डांग में सक्रिय डकैत केशव व बैजू की तलाश में जुटी पुलिस

धौलपुर. चंबल के बीहडों का बागी और बंदूक से नाता बहुत पुराना है। राजस्थान और मध्य प्रदेश की सीमा का विभाजन करती चंबल में डकैतों की कहानियां छुपी हुई है। चंबल बीहड़ के हर चप्पे-चप्पे से वाकिफ डकैत पुलिस की घेराबंदी को चकमा देने में कामयाब होते रहे है।

By: Naresh

Published: 19 May 2020, 07:32 PM IST


डांग में सक्रिय डकैत केशव व बैजू की तलाश में जुटी पुलिस
धौलपुर. चंबल के बीहडों का बागी और बंदूक से नाता बहुत पुराना है। राजस्थान और मध्य प्रदेश की सीमा का विभाजन करती चंबल में डकैतों की कहानियां छुपी हुई है। चंबल बीहड़ के हर चप्पे-चप्पे से वाकिफ डकैत पुलिस की घेराबंदी को चकमा देने में कामयाब होते रहे है। लेकिन पुलिस का बीहड़ पर चक्रव्यूह अब यहां असर दिखाने लगा है। पुलिस ने कुछ माह में डांग क्षेत्र से करीब तीन दर्जन से अधिक डकैतों को दबोच लिया है। पुलिस ने डांग को डकैत मुक्त कराने के मद्देनजर चलाए गए अभियान को जारी रखते हुए मंगलवार को डांग में कई स्थानों पर दबिशें दी। इस दौरान पुलिस ने डकैतों के कई स्थानों को भी चिन्हित किया।
जिला पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा ने बताया कि डांग में सक्रिय बड़े डकैत गिरोह की गिरफ्तारी के बाद भी यहां अभियान जारी रखा गया है। पुलिस ने डांग में सक्रिय डकैत केशव व बैजू की तलाश गहनता से शुरू कर दी है। पुलिस ने डकैतों की धरपकड़ हेतु चम्बल के बीहड़ों में आठमील महदपुरा, डांग बसई, बरपुरा, गंगोली, जनकपुर, धनावली, करुआपुरा, मुतावली, बाबू महाराज, कुदिन्ना, सायपुर, सोने का गुर्जा, अतिराज का पुरा सहित आदि स्थानों के आसपास संयुक्त सघन सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान धौलपुर पुलिस को डकैतों के सम्बन्ध में कई अहम जानकारियां मिली है। जिसके के आधार पर पुलिस ने आगामी रणनीति तैयार करने की योजना बना रही है। बदमाशों की धरपकड़ के लिए चलाए तलाशी अभियान में डीएसटी टीम के साथ, योगेन्द्र सिंह प्रभारी थाना सदर बाडी, कैलाश गुर्जर प्रभारी थाना बसईडांग, परमजीत सिंह प्रभारी थाना मनियां आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned