कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए वरदान है प्रोनिंग थैरेपी

धौलपुर. कोरोना काल की वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने आमजन को प्रोनिंग थैरेपी अपनाने पर जोर दिया है। जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने बताया कि प्रोनिंग थैरेपी से ऑक्सीजन बैड मॉनिटरिंग करने से कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के द्वारा अपने शरीर में ऑक्सीजन की कमी को दूर किया जा सकता है

By: Naresh

Published: 09 May 2021, 08:38 PM IST

कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए वरदान है प्रोनिंग थैरेपी

धौलपुर. कोरोना काल की वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने आमजन को प्रोनिंग थैरेपी अपनाने पर जोर दिया है। जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने बताया कि प्रोनिंग थैरेपी से ऑक्सीजन बैड मॉनिटरिंग करने से कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के द्वारा अपने शरीर में ऑक्सीजन की कमी को दूर किया जा सकता है और ये प्रोनिंग थैरेपी ऐसे संक्रमित व्यक्ति, जो होम आइसोलेशन या संस्थागत आइसोलेशन में है, उनके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगी। इससे सांस लेने में तकलीफ दूर होगी। इस तकनीक से आईसीयू में रखने वाले मरीजों को भी तात्कालिक लाभ मिलेगा। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गोपाल प्रसाद गोयल को पाबंद करते हुए प्रोंनिग थैरेपी के संबंध में जिले में आमजन की जानकारी में लाने के लिए आवश्यक टीमों को गठन करने के निर्देश दिए। कहा है कि प्रोनिंग थैरेपी के माध्यम से ऑक्सीजन लेवल को बढ़ाने के लिए जिला चिकित्सालय धौलपुर, उप जिला चिकित्सालय बाड़ी एवं अन्य चिकित्सा संस्थानों में कार्यरत फीजियोथैरेपिस्ट, मेल नर्स के माध्यम से टीमें गठित की जाएं और प्रत्येक सीएचसी, पीएचसी लेवल पर भेजकर आंगनबाड़ी, आशा सहयोगिनी, एएनएम एवं वॉलेन्टियर्स को प्रशिक्षित किया जाए, ताकि उनके द्वारा घर-घर जाकर प्रोनिंग थैरेपी के बारे में लोगों को अवगत कराया जा सकें। इस तकनीक का लाभ उठाया जा सके।

आइए जाने क्या हैं प्रोनेनिंग थेरेपी

प्रोनिंग की जरूरत उस समय पड़ती है, जब कोरोना मरीज को सांस लेने में दिक्कत हो और शरीर में ऑक्सीजन का स्तर 94 के नीचे चला जाए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इसकी सिफारिश की है। अगर आप कोरोना से संक्रमित हैं और घर पर ही आइसोलेशन में हैं तो हो सकता है कि आपको कभी कभी सांस में तकलीफ की शिकायत होती हो। ऐसे में आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आपको बस उल्टा लेटना होगा और गहरी सांस लेनी होगी। दरअसल यह एक बेहद पुरानी तकनीक है, जिसे प्रोनिंग पोजीशन कहते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned