बसेड़ी में फूटा कोरोना बम, एक साथ पांच कोरोना पॉजिटिव, सहमे लोग

बसेड़ी. जिले में रेड जोन बसेड़ी में शुक्रवार को कोरोना बम फूटा। क्षेत्र के अलग-अलग गांवों में एक साथ पांच प्रवासी कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए। इनमें दो जने पचास वर्ष से ऊपर के शामिल हैं। इसके बाद अब जिले में पॉजिटिव केसों की संख्या बढ़कर 33 हो गई है। इनमें से 22 जनों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

By: Naresh

Published: 23 May 2020, 07:53 PM IST

बसेड़ी में फूटा कोरोना बम, एक साथ पांच कोरोना पॉजिटिव, सहमे लोग

ग्रामीण इलाके में दहशत का माहौल

बसेड़ी. जिले में रेड जोन बसेड़ी में शुक्रवार को कोरोना बम फूटा। क्षेत्र के अलग-अलग गांवों में एक साथ पांच प्रवासी कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए। इनमें दो जने पचास वर्ष से ऊपर के शामिल हैं। इसके बाद अब जिले में पॉजिटिव केसों की संख्या बढ़कर 33 हो गई है। इनमें से 22 जनों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। अब जिले में 11 जने पॉजिटिव बने हुए हैं। बसेड़ी के ग्रामीण इलाके में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीज निकलने से हड़कम्प मचा हुआ है। पिछले दिनों दौपुरा तथा नगला दरवेश में पॉजिटिव मरीज सामने आए थे। वहीं शुक्रवार को पांच अलग-अलग गांव से कोरोना पॉजिटिव निकलने से ग्रामीण् इलाकों में तो हड़कम्प मचा हुआ है, वहीं प्रशासन के लिए भी परेशानी बढ़ गई है। प्रशासन की ओर से सभी कोरोना पॉजिटिव मरीजों को बाड़ी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिए भेजा गया है। सभी मरीज होम आइसोलेट थे।
जानकारी के अनुसार क्षेत्र के अलग-अलग 5 गांव बोरेली, रतनपुर, तुलसीपुरा पिपरोन, भरकूंजरा गांव में कोरोना पॉजिटिव केस निकले हैं। सीएचसी प्रभारी डॉ. राजेश मित्तल ने बताया कि बोरेली, रतनपुर व भरकूंजरा के व्यक्ति 15 मई को तथा तुलसीपुरा और पिपरौन के व्यक्तियों की 18 मई को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर नमूना लिया गया था।
पांचों व्यक्तियों की शुक्रवार को दोपहर बाद कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आने के बाद स्थानीय प्रशासन और चिकित्सा टीम ने घरों से लाने के लिए 108 एंबुलेंस रवाना कर दी। सभी पीडि़तों को बाड़ी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। ग्रामीण इलाके में भी पांच अलग-अलग गांवों में कोरोना पॉजिटिव की सूचना फैलते ही गांव में हड़कंप मचा हुआ है। लोग घरों में कैद हो गए हैं।

कांटेक्ट हिस्ट्री जानने के लिए टीमें रवाना

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से पांच अलग.-अलग गांव में कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आने के बाद पीडि़तों की कांटेक्ट हिस्ट्री खंगालने के लिए टीमें रवाना कर दी गई। सीएचसी प्रभारी डॉ. राजेश मित्तल ने बताया कि पांच गांव के अलग-अलग व्यक्ति अलग-अलग स्थानों से आए हैं। प्रारंभिक तौर में दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद व केरला से यह व्यक्ति आए हैं। जिनकी सेंपलिंग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की गई थी। कोरोना पॉजिटिव की कांटेक्ट हिस्ट्री जानने के लिए गांव में टीमें रवाना कर दी गई हैं। उसके आधार पर उनके संपर्क में आने वाले लोगों की सैंपलिंग का काम किया जाएगा।

ग्रामीण इलाके में मचा हड़कंप
अभी पिछले दिनों कस्बे के सटे हुए गांव नगला दरवेश तथा दौपुरा गांव में कोरोना पॉजिटिव मरीज निकले थे। लेकिन शुक्रवार को जैसे ही 5 गांव में 5 जनों की पॉजिटिव रिपोर्ट की सूचना लगी, तो सभी पांचों गांव में हड़कंप मच गया। वहीं प्रशासन की ओर से पूरे बाजार को खोले जाने की अनुमति भी दे रखी है। ऐसे में घर से बाहर निकलने वाले लोगों में भी डर का माहौल बना हुआ है।
देरी से आ रही रिपोर्ट

जिले के कोरोना संदिग्धों के नमूने भरतपुर मेडिकल कॉलेज में जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। लेकिन वहां से चार से पांच दिन में जांच रिपोर्ट आ रही है। अब पांच नए कोरोना मरीजों में से तीन के नमूने 15 मई को लिए गए थे, जिनकी रिपोर्ट 22 मई को आई है। इससे संक्रमण का खतरा बना हुआ है। जबकि पूर्व में 8 तारीख को भेजे गए नमूनों को तो गुम ही कर दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned