अब कैदी भी नहीं आएंगे अदालत

Now even prisoners will not come to courtलपुर. जिला न्यायालय परिसर में अस्थाई रूप से लगने वाली ढकेलों व दुकानों को भी 31 मार्च तक बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस अवधि में नियत फौजदारी प्रकरणों में भी जेल से कैदियों को पेशी पर लाने से रोक रहेगी। इसके अलावा पुलिस द्वारा पीसी रिमाण्ड आदि के लिए पेश किए जाने वाले आरोपियों को भी न्यायालय परिसर में नहीं लाने के जिला पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए गए हैं।

By: Naresh

Updated: 19 Mar 2020, 06:17 PM IST

अब कैदी भी नहीं आएंगे अदालत

कैदियों को अदालत नहीं लाने के निर्देश
धौलपुर. जिला न्यायालय परिसर में अस्थाई रूप से लगने वाली ढकेलों व दुकानों को भी 31 मार्च तक बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस अवधि में नियत फौजदारी प्रकरणों में भी जेल से कैदियों को पेशी पर लाने से रोक रहेगी। इसके अलावा पुलिस द्वारा पीसी रिमाण्ड आदि के लिए पेश किए जाने वाले आरोपियों को भी न्यायालय परिसर में नहीं लाने के जिला पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए न्यायिक मजिस्ट्रेट नीरज मित्तल को नियुक्त किया गया है कि वे वीसी के जरिए ही ऐसे मामलों की सुनवाई करेंगे। उन्होंने बताया कि इस अवधि में नियत प्रकरणों में गवाहों के जारी किए गए सम्मनों को भी अदम तामील वापस संबंधित न्यायालयों को भेजने के भी जिला पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए गए हैं। कार्यवाहक जिला न्यायाधीश ने चिकित्सा विभाग को प्रतिदिन न्यायालय परिसर में फोगिंग कराने, पोंछा लगवाने एवं मास्कों का वितरण कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कार्यवाहक जिला न्यायाधीश की ओर से भी आमजन से भी इस महामारी से बचाव के लिए किए जा रहे उपायों को गंभीरता से लेने, उसमें सरकारी एजेंसियों का सहयोग करने तथा सभी को जागरुक करने की अपील की है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned