चम्बल के बहाव में बहा निर्माणाधीन रेलवे ब्रिज का कंटेनर, छह लोगों को ग्रामीणों ने बचाया

चम्बल के बहाव में बहा निर्माणाधीन रेलवे ब्रिज का कंटेनर, छह लोगों को ग्रामीणों ने बचाया
चम्बल के बहाव में बहा निर्माणाधीन रेलवे ब्रिज का कंटेनर, छह लोगों को ग्रामीणों ने बचाया

mahesh gupta | Updated: 15 Sep 2019, 12:22:25 PM (IST) Dholpur, Dholpur, Rajasthan, India

जिले में चल रहे तीसरी रेलवे लाइन निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार कम्पनी का एक कंटेनर शनिवार सुबह पांच बजे चम्बल नदी में आए बहाव के चलते नदी में बह गया। इसे रोकने के लिए उस पर चढ़े छह लोग भी तेज बहाव के चलते नदी में बह गए।

जिले से निकल रही चम्बल नदी पर बना रही है रेलवे ओवरब्रिज
कंटेनर रोकने के लिए नदुआपुरा गांव के छह लोग चढ़े, वे भी बह गए
ग्रामीणों ने नाव की सहायता से निकाला
धौलपुर. जिले में चल रहे तीसरी रेलवे लाइन निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार कम्पनी का एक कंटेनर शनिवार सुबह पांच बजे चम्बल नदी में आए बहाव के चलते नदी में बह गया। इसे रोकने के लिए उस पर चढ़े छह लोग भी तेज बहाव के चलते नदी में बह गए। घेर स्थित नई रेलवे लाइन से बहे कंटेनर पर बैठे लोगों को बचाने के लिए कंपनी ने एक नाव नदी में उतार दी। जिन्होंने लोहे के भारी भरकम कंटेनर को रोकने के लिए कई जगहों पर रस्सों की मदद से कंटेनर को रोकने का प्रयास किया। लेकिन कंटेनर हर बार पानी के तेज के बहाव में रस्से को तोडकऱ आगे बह गया। जिसके बाद रेलवे के कर्मचारियों और शंकरपुरा के लोगो की मदद एमपी की तरफ बरसला के पास कंटेनर को रोककर चम्बल नदी से बाहर निकाला गया। इस दौरान कंटेनर पर बैठे लोग नाव की मदद से नदी से बाहर निकल आए। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि इससे पूर्व अगस्त माह में चम्बल में आए पानी के बहाव में कंटेनर बह गया था। जिसे लोगों ने रोककर नदुआपुरा के पास एमपी की सीमा में बांध दिया था। लेकिन शनिवार तडक़े चंबल नदी में अचानक आए पानी की वजह से कंटेनर एक बार फिर से रस्से को तोडकऱ पानी के तेज बहाव में बह गया। जिसे रोकने के लिए शंकरपुरा से कुछ मल्लाह नदी में तैरकर कंटेनर पर चढ़ गए। जिन्होंने रस्सों की मदद से कंटेनर को जैतपुर गांव तक रोकने का प्रयास भी किया। इसी दौरान अलग अलग गांवों में घाटों पर मौजूद लोगों ने कंटेनर पर बैठे लोगों को पानी में बहता हुआ बताकर हंगामा खड़ा कर दिया। जिसके बाद कंटेनर को रोकने के लिए साथ में चल रही नाव पर बैठे रेलवे के कर्मियों ने पिनाहट से आगे एमपी की सीमा में कंटेनर को रोक लिया। जिसके बाद कंटेनर के ऊपर बैठे लोग नाव में बैठकर नदी के बाहर आ गए। इधर दिहौली थाना प्रभारी सुमन कुमार ने बताया कि इस प्रकार सूचना आई थी। लेकिन बाद में पता चला कि उसको रोक लिया गया है। इधर, रेलवे ब्रिज बना रही कम्पनी के एक अधिकारी ने बताया कि शनिवार सुबह पांच बजे एक कंटेनर बह गया था।
जिसे जैतपुरा गांव के पास रोक लिया गया है। हालांकि जानमाल की हानि नहीं हुई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned