शहर के पास हो रहा अवैध खनन, देखकर भी मूक दर्शक बना खनन विभाग

धौलपुर. कहने को अवैध रोकने के लिए प्रशासन की ओर से तमाम प्रयास किए जा रहे हो, लेकिन असल हकीकत किसी से छुपी नहीं है। शहर के समीपवर्ती गांव हिनौदा व विश्नौदा के वन क्षेत्र में लम्बे समय से अवैध खनन हो रहा है। गंभीर बात यह है कि यहां एक बार भी कार्रवाई नहीं होने के कारण खनन माफियाओं के हौंसले बुलंदियों पर है। प्रतिदिन भारी मात्रा में अवैध खनन के पत्थरों को बिक्री के लिए शहर में भेजा रहा है। यहां भी जिला मुख्यालय पर इन पर कोई भी कार्रवाई होती नजर नहीं आ रही है।

By: Naresh

Published: 25 Oct 2020, 02:23 PM IST

शहर के पास हो रहा अवैध खनन, देखकर भी मूक दर्शक बना खनन विभाग
धौलपुर. कहने को अवैध रोकने के लिए प्रशासन की ओर से तमाम प्रयास किए जा रहे हो, लेकिन असल हकीकत किसी से छुपी नहीं है। शहर के समीपवर्ती गांव हिनौदा व विश्नौदा के वन क्षेत्र में लम्बे समय से अवैध खनन हो रहा है। गंभीर बात यह है कि यहां एक बार भी कार्रवाई नहीं होने के कारण खनन माफियाओं के हौंसले बुलंदियों पर है। प्रतिदिन भारी मात्रा में अवैध खनन के पत्थरों को बिक्री के लिए शहर में भेजा रहा है। यहां भी जिला मुख्यालय पर इन पर कोई भी कार्रवाई होती नजर नहीं आ रही है।
उल्लेखनीय है कि शहर के समीपवर्ती गांव हिनौदा व विश्नौदा के वन क्षेत्र में बिना अनुमति के लम्बे समय से अवैध खनन किया जा रहा है। यहां जिस स्थान पर यह अवैध खनन का कार्य चल रहा है, वहां तक पहुंचने की डगर भी ऊबड़-खाबड़ है, जिसके कारण यहां पर अभी तक विभागीय स्तर पर कोई भी दल नहीं पहुंच पाने की जानकारी मिल रही है, इसके अलावा यहां पर कोई भी कार्रवाईयों भी नहीं हुई है। कार्रवाईयां नहीं होने कारण खनन में लिप्त लोगों की ओर से धड़ल्ले से अपने कार्य को अंजाम दिया जा रहा है।
जिला मुख्यालय पर पहुंच रहा पत्थर
शहर के समीपवर्ती क्षेत्र के गांव अवैध खनन के जरिए निकाला जा रहा पत्थर बिक्री के लिए ट्रैक्टर-ट्रॉलियों के जरिए जिला मुख्यालय पर पहुंच रहा है। यहां पत्थरों से भरे ट्रेक्टर-ट्रॉलियों की एक तरह से मण्डी भी लगती है। लेकिन इसके बाद यहां खनन विभाग के किसी भी अधिकारी ने पहुुंचकर कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाई है। इतना ही नहीं विभागीय अधिकारियों को यह तक जानकारी नहीं है कि जिला मुख्यालय पर आने वाला पत्थर किस स्थान से यहां पहुंच रहा है।
जिम्मेदारी से पल्ला झाड रहा खनन विभाग
जिले में हो रहे अवैध खनन को लेकर जिले का खनन विभाग पल्ला झाडता हुआ नजर आ रहा है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि अवैध खनन वन क्षेत्र में हो रहा है, तो उसे रोकने के लिए जिम्मेदारी भी वन विभाग की है। ऐसे में प्रशासन की व्यवस्थाओं पर कई सवाल खड़े हो गए है।

शहर के पास हो रहे अवैध खनन की जानकारी नहीं है, अगर खनन वन क्षेत्र में हो रहा है तो उसे रोकने के लिए वन विभाग जिम्मेदार है। शहर में आने वाले पत्थर पर विभाग की ओर से कार्रवाई की जाती है।
ललित मंगल, सहायक खनिज अभियंता, खनन विभाग, धौलपुर।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned