मामूली हलचल ध्वस्त कर देगी विद्युत आपूर्ति, सपोर्टिंग प्लेट्स की लगातार हो रही चोरी

राजाखेड़ा. धौलपुर जिला मुख्यालय से राजखेड़ा तक आ रही 132 केवी हाईटेंशन लाइन के आधा दर्जन टॉवर्स छोटे मोटे चोरों द्वारा काटे गए सपोर्टिंग प्लेट्स की चोरी के चलते अपनी पकड़ और मजबूती खो चुके हैं। ऐसे में ये टावर कभी भी मामूली हलचल से भी जमींदोज हो सकते है। अगर कभी ऐसा हुआ तो 20 से 25 दिन तक सम्पूर्ण उपखण्ड विद्युत विहीन हो सकता है, जो क्षेत्र के लिए बड़ी समस्या पैदा कर सकता है।

By: Naresh

Published: 17 Oct 2020, 06:31 PM IST

मामूली हलचल ध्वस्त कर देगी विद्युत आपूर्ति, सपोर्टिंग प्लेट्स की लगातार हो रही चोरी

132 केवी टावर्स से सपोर्टिंग प्लेट्स की लगातार हो रही चोरी

थानाधिकारी से पुलिस अधीक्षक तक एक वर्ष में भी नहीं रोक सके चोरी
2016 में भी गिर पड़ा था टावर
राजाखेड़ा. धौलपुर जिला मुख्यालय से राजखेड़ा तक आ रही 132 केवी हाईटेंशन लाइन के आधा दर्जन टॉवर्स छोटे मोटे चोरों द्वारा काटे गए सपोर्टिंग प्लेट्स की चोरी के चलते अपनी पकड़ और मजबूती खो चुके हैं। ऐसे में ये टावर कभी भी मामूली हलचल से भी जमींदोज हो सकते है। अगर कभी ऐसा हुआ तो 20 से 25 दिन तक सम्पूर्ण उपखण्ड विद्युत विहीन हो सकता है, जो क्षेत्र के लिए बड़ी समस्या पैदा कर सकता है।
क्या है मामला
राजाखेड़ा-मरेना-धौलपुर 132 केवी हाईटेंशन लाइन के लिए स्थापित पोलों में से सामालिया पुरा गांव के पास टॉवर लोकेशन 100 से 106 तक में से सपोर्टिंग एंगल पीस बड़ी तादाद में बार-बार चोरी कर लिए जाते है। जिससे इन टावर्स की मजबूती और आधार ही खत्म हो जाता है। विद्युत प्रसारण निगम के सहायक अभियंता ब्रजेश कुमार ने बताया की मार्च माह में पेट्रोलिंग के दौरान उन्होंने इन टावर्स को खतरनाक स्थिति में पाया तो पुलिस को सूचना दी, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई।
बार बार करते है चोरी

ब्रजेश ने बताया कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। इन प्लेट्स की चोरी कुछ ग्रामीणों द्वारा ही बार बार की जाती है। इस चोरी में उन्हें कोई बड़ा फायदा नहीं होता। प्लेट्स को कबाडिय़ों के यहां मामूली कीमत में बेच आते है, लेकिन इससे बेशकीमती टावर्स ओर विद्युत प्रसारण पर हमेशा बड़ा खतरा मंडराता रहता है।
पुलिस की अनदेखी बढ़ा रही खतरा
सहायक अभियंता ब्रजेश ने बताया कि टावर्स से चोरी की रिपोर्ट दर्ज करने और चोरों के विरुद्ध कार्यवाही के लिए थानाधिकारी और पुलिस उपाधीक्षक ही नहीं, खुद पुलिस अधीक्षक को 22 अप्रेल 2019 से 29 अप्रेल 2020 तक चार बार पत्र लिख चुके है। फिर भी कार्यवाही न होना पुलिस व्यवस्था पर ही सवालिया निशान खड़ा कर रहा है। अब तो हम निराश होकर शिकायत देना ही बंद कर चुके हैं।

पहले भी गिर चुका है एक टावर
गौरतलब है कि ठीक इसी प्रकार सपोर्टिंग प्लेट चोरी होने से कमजोर होकर मई 2016 में भी एक टावर गिर पड़ा था। लंबे समय विद्युत आपुर्ति बंद होने से त्राहि त्राहि मच गई थी। उपखंड में पेयजल व्यवस्था के लिए धौलपुर से बड़ी क्षमता के दर्जनों जनरेटर भेज कर ट्यूब वेल चलए गए थे। जबकि पूरे क्षेत्र में अफरा तफरी मच गई थी। उसके बाद भी पुलिस ने सबक नहीं सीखा और प्रसारण निगम की शिकायतों को ठंडे बस्ते में डालती रही है।

इनका कहना है
पुलिस से शिकायत करते करते थक चुके । बार बार चोरी होती है। हम बदल देते है। लेकिन कब तक बदले और कहां से लाएं। ग्रामीणों से भी बात की पर कोई सुधार नहीं है। मामूली आंधी या आसपास की हलचल कभी भी आपूर्ति को टॉवर्स के साथ ही ध्वस्त कर देगी। शुक्रवार को हम फिर पेट्रोलिंग पर है और प्लेट्स की चोरी फिर हुई है।

ब्रजेश कुमार, सहायक अभियंता , विद्युत प्रसारण निगम, राजाखेड़ा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned