तीन दिन मगरमच्छ की दहशत के आगोश में रहा गमां गांव....
धौलपुर. चम्बल नदी के बहाव के साथ तटवर्ती गांव गमां में तीन-चार दिन पहले घुसे एक मगरमच्छ से पैदा हुई दहशत शुक्रवार दोपहर को उस वक्त खत्म हुई, जब वन विभाग की टीम ने उसे नदी में छोड़ दिया। बहाव के साथ गांव के खेतों की तरफ आया पांच-सात फीट लम्बा मगरमच्छ तीन-चार दिन से एक गड्ढे में पड़ा हुआ था। उसके ऊपर आने के भय के चलते ग्रामीणों ने खेतों में जाना ही छोड़ दिया। वहीं रास्ते में भी सतर्कता बरतते हुए निकल रहे थे। दहशत का आलम भी यह था कि गांव के लोगों ने दिन में ही अपने घरों पर ताले लगा दिए थे। मगरमच्छ को गड्ढे से निकालने के लिए ग्रामीण तीन दिन से वन विभाग की टीम को फोन कर रहे थे। उन्होंने जयपुर तक शिकायत कर दी, लेकिन कोई लाभ नहीं निकला। ग्रामीणों की सूचना पर जब शुक्रवार सुबह मीडियाकर्मी पहुंचे तो ग्रामीणों ने आपबीती सुनाई। इस पर मीडियाकर्मियों ने भी वन विभाग के अधिकारियों को सूचित किया। इसके बाद रेंजर हेमराज के नेतृत्व में टीम मौके पर पहुंची और मगरमच्छ को कुएं से निकाल चम्बल नदी में छोड़ा।
फोटो नरेश लवानिया

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned