लोग हो रहे बीमार, अब झेलेंगे शुल्क बढ़ोतरी की भी मार

धौलपुर. मौसमी बीमारियों की मार झेल रहे लोगों पर जिला चिकित्सालय में शुल्क बढ़ोतरी की दोहरी मार पड़ेगी। राजस्थान मेडिकल रिलीफ सोसायटी की ओर से दस से अधिक सुविधाओं पर दर वृद्धि की गई है।

By: Naresh

Published: 04 Oct 2021, 08:48 AM IST

लोग हो रहे बीमार, अब झेलेंगे शुल्क बढ़ोतरी की भी मार

- जिला चिकित्सालय में बढ़ी दो से तीन गुना सभी सुविधाओं की दरें

- ओपीडी पर्चे का शुल्क 20 से बढ़ाकर किया 30 रुपए

- भर्ती होने के लगेंगे 70 रुपए- राजस्थान मेडिकल रिलीफ सोसायटी ने बढ़ाई दरें

धौलपुर. मौसमी बीमारियों की मार झेल रहे लोगों पर जिला चिकित्सालय में शुल्क बढ़ोतरी की दोहरी मार पड़ेगी। राजस्थान मेडिकल रिलीफ सोसायटी की ओर से दस से अधिक सुविधाओं पर दर वृद्धि की गई है। यह निर्णय हाल ही जिला कलक्टर की अध्यक्षता में हुई बैठक में किया गया था। इस राशि से चिकित्सालय में सुविधाओं में इजाफा किया जाएगा। बैठक में अस्पताल में ओपीडी के पर्चों से लेकर रिपोर्ट लेने के शुल्क में दो से 3 गुना बढ़ोतरी कर दी है। अब ओपीडी पर्चे का शुल्क 20 से बढ़ाकर 30 रुपए कर दिया है। वहीं, अस्पताल में भर्ती होने के लिए 50 की जगह 70 रुपए चुकाने होंगे। कोरोना के कारण पहले से ही आर्थिक तंगी झेल रहे गरीब लोगों पर इसका असर ज्यादा दिखाई देगा। वहीं, लोगों का आरोप है कि एक ओर सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं के नि:शुल्क होने का दावा कर रही है, वहीं दूसरी ओर शुल्क बढ़ाकर कमर तोड़ी जा रही है। जबकि इन दिनों मौसमी बीमारियों ने कहर बरपा रखा है।इन सुविधाओं का बढ़ा शुल्कजिला चिकित्सालय में नई दरें एक अक्टूबर से लागू कर दी गई हैं। हालांकि, इसके लिए किसी भी प्रकार की जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई थी। जिससे एकाएक बढ़ी हुई दर वसूलने से भी मरीजों के परिजन भौचक्के रह गए।सुविधा पहले नई दर (रुपए में)ओपीडी 20 30भर्ती 50 70आईसीयू 500 700एमएलसी 50 100टिकट की नकल 30 50आम्र्स स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र 1000 2500मेडिकल फिटनेस 200 300पोस्टमार्टम रिपोर्ट 30 100लैब से निजी ब्लड देने पर 1250 1500टू-पार्ट ब्लड 50 100 वर्तमान में जिला चिकित्सालय फुलवर्तमान में चल रही मौसमी बीमारी के अलावा डेंगू के कारण लोग पहले से ही परेशान हैं। मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण अस्पताल फुल चल रहा है। दरें बढ़ाने से गरीबों की जेब पर अधिक भार आएगा। लोगों का कहना है कि निजी चिकित्सालयों में कथित लूट के कारण लोग सरकारी चिकित्सालय का रुख करते हैं, लेकिन यहां भी दर बढ़ा दी गई हैं।इनका कहना हैआरएमआरएस की बैठक में यह निर्णय किया गया था। मामूली दरें बढ़ाई गई हैं। इस राशि से चिकित्सालय में नए वार्ड, नए उपकरण तथा अनुबंध रखे कार्मिकों की सैलरी दी जाएगी, जिससे मरीजों का बेहतर उपचार हो सके।- डॉ. समरवीर सिंह, पीएमओ, जिला चिकित्सालय, धौलपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned