उपभोक्ताओं को घरेलू रसोई गैस का संकट, रजिस्ट्रेशन के बाद एक सप्ताह तक नहीं मिल रही डिलीवरी

बाड़ी. दीपावली के बाद अब सालगों का दौर चल रहा है। ऐसे में मैरिज होम, धर्मशाला और हर किसी स्थान पर शादी समारोह की धूम मची है। इस धूम के बीच उपभोक्ता को घरेलू रसोई गैस का संकट पैदा हो गया है। पंजीयन के बाद एक सप्ताह तक डिलीवरी नहीं मिल रही है। वहीं शादी समारोह में धड़ल्ले से घरेलू गैस का उपयोग किया जा रहा है।

By: Naresh

Published: 26 Nov 2020, 06:52 PM IST

उपभोक्ताओं को घरेलू रसोई गैस का संकट, रजिस्ट्रेशन के बाद एक सप्ताह तक नहीं मिल रही डिलीवरी
-शादी समारोह में धड़ल्ले से हो रहा है घरेलू गैस का उपयोग

बाड़ी. दीपावली के बाद अब सालगों का दौर चल रहा है। ऐसे में मैरिज होम, धर्मशाला और हर किसी स्थान पर शादी समारोह की धूम मची है। इस धूम के बीच उपभोक्ता को घरेलू रसोई गैस का संकट पैदा हो गया है। पंजीयन के बाद एक सप्ताह तक डिलीवरी नहीं मिल रही है। वहीं शादी समारोह में धड़ल्ले से घरेलू गैस का उपयोग किया जा रहा है। देखने में आ रहा है कि गैस एजेंसी के हॉकर खुद धर्मशाला और मैरिज होमों में घरेलू गैस पहुंचा रहे हैं। ऐसे में गैस एजेंसी संचालक की कार्यप्रणाली पर भी संदेह प्रकट हो रहा है।
जानकारी के अनुसार गैस एजेंसी द्वारा उपलब्ध कराए गए मोबाइल नंबर पर जब गैस सप्लाई डिलीवरी के लिए रजिस्ट्रेशन किया जाता है, तो कुछ दिन पूर्व तक एक या दो दिन में ही गैस की सप्लाई मिल जाती थी, लेकिन दीपावली त्योहार से अचानक घरेलू गैस का ऐसा संकट पैदा हुआ है कि उपभोक्ता को एक सप्ताह तक डिलीवरी नहीं मिल रही। कई उपभोक्ताओं ने बताया कि उन्होंने 18 और 19 नवंबर को रजिस्ट्रेशन किया है, लेकिन एक सप्ताह होने को है, उन्हें डिलीवरी नहीं दी गई। ना ही एजेंसी संचालक उन्हें कोई संतुष्ट पूर्ण जवाब दे रहे हैं। जबकि देखने में आ रहा है कि जितने भी मैरिज होम, धर्मशाला हैं, जहां शादी समारोह हो रहे हैं, वहां घरेलू गैस का धड़ल्ले से उपयोग हो रहा है। इसको लेकर ना तो एजेंसी संचालक ध्यान दे रहा है और ना ही स्थानीय प्रशासन विभाग कोई कदम उठा रहा है।
इनका कहना है
घरेलू गैस की कहीं कोई किल्लत नहीं है। उपभोक्ता को रजिस्ट्रेशन के बाद दूसरे या तीसरे दिन सप्लाई दी जा रही है। यदि किसी क्षेत्र विशेष में सप्लाई नहीं पहुंची है तो उसके विशेष कारण हो सकते हैं। फिर भी अगर समस्या आ रही है तो उसके समाधान का प्रयास किया जाएगा।
शंभू दयाल गुप्ता, एजेंसी संचालक, बाड़ी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned