मुंहबोला भाई ही निकला अपहरण का मास्टर मांइड

धौलपुर. 55 लाख रूपए की फिरौती के लिए पोहे के ठेले वाले के 11 वर्षीय बालक का अपरहण करने वाला मुख्य आरोपी उसका मुंहबोला भाई ही निकला। पुलिस ने मामले मेें मुख्य आरोपित सहित पांच जनों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों से गहनता से पूछताछ शुरू कर दी है।

By: Naresh

Published: 28 Nov 2020, 06:20 PM IST

मुंहबोला भाई ही निकला अपहरण का मास्टर मांइड
-सरमथुरा से बालक के अपहरण के मामले में पांच आरोपी गिरफ्तार
-कड़ी से कड़ी जोड़कर मुख्य आरोपी तक पहुुंची पुलिस
धौलपुर. 55 लाख रूपए की फिरौती के लिए पोहे के ठेले वाले के 11 वर्षीय बालक का अपरहण करने वाला मुख्य आरोपी उसका मुंहबोला भाई ही निकला। पुलिस ने मामले मेें मुख्य आरोपित सहित पांच जनों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों से गहनता से पूछताछ शुरू कर दी है।
उल्लेखनीय है कि गत 18 नवम्बर को सरमथुरा निवासी जगदीश बंसल के11 वर्षीय पुत्र सुखदेव बंसल उर्फ कान्हा का अपहरण के मामला सामने आने के बाद पुलिस ने गंभीरता दिखाते हुए पुलिस 24 घंटे में अपह्रत बालक को मध्य प्रदेश के नूराबाद इलाके से मुक्त करा लिया। मामले में गहनता से अनुसंधान करते हुए पुलिस ने मामले में अपहरण के मामले शामिल अंकित राठौड़ निवासी इस्लामपुरा मुरैना, मध्य प्रदेश, शाहरूख निवासी नंदीपुरा रोड कस्बा मुरैना, मध्य प्रदेश, मौनू सिंह कुश्वाह निवासी तेजसिंह का पुरा थाना बागचीनी, मुरैना मध्य प्रदेश, विकास गोयल निवासी सिंगलपुुरा कस्बा मुरैना, मध्य प्रदेश, आशीष उर्फ आशू निवासी सविता नगर थाना जोरा मुरैना मध्यप्रदेश को गिरफ्तार किया है।
कड़ी से कड़ी जोड़कर दबोचे अपह्रर्ता
जिला पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने बताया कि जिस बालक का अपहरण हुआ था, उसके पिता जगदीश बंसल के मोबाइल पर बालक के अपहरण हो जाने की जानकारी देते हुए फिरौती के एवज में 55 लाख रूपए की मांग की है। इस पर पुलिस ने मुखबिर के जरिए सूचना मिली कि उक्त मोबाइल नंबर को मुरैना जिले के इस्लामपुरा स्थित अमीन मोबाइल सेंटर से रिचार्ज कराया जाना सामने आया। इसके बाद पुलिस ने मोबाइल सेंटर पहुंच कर मोबाइल रिचार्ज कराने के वाले की जानकारी जुटाई। इस दौरान अंकित नाम के युवक की ओर से मोबाइल रिचार्ज कराए जाना सामने आया। पुलिस ने अंकित को हिरासत में लेकर पूछताछ की और मामले से जुड़े अन्य आरोपियों को दबोच लिया।
भाई ही निकला मास्टर माइंड
मामले के गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ से पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि मुरैना के सिंगलपुरा में रहने वाले विकास गोयल का ताऊ हाल में सरमथुरा में रहता है और वह उसके यहां आता-जाता रहता था। विकास के ताऊ का दोस्त जगदीश बंसल था, जिससे विकास ताऊ कहकर ही बुलाता था। जगदीश की हाल ही में बढ़ी शानो-शौकत को देखते हुए आरोपी विकास ने उसके बेटे सुखदेव बसंल के अपहरण की योजना तैयार कर ली।
बाइक से बैठकार ले गए थे बालक को
पूछताछ में सामने आया है कि गत 18 नवम्बर सुबह जब सरमथुरा निवासी जगदीश बंसल का पुत्र सुखदेव बाजार आया था, इस दौरान उसका पीछा करते हुए विकास गोयल अपने साथी मौनू कुश्वाह व आशीष के साथ बाइक से पहुंच गया। यहां बालक का अपहरण करके मुरैना के कैलारस क्षेत्र में ले गया। यहां बालक को शाहरूख व अंकित के पास रखा गया। यहां से ही शाहरुख ने मोबाइल के बालक के पिता को अपहरण हो जाने और छोडऩे के एवज में 55 लाख रूपए की मांग की थी। पूछताछ में सामने आया है कि बालक बंधक बनाए जाने के दौरान नींद की गोलियां भी खियाए जाना सामने आया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned