बजरी परिवहन रास्ते चिन्हित करने को पुलिस ने फिर संभाली कमान

धौलपुर. तू डाल...डाल...तो...मैं...पात...पात की कहावत धौलपुर प्रशासन और बजरी माफियाओं के मध्य एकदम सटीक बैठ रही है। यहां कोतवाली थाना इलाके की हाउसिंग बोर्ड चौकी के सामने बजरी के ट्रेक्टर की चपेट में आने पर दो जनों की मौत के बाद एक बार फिर से पुलिस ने बजरी परिवहन रोकने के प्रयास शुरू कर दिए है।

By: Naresh

Published: 06 Jan 2021, 10:34 AM IST

बजरी परिवहन रास्ते चिन्हित करने को पुलिस ने फिर संभाली कमान
-पुलिस अधिकारियों ने किया क्षेत्र का दौरा
धौलपुर. तू डाल...डाल...तो...मैं...पात...पात की कहावत धौलपुर प्रशासन और बजरी माफियाओं के मध्य एकदम सटीक बैठ रही है। यहां कोतवाली थाना इलाके की हाउसिंग बोर्ड चौकी के सामने बजरी के ट्रेक्टर की चपेट में आने पर दो जनों की मौत के बाद एक बार फिर से पुलिस ने बजरी परिवहन रोकने के प्रयास शुरू कर दिए है। पुलिस अधिकारियों ने क्षेत्र में दौरा करते हुए बजरी परिवहन के रास्तों के बारे में जानकारी जुटाई और रोकने के लिए बंदोबस्त की तैयारी शुरू कर दी है।
उल्लेखनीय है कि शहर के कोतवाली थाना इलाके के गांव मौरोली बजरी निकासी का सबसे मुख्य मार्ग है। इस मार्ग पर बजरी परिवहन रोकने के लिए पुलिस ने मार्गों का दौरा किया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बच्चन सिंह मीणा ने बताया कि कोतवाली थाने के गंाव मारौली से होने वाले बजरी परिवहन को रोकने के लिए क्षेत्र से गुजरने वाले रास्तों के बारे में विस्तार से जानकारी जुटाई। इस दौरान ऐसे रास्तों को चिन्हित किया गया, जिन मार्गों से बजरी के वाहनों का परिवहन हो रहा है। इन रास्तों पर विशेष निगरानी के कार्ययोजना तैयार की जा रही है।
आगरा मार्ग से गुजरते है बजरी के वाहन
शहर के समीपवर्ती गांवों से बजरी का परिवहन धौलपुर शहरी क्षेत्र के अलावा उत्तर प्रदेश के आगरा जिले की ओर होता है। ऐसे में पुलिस को कोतवाली, निहालगंज, सदर व मनियां थाना क्षेत्र में बजरी के परिवहन को रोकने के लिए प्रशासन को कड़े बंदोबस्त करने होंगे।
सैपऊ मार्ग से दौड़ रहे बजरी के वाहन
धौलपुर के समीपवर्ती गांवों से निकलने वाली चंबल बजरी का परिवहन सैपऊ मार्ग से होकर भरतपुर की ओर होना सामने आया है। सैपऊ से भरतपुर के अलावा बसई नबाव के रास्ते उत्तर प्रदेश के खेरागढ़ क्षेत्र में भी बड़ी मात्रा में बजरी के वाहनों का परिवहन होता है। यहां से गुजरने वाले बजरी से भरे ट्रेक्टर-ट्रॉली लम्बी कतार लगाकर गुजरते है। ऐसे में पुलिस हमला होने के भय के चलते इन्हें रोकने के लिए आगे नहीं आती है। पुलिस ने सैपऊ मार्ग पर कड़े बंदोबस्त करने की आवश्यकता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned