शहर की समस्याओं पर उखड़े पार्षद, अधिकारियों पर नहीं बना जवाब

शहर की समस्याओं पर उखड़े पार्षद, अधिकारियों पर नहीं बना जवाब
शहर की समस्याओं पर उखड़े पार्षद, अधिकारियों पर नहीं बना जवाब

mahesh gupta | Updated: 11 Oct 2019, 11:24:21 AM (IST) Dholpur, Dholpur, Rajasthan, India

लम्बे अरसे के बाद गुरुवार को मेला ग्राउण्ड बने नए सभागार में हुई नगरपरिषद की साधारण सभा की बैठक में शहरी समस्याओं का समाधान नहीं होने पर पार्षद उखड़ गए। इस दौरान पार्षदों ने आयुक्त सहित अधिशासी अभियंता को भी आड़े हाथ लिया।

नगरपरिषद की साधारण सभा की बैठक
धौलपुर. लम्बे अरसे के बाद गुरुवार को मेला ग्राउण्ड बने नए सभागार में हुई नगरपरिषद की साधारण सभा की बैठक में शहरी समस्याओं का समाधान नहीं होने पर पार्षद उखड़ गए। इस दौरान पार्षदों ने आयुक्त सहित अधिशासी अभियंता को भी आड़े हाथ लिया। पार्षदों ने श्रीराम आश्रम से मचकुण्ड तक सौंन्दर्यीकरण को लेकर हो रही देरी पर अधिकारियों की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए। नेता प्रतिपक्ष अकील अहमद का कहना था शहर की सडक़ों का बजट मचकुण्ड पर लगाया जा रहा है, इसके बावजूद उसके कार्यों में देरी हो रही है। अब पौधे लगाए जा रहे हैं, जबकि बारिश खत्म हो गई है। पूरे राज्य में नि:शुल्क पौधे लगाए गए हैं, जबकि परिषद पैसा खर्च करके भी पौधे नहीं लगवा पाई है। इस पर एक्सईएन बृजमोहन सिंहल ने बताया कि ठेकेदार को नोटिस दे दिया है। वहीं पार्षद निशांत चौधरी ने सडक़ के बीच में कितने फीट तक निर्माण नहीं करने का नियम पूछा तो एक्सईएन बता ही नहीं पाए। इस पर नगर नियोजक को बुला कर नियम बताए गए।
जगह-जगह सीवर से निकल रहा गंदा पानी: पार्षद निशांत ने शहर में डली हुई सीवर लाइन से जगह-जगह लीकेज होने के कारण निकल रहे गंदे पानी का मुद्दा उठाया। साथ ही सीवर लाइन डालने के बाद भी सडक़ का समतलीकरण नहीं करने की बात कही। इस पर एक्सईएन ने बताया कि आरयूआइडीपी कार्मिकों को चार माह का भुगतान नहीं हो पाया है। भुगतान के बाद कार्य शुरू करा दिया जाएगा।
कमेटी तय करेगी वस्तुओं की कीमत व गुणवत्ता : नगरपरिषद की ओर से लगाए जाने वाले शरद महोत्सव मेले में दुकानदारों से वस्तुओं के दोगुने व तीन गुने दाम वसूलने तथा घटिया खाद्य सामग्री देने के मामला भी सदन में गूंजा।
पार्षद निशांत का कहना था कि मेले से परिषद भले ही आय एकत्रित कर लेती हो, लेकिन ऊंचे दामों पर दुकानों का आवंटन होने पर खाद्य पदार्थ विक्रेता तथा झूला संचालक धौलपुर की जनता को लूटते हंै। जो वस्तु बाहर अच्छी गुणवत्ता की 20 रुपए में मिलती, वही मेले में 40 से 60 रुपए में मिलती है। इस पर नियंत्रण के लिए सभापति कमल कंसाना ने कमेटी बनाने तथा जांच के बाद झूला व खाद्य पदार्थांे की गुणवत्ता व दर निर्धारित करने का प्रस्ताव पारित किया।
घूमने जाएंगे पार्षद
नगरपरिषद उपसभापति इसरार अहमद ने बोर्ड में पार्षदों को घुमाने तथा दूसरे निकायों की कार्यप्रणाली से अवगत कराने का प्रस्ताव रखा। जिसे बोर्ड ने सर्व सम्मति से पास किया। वहीं सभापति ने घोषणा की मैसूर के लिए सभी पार्षदों का खर्चा नगरपरिषद उठाएगी।
अब घर-घर घंटी बजाकर मांगेगा कचरा: घर-घर कचरा संगहण को लेकर पार्षदों द्वारा मामले को उठाने के बाद आयुक्त ने बताया कि अब योजना के तहत ऑटो टिपर संचालक घर-घर घंटी बजाकर कचरा मांगेगा। साथ ही सडक़ पर पड़े कचरे को भी उठाएगा। इस दौरान पार्षद ने अवधेश सिंह गुर्जर, धीरू जाट ने मवेशियों को डम्पिंग यार्ड में नहीं डालने तथा दूसरी जगह चिह्नित करने का मामला उठाया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned