हुआ आरोपी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.