कोरोना संदिग्ध की मौत से मचा हड़कम्प

सेड़ी. क्षेत्र के गांव चंदूपुरा में गुजरात के अहमदाबाद से लौटे 58 वर्षीय कोराना संदिग्ध की मौत होने पर प्रशासन, चिकित्सा विभाग सहित गांव में हड़कम्प मच गया। सूचना पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों ने अपनी देखरेख में शव का अंतिम संस्कार कराया। वहीं परिजनों में से मात्र छह जनों को ही अंतिम संस्कार में शामिल होने की अनुमति दी गई। लेकिन दोपहर बाद व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने पर प्रशासन ने राहत की सांस ली है।

By: Naresh

Published: 23 May 2020, 07:14 PM IST

कोरोना संदिग्ध की मौत से मचा हड़कम्प

बाद में नेगेटिव आई रिपोर्ट, प्रशासन ने कराया अंतिम संस्कार

बसेड़ी. क्षेत्र के गांव चंदूपुरा में गुजरात के अहमदाबाद से लौटे 58 वर्षीय कोराना संदिग्ध की मौत होने पर प्रशासन, चिकित्सा विभाग सहित गांव में हड़कम्प मच गया। सूचना पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों ने अपनी देखरेख में शव का अंतिम संस्कार कराया। वहीं परिजनों में से मात्र छह जनों को ही अंतिम संस्कार में शामिल होने की अनुमति दी गई। लेकिन दोपहर बाद व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने पर प्रशासन ने राहत की सांस ली है।
जानकारी के अनुसार क्षेत्र के गांव चंदूपुरा में गुजरात के अहमदाबाद से लौट कर आए प्रवासियों में से एक व्यक्ति की 18 मई को खांसी जुखाम की शिकायत अधिक होने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जांच के लिए पहुंचाया। सीएचसी प्रभारी डॉ. राजेश मित्तल ने उसी दिन कोरोना संदिग्ध मानते हुए पीडि़त व्यक्ति का कोरोना नमूना लेकर जांच के लिए भिजवा दिया।
उसके बाद व्यक्ति को उसके घर में आइसोलेट कर दिया गया। सीएचसी प्रभारी मित्तल ने बताया कि व्यक्ति की गुरुवार सुबह तबीयत खराब होने पर उसे बाड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिए ले जाया गया, जहां दिन भर उपचार किया गया। देर शाम अस्पताल से उसे वापस घर भेज दिया गया। शुक्रवार सुबह अचानक उसकी तबीयत खराब हुई और उसकी मौत हो गई। इधर, कोरोना संदिग्ध की मौत की सूचना पर प्रशासन में हड़कंप मच गया। तुरंत उपखंड अधिकारी प्यारेलाल सोठवाल, थाना प्रभारी, तहसीलदार बसेड़ी, सीएचसी प्रभारी सहित गांव चंदूपुरा पहुंचे और मामले की ली।
उपखंड अधिकारी ने बताया कि मृतक का उसके गांव में अंतिम संस्कार कराया गया है। जिसमें उसके दो भाइयों के साथ चार अन्य परिजन भी शामिल हुए हैं। उसके परिजनों ने बताया कि वह अस्थमा का रोगी था। जिसका इलाज पूर्व में कई सालों से चल रहा था।

घरों में कैद हुए लोग

दूसरी ओर गांव में बड़ी संख्या में पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख में हुए संदिग्ध के अंतिम संस्कार से गांव में हड़कंप मच गया। गांव में पूरी तरह सन्नाटा पसर गया। लोग अपने घरों में कैद रहे। उधर प्रशासन की ओर से भी परिजनों को होम क्वॉरंटीन रहने के लिए हिदायत दी गई है।

इनका कहना है
चंदूपुरा निवासी व्यक्ति की सुबह मौत हो गई थी। तब तक उसके नमूने की जांच रिपोर्ट नहीं आने के कारण संदिग्ध मानते हुए पुलिस प्रशासानिक अधिकारियों की देखरेख में अंतिम संस्कार कराया गया। दोपहर बाद उस व्यक्ति की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है।
डॉ. राजेश मित्तल, सीएचसी प्रभारी, बसेड़ी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned