नवरात्र का कल से होगा आगाज, इस बार भी मां राज राजेश्वरी रहेंगी गुफा में

बाड़ी. उपखंड की राज राजेश्वरी कैला माता मंदिर पर शनिवार से शारदीय नवरात्रा का आगाज होगा। ऐसे में 9 दिन तक नवरात्रे में अलग अलग दिन माता रानी की साज सज्जा की जाएगी। वहीं विद्वानों द्वारा घट स्थापना के साथ माता रानी के पाठों का आयोजन किया जाएगा। इस बार भी मां राजराजेश्वरी के दर्शन उनकी गुफा में ही होंगे, क्योंकि भव्य मंदिर का निर्माण कार्य अभी भी पूरा नहीं हो सका है, जो करीबन 4 वर्ष से चल रहा है।

By: Naresh

Published: 16 Oct 2020, 07:15 PM IST

नवरात्र का कल से होगा आगाज, इस बार भी मां राज राजेश्वरी रहेंगी गुफा में
-मंदिर का निर्माण कार्य नहीं हो सका है पूरा
-करीबन 4 वर्ष से चल रहा है माता रानी के भव्य मंदिर का जीर्णोद्धार
बाड़ी. उपखंड की राज राजेश्वरी कैला माता मंदिर पर शनिवार से शारदीय नवरात्रा का आगाज होगा। ऐसे में 9 दिन तक नवरात्रे में अलग अलग दिन माता रानी की साज सज्जा की जाएगी। वहीं विद्वानों द्वारा घट स्थापना के साथ माता रानी के पाठों का आयोजन किया जाएगा। इस बार भी मां राजराजेश्वरी के दर्शन उनकी गुफा में ही होंगे, क्योंकि भव्य मंदिर का निर्माण कार्य अभी भी पूरा नहीं हो सका है, जो करीबन 4 वर्ष से चल रहा है। लेकिन मां राजराजेश्वरी तब ही मंदिर के ऊपरी मंजिल पर विराजित होंगी। जब मंदिर पूर्ण रूप से बनकर तैयार हो जाएगा। जिसमें अभी करीबन 6 महीने और लगने की संभावना है।
मंदिर पुजारी राजेश शर्मा ने बताया कि यह मां राजराजेश्वरी हैं, जो कैला मैया करौली के प्रतिरूप में स्थापित की गई थी, जिन्हें बाड़ी के कुछ माता के भक्त करौली पैदल यात्रा के दौरान अपने साथ लेकर आए थे। जिसके बाद यहां मंदिर बनाया गया, लेकिन समय के साथ करीबन 40 वर्ष गुजरने को हैं, ऐसे में मंदिर के सामने जो नेशनल हाईवे 11 वीं के बाइपास की सडक़ है। वह बहुत ऊंची हो गई है और मंदिर नीचे चला गया था। जिसके चलते मंदिर का श्रद्धालुओं, भक्तों और जगदंबा ट्रस्ट पदाधिकारियों द्वारा जीर्णोद्धार कराए जाने का प्रस्ताव लिया गया। ऐसे में मंदिर का जीर्णोद्धार पिछले 4 वर्ष से लगातार चल रहा है, जो अब पूर्ण होने को है।
मंदिर का निर्माण कर रहे धौलपुर के कुम्हेरी गांव निवासी ठेकेदार सियाराम कुम्हेरी ने बताया कि मां राज राजेश्वरी का यह मंदिर अब अपने पूर्ण होने की स्थिति में है। फिर भी इसमें पूरा काम होने में करीबन 6 महीने से अधिक समय लगेगा। जिसमें माता के भवन की छतरी सहित गुंबदों का निर्माण किया जा रहा है। मंदिर के चारों कोनों पर छतरियों के साथ भवन का गुंबद बनेगा। गेट पर डोम बनाया जाएगा। यह मंदिर का यह भवन करीब 4 मंजिला ऊंचा होगा। जिसके पूर्ण होने में अभी 6 महीने का समय लगेगा।

जगदंबा जगदंबा ट्रस्ट के मंत्री संजीव कुमार ने बताया के मंदिर के निर्माण में भक्तों श्रद्धालुओं और शहर के लोगों सहित भामाशाह का विशेष योगदान रहा है। लगातार मंदिर का निर्माण कार्य उन्हीं के योगदान से चल रहा है। जल्द ही मंदिर का निर्माण अपने भव्य रूप में दिखाई देगा।

दर्शनों के लिए करनी होगी कोविड 19 नियमों की पालना
मंदिर ट्रस्ट के अनुसार जो भी श्रद्धालु मंदिर में माता रानी के दर्शन करने शारदीय नवरात्र में आएं, उन्हें कोविड 19 नियमों की पालना करनी होगी। जिसमें मास्क अनिवार्य है। साथ में सोशल डिस्टेंस और हाथों को सैनिटाइज किया जाना भी जरूरी है, जो व्यक्ति या श्रद्धालु नियमों की पालना नहीं करेंगे, उन्हें मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। ना ही मंदिर में भीड़ होने दी जाएगी। एक गेट से प्रवेश होगा और दूसरे गेट से उनकी निकासी होगी। मंदिर में भीड़ ना लगे इसके लिए भी समुचित इंतजाम किए गए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned