पुलिस थाने के बराबर में चलता था अवैध बजरी का खेल, प्रशासन ने खोली पोल

धौलपुर. प्रशासन ने रणनीति बना कर धौलपुर शहर के सदर थाने के पीछे से बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित चंबल के स्टॉक को जब्त किया है। थाने के पीछे से रात आठ बजे से यहां से बजरी को ट्रकों में भरकर पड़ोसी जिलों में भेजा जाना सामने आया है। मामले में सबसे गंभीर बात यह रही कि प्रशासन ने कार्रवाई से पहले जिला पुलिस को इस बात की भनक तक नहीं लगने दी। प्रशासन ने औचक कार्रवाई ने मामले में पुलिस की मिलीभगत की ओर इशारा कर दिया है।

By: Naresh

Published: 22 Jan 2021, 07:43 PM IST

पुलिस थाने के बराबर में चलता था अवैध बजरी का खेल, प्रशासन ने खोली पोल
-सदर थाने के पीछे मिला बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित बजरी का स्टॉक
-रात आठ बजे से शुरू होता बजरी ट्रकों में भरने का खेल
-पुलिस की कार्यशैली पर खड़ा हुआ सवाल
धौलपुर. प्रशासन ने रणनीति बना कर धौलपुर शहर के सदर थाने के पीछे से बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित चंबल के स्टॉक को जब्त किया है। थाने के पीछे से रात आठ बजे से यहां से बजरी को ट्रकों में भरकर पड़ोसी जिलों में भेजा जाना सामने आया है। मामले में सबसे गंभीर बात यह रही कि प्रशासन ने कार्रवाई से पहले जिला पुलिस को इस बात की भनक तक नहीं लगने दी। प्रशासन ने औचक कार्रवाई ने मामले में पुलिस की मिलीभगत की ओर इशारा कर दिया है।
जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने बताया कि शहर से गुरजने वाले प्रतिबंधित चंबल बजरी से भरे ट्रेक्टर-ट्रॉलियों के आवागमन पर खनन विभाग, राजस्व विभाग व वन विभाग की टीम को निगरानी के रखने के निर्देश दिए गए थे। इस दौरान बजरी के ट्रेक्टरों का सदर थाने के पास स्टॉक रखने की जानकारी मिली। सात-आठ दिन की निगरानी के बाद तीनों विभागों की टीम ने बुधवार रात मौके पर पहुंची। यहां टीम के पहुंचने पर बजरी परिवहन में लिप्त लोगों ने हडकंप मच गया। इस दौरान टीम ने यहां से एक डंपर व ट्रेक्टर को जेसीबी के रूप में जब्त कर लिया गया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जानकारी जुटाई। कार्रवाई के दौरान एडीएम भारती भारद्वाज, तहसीलदार भगवत शरण त्यागी, खनन विभाग, राजस्व विभाग व वन विभाग की टीम मौजूद रही।
कलक्टर पहुंचे मौके पर
प्रतिबंधित बजरी का बड़ी मात्रा में स्टॉक मिलने की सूचना पर जिला कलक्टर राकेश कुमार बुधवार देर रात को मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया। साथ ही प्रशासन की टीम को इस प्रकार की कार्रवाईयां निरंतर करने के निर्देश दिए। कलक्टर ने बताया कि प्रतिबंधित बजरी परिवहन को रोकने के लिए सभी विभागों को विशेष निगरानी रखने के निर्देश दिए गए है। थाने के समीप मिले बजरी के इतने बड़े स्टॉक के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
उसी का निकला डंपर, जिसका पंचर हुआ ट्रक
उल्लेखनीय है कि गत 4 जनवरी को रोडवेज बस स्टेण्ड के सामने बजरी से भरा हुआ एक ट्रक पंचर हो गया। सूचना मिलने पर निहालगंज थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची। लेकिन पुलिस का कहना था कि इसमें जो बजरी है उसका सिंध का रवन्ना है। जबकि प्रशासन की कार्रवाई के दौरान बुधवार को जो डंपर जब्त किया गया, वह भी उसी मालिक का निकला, जिसका बजरी का ट्रक हाइवे पर पंचर हो गया था। ऐसे में हाइवे से गुजरने वाले सिंध बजरी के रवन्नों से संचालित वाहनों पर विशेष तैयारी की आवश्यकता नजर आ रही है।
काफी समय से चल रहा कारोबार
सूत्रों ने बताया कि सदर थाने के पास से काफी समय से प्रतिबंधित बजरी के ट्रकों को भरकर चलाए जाने का खेल चल रहा था। थाने से पास चल रहे इतने बड़े खेल की भनक अभी तक पुलिस को नहीं लगना कई सवाल खड़े रहा है। आखिर किस की देखरेख में यह खेल चलाया जा रहा है। सूत्रों ने बताया कि सागरपाड़ा पुलिस चैक पोस्ट पर प्रशासन की टीम का डेरा लगने के बाद यहां से गुजरने वाले बजरी के ट्रेक्टर-ट्रॉलिया मचकुण्ड से चल कर बाड़ी रोड से हाउसिंग बोर्ड चौकी मार्ग से सदर थाना क्षेत्र प्रवेश कर सदर थाने के पास एकत्र होते थे। यहां से रात आठ बजे ट्रकों में बजरी को भरकर आगरा, भरतपुर जिलों के रवाना किया जाता था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned