धौलपुर में गली-गली में फैल रहा कोरोना संक्रमण,जिले में निकले 26 संक्रमित

धौलपुर. जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर सबसे बुरी हालत धौलपुर मुख्यालय की है। जिले में लगातार निकल रहे संक्रमितों में से अधिकांश मरीज धौलपुर मुख्यालय से ही निकल रहे हैं। इससे स्थिति गंभीर बनती जा रही है। हाल ही में एक वृद्ध की मौत तो अस्पताल ले जाने के कुछ देर बाद ही हो गई, बाद में उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी।

By: Naresh

Published: 10 Sep 2020, 10:29 AM IST

धौलपुर में गली-गली में फैल रहा कोरोना संक्रमण,जिले में निकले 26 संक्रमित
जिले में संक्रमित निकले 26 में से 24 धौलपुर शहर में मिले
धौलपुर. जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर सबसे बुरी हालत धौलपुर मुख्यालय की है। जिले में लगातार निकल रहे संक्रमितों में से अधिकांश मरीज धौलपुर मुख्यालय से ही निकल रहे हैं। इससे स्थिति गंभीर बनती जा रही है। हाल ही में एक वृद्ध की मौत तो अस्पताल ले जाने के कुछ देर बाद ही हो गई, बाद में उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। ऐसे में जिला मुख्यालय पर गली-गली में संक्रमण का फैलाव हो रहा है। कई स्थानीय लोगों की ओर से यह भी कहा जा रहा है संक्रमण के बढ़ते स्तर को देखते हुए सरकारी चिकित्सालयों में भी मरीजों को ठीक प्रकार से नहीं देखा जा रहा है। इससे लोगों में मर्ज भी बढ़ता जा रहा है। किसी गंभीर बीमारी के मरीज को चिकित्सालय ले जाया जाता है तो पहले उसकी कोरोना जांच कराने को कहा जाता है, जब तक उसकी हालत और खराब हो जाती है। ऐसे में वह जयपुर या आगरा निजी चिकित्सालय में पहुंच रहे हैं। हालांकि जिला प्रशासन ने चिकित्सालय में सभी चिकित्सकों को नॉन कोविड मरीजों को अच्छी तरह देखने के आदेश जारी किए हुए हैं। लेकिन कई चिकित्सक इन आदेशों को भी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। जिले में मंगलवार दोपहर को जहां 76 कोरोना संक्रमित मिले थे, वहीं 26 मरीज देर रात जारी सूची में निकले हैं। इनमें से 60 मरीज अकेले धौलपुर मुख्यालय पर निकले हैं। इससे सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है धौलपुर में स्थिति नाजुक बनी हुई है। हालांकि जिला प्रशासन तथा चिकित्सा विभाग की ओर से लगातार सैम्पलिंग कराकर चेन तोडऩे का सिलसिला थामने का प्रयास किया जा रहा है। लेकिन हर रोज नए मोहल्ले से संक्रमण निकल आता है। इसे देखते हुए बाड़ी तथा धौलपुर के व्यापारियों ने बंद किए गए सण्डे कफ्र्यू को फिर से सख्ती से लागू करने की मांग कर डाली। इस पर जिला कलक्टर ने व्यापारियों के सुझाव को मानते हुए सण्डे को साप्ताहिक बंद करने का निर्णय किया है। जिससे कोरोना की चेन को तोड़ा जा सके। जिला मुख्यालय पर मंगलवार देर रात्रि निकले 24 मरीजों में कायस्थ पाड़ा, कैला कॉलोनी से पांच निकले हैं। इनमें चार एक ही परिवार के संक्रमित मरीज हैं। वहीं पटपरा, शास्त्री नगर, बालाजी नगर, दिहोली, रामनगर, महात्मानंद की बगीची, चिडिय़ा खाना, गिर्राज कॉलोनी, हनी पैलेस, गडरपुरा, आरएसी लाइन, इटायपाड़ा से दो, नादौली, मंगल विहार से कोरोना संक्रमित निकले हैं। वहीं राजाखेड़ा के पहाड़ी गांव से छह वर्ष की एक बालिका कोरोना संक्रमित निकली है। जबकि बाड़ी से व्यास कॉलोनी में एक महिला कोरोना संक्रमित हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि 26 मरीजों की कोई हिस्ट्री सामने नहीं आई है।
उल्लेखनीय है कि जिले में अब तक 2900 से अधिक कोरोना संक्रमित मामले सामने आ चुके हैं, इनमें से आधे से अधिक मामले अकेले धौलपुर ब्लॉक में हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned