दो स्थानों पर मिले फुटेज, लेकिन आरोपी अभी तक नहीं,एक माह बाद भी पुलिस के हाथ खाली

धौलपुर. दिनदहाड़े निहालगंज थाना इलाके के चोपड़ा मंदिर के समीप ई-मित्र संचालक के साढ़े चार लाख रूपए की राशि का बैग पार हो जाने के मामले को एक माह से अधिक का समय हो जाने के बाद भी पुलिस अभी तक किसी भी आरोपी को पकडऩा तो दूर चिन्हित तक नहीं कर सकी है। हालांकि घटना के बाद पुलिस को घटना स्थल व बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरों से आरोपियों के फुटेज भी मिले

By: Naresh

Published: 26 Dec 2020, 02:28 PM IST

दो स्थानों पर मिले फुटेज, लेकिन आरोपी अभी तक नहीं,एक माह बाद भी पुलिस के हाथ खाली
-निहालगंज थाना क्षेत्र में ४.५० लाख की राशि के बैग चोरी का मामला

धौलपुर. दिनदहाड़े निहालगंज थाना इलाके के चोपड़ा मंदिर के समीप ई-मित्र संचालक के साढ़े चार लाख रूपए की राशि का बैग पार हो जाने के मामले को एक माह से अधिक का समय हो जाने के बाद भी पुलिस अभी तक किसी भी आरोपी को पकडऩा तो दूर चिन्हित तक नहीं कर सकी है। हालांकि घटना के बाद पुलिस को घटना स्थल व बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरों से आरोपियों के फुटेज भी मिले, लेकिन अभी तक आरोपियों का चिन्हित नहीं हो पाना पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर रहा है। पुलिस मामले में अनुसंधान जारी होने की बात कहते हुए टालमटोल में लगी हुई है।
उल्लेखनीय है कि गत २० नम्बबर को कौलारी थाना इलाके के गांव कोलुआ का पुरा निवासी बसंत कुमार कुश्वाह जो कि गांव करीमपुर में ई-मित्र बीसी का कार्य करते हैं। इसी कार्य के चलते शुक्रवार दोपहर वह धौलपुर संतर रोड स्थित एक बैंक आया। यहां बैंक से साढ़े ४ लाख रूपए की राशि निकाल कर बाइक से अपने गांव के रवाना हो गए। रास्ते में जब बसंत निहालगंज थाना इलाके के चोपड़ा मंदिर के पास पहुंचे, तो रास्ते में उन्हें एक युवक ने हाथ देकर रोक लिया और किराए के लिए पैसे नहीं होने की बात कहते हुए बीस रूपए मांगे। इस दौरान बसंत ने बीस रूपए नहीं होने की बात कही, इस पर युवक ने बीस रूपए की जगह पचास रूपए की मांग करते हुए बातें करना शुरू कर दिया। युवक ने बातों के दौरान पीछे से किसी ने बाइक की डिग्गी में रखा साढ़े ४ लाख रूपए की राशि का बैग पार कर लिया। पीडि़त ने बताया कि जिस युवक ने उसे रोका था, उसके साथ दो युवक और भी थे। बाइक से नकदी का बैग गायब होने के बाद पीडि़त निहालगंज थाने पहुंचा और पुलिस को घटनाक्रम के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने घटना स्थल का मौका मुआयना किया । इस दौरान घटनास्थल के आसपास सीसीटीवी कैमरे लेगे होना सामने आया। पुलिस ने पीडि़त के बैंक जाने की बात पुष्टि करने के लिए बैंक परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाले। यहां पुलिस ने दो संदिग्ध युवकों के पीडि़त के आसपास घूमते नजर आए। यहीं युवक घटना स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में आए है। ऐसे में आरोपियेां का बैंक परिसर से पीडि़त के पीछे लग जाना सामने आ रहा है। थाना प्रभारी ने बताया कि वारदात में शामिल युवकों ने मुंह पर मास्क लगा रखे थे, जिसके कारण उनके चेहरे साफ नजर नहीं आ रहे है। हाल-हुलिए से आरोपी २२-२३ साल के युवक का होना सामने आया है। पुलिस ने फुटेज के आधार पर आरोपियों को चिन्हित करने का कार्य शुरू किया गया। लेकिन सवा महीने होने को है, लेकिन अभी तक पुलिस किसी भी आरोपी को चिन्हित नहीं कर सकी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned