इतना दर्द भगवान किसी को नहीं दे...टुकड़ों में समेटे बेटों के शव

इतना दर्द भगवान किसी को नहीं दे...टुकड़ों में समेटे बेटों के शव
इतना दर्द भगवान किसी को नहीं दे...टुकड़ों में समेटे बेटों के शव

mahesh gupta | Updated: 11 Oct 2019, 11:10:02 AM (IST) Dholpur, Dholpur, Rajasthan, India

चम्बल नदी के भूडा घाट पर मंगलवार को देवी प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान डूबे 6 युवकों में से शेष बचे 2 युवकों के शवों के अवशेष गुरुवार को मिले। हालांकि शवों को मगरमच्छों ने क्षत-विक्षत कर दिया था। लेकिन अवशेषों व उनके कपड़ों से परिजनों ने शिनाख्त की है।

गढ़ी जाफर में पर डूबे युवक का नहीं मिला शव
राजाखेड़ा. चम्बल नदी के भूडा घाट पर मंगलवार को देवी प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान डूबे 6 युवकों में से शेष बचे 2 युवकों के शवों के अवशेष गुरुवार को मिले। हालांकि शवों को मगरमच्छों ने क्षत-विक्षत कर दिया था। लेकिन अवशेषों व उनके कपड़ों से परिजनों ने शिनाख्त की है। दिहोली थानाधिकारी सुमन चौधरी ने बताया कि गौशाला धौलपुर निवासी युवक भोला पुत्र गिर्राज का क्षत विक्षत आधा शव बचाव दल को एक गड्ढे में फंसा मिला। जिसे मगरमच्छ ने खा लिया था। उसके शरीर पर पूर्व में हुए आपरेशन के निशानों से परिजनों ने उसकी पहचान की। जबकि बरेह निवासी सचिन पुत्र तारासिंह के शव के कुछ ही अवशेष बच पाए थे। उसकी पहचान उसके द्वारा पहने हुए अंडरवियर के आधार पर उसके परिजनों ने की।
डीएनए जांच होगी :पुलिस ने पूर्ण संतुष्टि के लिए शवों के नमूने फोरेंसिक जांच के लिए प्रयोगशाला भेजे हैं। जिससे उनके शवो की अंतिम पुष्टि हो सके। अवशेषों को पोस्टमार्टम और कानूनी प्रक्रिया के बाद परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है।
चुल्ला के परिजनों की आस अधूरी : दूसरी ओर गढी जाफर घाट पर डूबे युवक चुल्ला पुत्र प्रतापसिंह का शव तीसरे दिन भी बरामद नहीं हो सका।
पूरे दिन परिजन और लोग बड़ी संख्या में चम्बल किनारे बैठे रहे। लेकिन उनकी चम्बल की ओर ताकती आंखें गुरुवार को भी सूनी रह गई। पिता प्रतापसिंह तो बेटे के शव की आस में पथरा सा गया।
उत्तरप्रदेश सीमा तक खोज: बचाव दल ने शव की बरामदगी के लिए अथक प्रयास जारी रखे। उत्तर प्रदेश की सीमाओं तक जाकर गोते लगाए, लेकिन असफल रहे। तलाश अभियान शुक्रवार को भी जारी रहेगा।
एक-एक लाख की आर्थिक सहायता
धौलपुर . जिले में मंगलवार को मूर्ति विसर्जन के दौरान डूबे दस जनों में से सात जनों के परिवार को मुख्यमंत्री सहायता कोष से एक-एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की गई है। जिला कलक्टर ने बताया कि उपखण्डाधिकारी धौलपुर, राजाखेड़ा एवं सैपऊ से प्राप्त प्रस्तावों के अनुसार अर्जुन पुत्र बिजेन्द्र सिंह, अनिल पुत्र लटूरी, प्रवेश पुत्र लालाराम, अमित पुत्र राजेश, वीनू परमार पुत्र रामप्रकाश, सचिन पुत्र वीरेन्द्र कुमार तथा अमन पुत्र विशनप्रकाश के परिजनों को 1-1 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned