बाजार से गायब गुटखा, बढ़ी कालाबाजारी, दो से तीन गुने मंहगे दामों पर बिका पान-मसाला व गुटखा

धौलपुर. जिले में कोरोना पॉजीटिव की संख्या में इजाफा होने के बाद शहर के अधिकांश क्षेत्र में कफ्र्यू लगा दिया गया है। ऐसे में शहर में पान मसाला, गुटखा की डिमांड बंपर बढी है। उसका फायदा दुकानदार चार गुनी कीमत वसूलकर उठा रहे है। दूसरी और शौकीन मनपसंद गुटखा की मुंहमांगी कीमत देने को तैयार है। वर्तमान में पांच रुपये के गुटखा की कीमत 15 से 20 रुपये तक वसूली जा रही है। आलम यह है कि सोकर उठने से लेकर रात होने तक गुटखा की तलाश जारी रहती है।

By: Naresh

Published: 14 Jun 2020, 08:48 AM IST


बाजार से गायब गुटखा, बढ़ी कालाबाजारी, दो से तीन गुने मंहगे दामों पर बिका पान-मसाला व गुटखा
-प्रशासन भी मूक दर्शक
धौलपुर. जिले में कोरोना पॉजीटिव की संख्या में इजाफा होने के बाद शहर के अधिकांश क्षेत्र में कफ्र्यू लगा दिया गया है। ऐसे में शहर में पान मसाला, गुटखा की डिमांड बंपर बढी है। उसका फायदा दुकानदार चार गुनी कीमत वसूलकर उठा रहे है। दूसरी और शौकीन मनपसंद गुटखा की मुंहमांगी कीमत देने को तैयार है। वर्तमान में पांच रुपये के गुटखा की कीमत 15 से 20 रुपये तक वसूली जा रही है। आलम यह है कि सोकर उठने से लेकर रात होने तक गुटखा की तलाश जारी रहती है। शहर की गलियां में कई स्थानों पर मंहगे दामों में तम्बाकू उत्पाद बेचे जा रहे है। ऐसे में जिला प्रशासन भी जिले में बढ़ते गुटखा के कालाबाजारी करने वालों को देखकर भी मूकदर्शक बना हुआ है।
उल्लेखनीय है कि दो दिन
में अचानक कोरोना संक्रमितों में बड़ा इजाफा हुआ है, जिलेभर में करोनो पॉजीटिवों का आंकड़ा ९७ पर पहुंच गया है। पॉजीटिव मरीजों के बाद जैसे ही शहर में कफ्र्यू लगाने की तैयारी हुई, ऐसे में स्थानीय पान मसाला, गुटखा थोक व्यवसायियों ने अपने-अपने गोदामों को खाली करना शुरू कर दिया और व्यवसायियों ने माल को अपने घरों व अन्य स्थानों पर छुपा दिया। ऐसे में दोपहर तक बाजार में पान मसाला व गुटका के दामों को दो से तीन गुना हो गए।
शहर में जमकर कालाबाजारी
शहर में थोक व्यापारियों की ओर से छोटे-छोटे दुकानदारों को मंहगे दामों में तम्बाकू उत्पादों को बेचा जा रहा है। जिसके कारण बाजार में तम्बाकू उत्पादों की कमी तीन से चार गुना तक मंहगी हो गई है। इतना ही नहीं सिगरेट व बीड़ी के दामों में भी रेट बढ़ा दी। दुकान पर आने वाले ग्राहकों को बाजार में माल की कमी का हवाला देकर दुकानदारों की ओर से चोरी-छुपे गुटका, खैनी व पान मसाला को कई गुना मंहगे दामों पर बेचकर चलकर लूट मचाई।
अचानक बढ़े तम्बाकू दामों पर प्रशासन की चुप्पी
जिले में अचानक बढ़े तम्बाकू उत्पादों के दामों पर जिला प्रशासन ने चुप्पी साधे हुए है। जिला प्रशासन को शहर, कस्बों व गांवों में कहीं भी मंहगे दामों पर बेचे जाने की शिकायतें भी मिली, लेकिन सब कुछ देखने के बाद भी कोई भी कार्रवाई प्रशासन की ओर से नहीं की गई। इसके अलावा प्रशासन की ओर से तम्बाकू उत्पादों के कालाबाजारी को रोकने के लिए भी कोई रणनीति नहीं बनाई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned