सवा लाख के इनामी घायल डकैत केशव गुर्जर की तलाश में घर-घर पहुंची पुलिस, डांग क्षेत्र में ड्रोन से तलाश

धौलपुर. पुलिस मुठभेड़ के दौरान सवा लाख के इनामी डकैत केशव गुर्जर के गोली लगने की पुष्टि होने पर डांग क्षेत्र में तलाशी अभियान जारी बना हुआ है। पुलिस की ओर से डकैत के स्थानीय डांग क्षेत्र में छुपे होने की जानकारी होने के पुख्ता सबूत मिलने पर घर-घर तलाशी ली गई। इस दौरान पुलिस ने ग्रामीणों को डकैत पकडऩे में आगे आकर मदद करने का आह्वान भी किया।

By: Naresh

Published: 29 Dec 2020, 07:52 PM IST

घायल डकैत की तलाश में घर-घर पहुंची पुलिस, डांग क्षेत्र में ड्रोन से तलाश
-डकैत केशव का साथी पांच हजार का इनामी देवेन्द्र घायलावस्था में दबोचा गया
-
धौलपुर. पुलिस मुठभेड़ के दौरान सवा लाख के इनामी डकैत केशव गुर्जर के गोली लगने की पुष्टि होने पर डांग क्षेत्र में तलाशी अभियान जारी बना हुआ है। पुलिस की ओर से डकैत के स्थानीय डांग क्षेत्र में छुपे होने की जानकारी होने के पुख्ता सबूत मिलने पर घर-घर तलाशी ली गई। इस दौरान पुलिस ने ग्रामीणों को डकैत पकडऩे में आगे आकर मदद करने का आह्वान भी किया।
उल्लेखनीय है कि रविवार की देर शाम पुलिस को सूचना मिली कि एक लाख का इनामी डकैत केशव गुर्जर बाड़ी धौलपुर रोड पर पगुली गांव के पास बने 132केवी जीएसएस पर चल रहे निर्माण कार्य करने वाले ठेकेदार को चौथ-वसूली के लिए चिन्ह देने आ रहा है। इस पर एसपी के सर सिंह शेखावत ने डकैत गिरोह को पकडऩे की योजना तैयार की और पुलिस टीम का गठन किया। इसके बाद गांव पगुली जीएसएस पहुंची पुलिस टीम यहां मजदूर बनकर जगह-जगह तैनात हो गई। रात करीब दो बजे डकैत केशव गुर्जर अपने दो साथियों के साथ यहां पहुंचा और गेट पर खड़ा हो गया। यहां की गतिविधियों को भाप जाने पर केशव ने फायरिंग शुरू कर दी। जबाव में पुलिस ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस की ओर से करीब ५० से ६० राउण्ड फायङ्क्षरग की गई। ताबड़तोड़ फायरिंग होता देख डकैत केशव अपने साथियों के साथ अंधेरे का फायदा उठाकर निकला। पुलिस ने तलाशी अभियान शुरूआत की गई। इसमें जिस स्थान पर डकैत केशव खड़ा हुआ था वहां खून पड़ा मिला, जो कि यहां बने नाले के रास्ते डकैत के भाग जाने की ओर इशारा कर रहा था। मुठभेड़ के दौरान डकैत केशव गुर्जर व उसके साथ शीशराम व देवेन्द्र शामिल थे। पुलिस फायरिंग में डकैत केशव गुर्जर के जांघ व सीधे हाथ में एवं साथी शीशराम के कंधे एवं देवेन्द्र के पैर में में गोली लगने की बात सामने आ रही है। पुलिस ने सर्च अभियान के दौरान खून से सनी हुई जॉकेट को भी बरामद किया है, जिसके कंधे में गोली का निशान मिला है।
देर रात दबोचा डकैत का साथी देवेन्द्र
मुठभेड़ के बाद डांग में डकैत केशव व उसके साथियों की तलाश में शुरू किए गए अभियान के दौरान देर रात पुलिस ने डकैत के साथ देवेन्द गुर्जर पुत्र भरत सिंह निवासी सुख सिंह का पुरा को घायलावस्था में दबोच लिया। देवेन्द्र के पैरों से खून निकल रहा था। बाड़ी सदर थाना प्रभारी योगेन्द्र सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी देवेन्द्र्र पंाच हजार का इनामी है। गत २६ अक्टूबर को पुलिस कांस्टेबल को गोली मारने वाले मामले में यह डकै त केशव गिरोह में शामिल था। थाना प्रभारी ने बताया कि गांव पगुली पर चल रहे जीएसएस निर्माण कार्य के दौरान डकैत केशव गुर्जर अपने भाई शीशराम व देवेन्द्र के साथ आया था और यहां मजदूरों से मारपीट करते हुए मोाबाइल छीन कर ले गया और काम नहीं करने की धमकी दे गया था। इसके बाद रात को डकैत केशव, शीशराम व देवेन्द्र के साथ फिर से यहां पहुंचा था। इस दौरान पुलिस से हुई मुठभेड़ में तीन जनों के गोली लगना सामने आ रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned