scriptCorona explosion in the district, 62 patients came together, Dholpur o | जिले में कोरोना विस्फोट, एक साथ आए 62 मरीज, सामुदायिक संक्रमण की राह पर धौलपुर | Patrika News

जिले में कोरोना विस्फोट, एक साथ आए 62 मरीज, सामुदायिक संक्रमण की राह पर धौलपुर

- एसबीआई बंैक कचहरी के आठ कार्मिक, तीन पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव
धौलपुर. जिले में बुधवार को कोरोना का विस्फोट हुआ है। नए साल में कोरोना की तीसरी लहर के बीच जिले में एक साथ 62 मरीज सामने आए हंै। यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसके साथ ही जिले में एक पॉजिटिवी रेट 8 प्रतिशत से ऊपर हो गई है।

धौलपुर

Published: January 12, 2022 07:55:56 pm

जिले में कोरोना विस्फोट, एक साथ आए 62 मरीज, सामुदायिक संक्रमण की राह पर धौलपुर

- एसबीआई बंैक कचहरी के आठ कार्मिक, तीन पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव
धौलपुर. जिले में बुधवार को कोरोना का विस्फोट हुआ है। नए साल में कोरोना की तीसरी लहर के बीच जिले में एक साथ 62 मरीज सामने आए हंै। यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसके साथ ही जिले में एक पॉजिटिवी रेट 8 प्रतिशत से ऊपर हो गई है। बुधवार को जिले में 765 सैंपलों की जांचों में 62 कोरोना मरीज निकले हैं। इससे प्रतीत हो रहा है कि जिला सामुदायिक संक्रमण की जद में जा रहा है। अगर जल्द ही एहतियातन उपाय नहीं किए गए तो हर घर में कोरोना मरीज मिल सकते हैं। इसके लिए लोगों को भी कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन करना होगा। साथ ही प्रशासन व पुलिस को भी सख्ती से पेश आना होगा। चिकित्सा विभाग के अनुसार जिले में अब तक कुल 146 मरीज सामने आ चुके हंै, इनमें से 8 रिकवर हुए हंै, जबकि 138 मरीज एक्टिव हंै। उल्लेखनीय है कि जिले में अब तक तीन मरीज ओमिक्रॉन के मिल चुके हैं।
 Corona explosion in the district, 62 patients came together, Dholpur on the path of community transition
जिले में कोरोना विस्फोट, एक साथ आए 62 मरीज, सामुदायिक संक्रमण की राह पर धौलपुर
यहां आए मरीज
चिकित्सा विभाग के अनुसार जिले में 62 मरीजों में से सबसे अधिक मरीज धौलपुर जिला मुख्यालय पर आए हैं। यहां पर निकले 25 मरीजों में से 8 तो एसबीआई बैंक कचहरी परिसर से निकले हैं। इससे उनके सम्पर्क में आए उपभोक्ताओं में भी हडक़म्प मचा हुआ है। वहीं तीन पुलिसकर्मी भी शामिल बताए जा रहे हैं। इसके अलावा राजाखेड़ा में 18, सैंपऊ में 7, बाड़ी में 8 तथा सरमथुरा व मनिया में 2-2 मरीज सामने आए हैं। गंभीर बात यह है कि इनमें से 15 वर्ष तक आयु वर्ग के 7 बच्चे भी शामिल हैं।
खुले आम घूम रहे पॉजिटिव मरीज

जिले में कोरोना मरीजों के कम गंभीर लक्षण होने के कारण पॉजिटिव मरीज इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हंै। सूत्रों ने बताया कि कई पॉजिटिव मरीज तो खुलेआम बाजार तथा दूसरे शहरों में घूम रहे हैं। साथ ही कई मरीज तो दवा ही नहीं ले रहे हैं। ऐसे में वे आम लोगों को भी संक्रमण की जद में ला रहे हंै। ऐसे लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई करनी होगी।
स्टाफ वैक्सीनेशन में व्यस्त, आईएलआई मरीजों को नहीं हो रहा सर्वे
जिले में कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य तेज गति से चलने के कारण एएनएम, आशा सहयोगिनी वैक्सीनेशन कार्यक्रम में व्यस्त हैं। इसके चलते आईएलआई मरीजों का सर्वे नहीं हो पा रहा है। साथ ही पॉजिटिव मरीजों के आसपास रहने वाले लोगों का चिह्नीकरण भी नहीं हो पा रहा है। इतना ही नहीं कई लोग तो सैंपल देने के बाद भी खुले आम घूमते रहते हैं, जो बाद में पॉजिटिव आ रहे हैं। ऐसे में तीन से चार दिन में वह अन्य लोगों को भी कोरोना की चपेट में ले लेता है। इसके लिए प्रशासन को भी इस प्रकार के लोगों पर सख्त रवैया अपनाना पड़ेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.