गांव में खुला खुद का सैलून, कुंवरसेन के सपने हुए साकार

बाड़ी. बिजौली ग्राम पंचायत निवासी कुंवरसेन के लिए यह किसी सपने के सच होने से कम न था। दरअसल, अपने खुद के सैलून के जिस सपने को वो पिछले 7 साल से देख रहा था, वह लुपिन की मदद से साकार हो रहा था। बिजोली में कुंवरसेन के खुद के सैलून ‘हजामत’ का उद्घाटन देश के प्रसिद्ध कृषि अर्थशास्त्री पद्मश्री डॉ. अशोक गुलाटी और लुपिन फाउंडेशन के

By: Naresh

Published: 21 Sep 2021, 08:34 PM IST

गांव में खुला खुद का सैलून, कुंवरसेन के सपने हुए साकार

- ‘वोकल फॉर लोकल’ के जरिए लुपिन ने की मदद- प्रसिद्ध कृषि अर्थशास्त्री पद्मश्री डॉ. अशोक गुलाटी ने किया उद्घाटन

बाड़ी. बिजौली ग्राम पंचायत निवासी कुंवरसेन के लिए यह किसी सपने के सच होने से कम न था। दरअसल, अपने खुद के सैलून के जिस सपने को वो पिछले 7 साल से देख रहा था, वह लुपिन की मदद से साकार हो रहा था। बिजोली में कुंवरसेन के खुद के सैलून ‘हजामत’ का उद्घाटन देश के प्रसिद्ध कृषि अर्थशास्त्री पद्मश्री डॉ. अशोक गुलाटी और लुपिन फाउंडेशन के अधिशासी निदेशक सीताराम गुप्ता द्वारा किया गया। इस मौके पर डॉ. गुलाटी ने कहा कि इंसान के लिए सबसे बड़ी बात उसका आत्मसम्मान है। अगर आप खुद के खर्चे उठाने के लिए आपको दूसरों पर निर्भर हैं, तो आपके ज्ञान व कौशल की कोई कीमत नहीं। उन्होंने लुपिन और मंजरी फाउंडेशन के इस प्रयास की तारीफ करते हुए कहा कि इस तरह की मदद करने से लोगों के अंदर एक सकारात्मक भावना का जन्म होता है और सामाजिक स्तर में भी सुधार होता है।कार्यक्रम में सीताराम गुप्ता ने कहा कि हमें स्थानीय स्तर पर ही वॉकल फॉर लोकल को बढ़ावा देते हुए जो लोग अपना खुद का रोजगार करना चाहते हैं, उनकी मदद करनी चाहिए। लुपिन ने इस सैलून के लिए 55 हजार रुपए की मदद की है। इससे पहले भी बिजोली में 2 महिलाओं के लिए सुई-धागा सिलाई केंद्र खुलवाया जा चुका है। इस मौके पर लुपिन के क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक योगेश गुप्ता, मंजरी फाउंडेशन के अधिशासी निदेशक संजय शर्मा, लुपिन के कृषि विशेषज्ञ भीम सिंह, बिजोली सरपंच गंगाराम गुर्जर उपस्थित थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned