बजरी के ट्रेक्टर-ट्रॉली की चपेट से सैपऊ के मासूम की मौत,आक्रोशित भीड़ ने लगाया जाम

धौलपुर/ मुरैना. यहां बड़ोखर बस स्टैंड के पास ट्रैक्टर ट्रॉली से कुचलकर सैपऊ निवासी पांच वर्षीय मासूम की मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना हैं कि बजरी से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली काफी तेज गति से थी। जबकि पुलिस का कहना है कि रेत खाली करके लौटते समय ट्रैक्टर ट्रॉली ने टक्कर मारी है। घटना सुबह करीब नौ दस बजे की है। घटना पर आक्रोशित भीड़ ने जाम लगा दिया। घटना को लेकर आक्रोशित लोगों ने पहले बड़ोखर बस स्टैंड के सामने जाम लगाया।

By: Naresh

Published: 24 Sep 2020, 06:10 PM IST

बजरी के ट्रेक्टर-ट्रॉली की चपेट से सैपऊ के मासूम की मौत,आक्रोशित भीड़ ने लगाया जाम
-माफिया के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने पर पुलिस के खिलाफ जनता में आक्रोश
धौलपुर/ मुरैना. यहां बड़ोखर बस स्टैंड के पास ट्रैक्टर ट्रॉली से कुचलकर सैपऊ निवासी पांच वर्षीय मासूम की मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना हैं कि बजरी से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली काफी तेज गति से थी। जबकि पुलिस का कहना है कि रेत खाली करके लौटते समय ट्रैक्टर ट्रॉली ने टक्कर मारी है। घटना सुबह करीब नौ दस बजे की है। घटना पर आक्रोशित भीड़ ने जाम लगा दिया। घटना को लेकर आक्रोशित लोगों ने पहले बड़ोखर बस स्टैंड के सामने जाम लगाया। इसके बाद मुडिय़ाखेड़ा बाइपास, मुरैना अंबाह हाइवे पर जाम लगा दिया। करीब डेढ़ घंटे तक जाम में दर्जनों वाहन फंसे रहे। स्टेशन रोड, सिटी कोतवाली, सिविल लाइन थाना और पुलिस लाइन से बड़ी संख्या पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा। परिजन को काफी समझाईश के बाद करीब साढ़े 11 बजे जाम खुल सका।
पुलिस के अनुसार धौलपुर के सैपऊ कस्बे की आवासीय कॉलोनी में रहने वाले हरजीत खटीक अपने डेढ़ साल के पुत्र का मुंडन करवाने सोमवार को पत्नी रीना, सात साल की पुत्री एवं पांच साल के पुत्र आर्यन को लेकर बाइक से दिमनी के नगरसेन बाबा मंदिर पर गए थे। यहां छोटे बच्चे का मुंडन करवाया और फिर अपनी ससुराल चले गए। मंगलवार को सुबह जब हरजीत अपने परिवार के साथ अपने गांव सैंपऊ जा रहे थे। रास्ते में बड़ोखर बस स्टैंड पर सड़क किनारे बाइक खड़ी करके हरजीत पानी लेने चले गए। इस दौरान तेज रफ्तार ट्रैक्टर-ट्रॉली आया और बच्चे आर्यन को कुचल दिया। प्रत्यक्षदर्शियों अनुसार ट्रैक्टर ट्रॉली का चालक तेजी व लापरवाही से चला रहा था। बालक की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में लोग एकत्र हो गए। इस दौरान आक्रोशित भीड़ ने सुबह दस बजे से बड़ोखर बस स्टैंड के सामने अंबाह रोड पर जाम लगा दिया। लेकिन वाहन बाइपास से आ जा रहे थे, इसलिए भीड़ मुडियााखेड़ा बाइपास तिराहे पर पहुंच गई और वहां सड़क जाम कर दी। करीब डेढ़ घंटे बाद पुलिस अधिकारियों के समझाने के बाद जाम खुल सका।
एक साल में रेत माफिया ने ली चौथी जान
स्थानीय लोगों का कहना हैं कि रेत माफिया के हौंसले बुलंद हैं। आए दिन लोगों को टक्कर मार रहे हैं। एक साल में रेत से भरे टै्रक्टर ट्रॉली की टक्कर से यह चौथी मौत है। और घायल कई हो चुके हैं। लेकिन रेत माफिया को राजनैतिक संरक्षण प्राप्त होने के कारण पुलिस भी कोई कार्रवाई नहीं करती। बड़ोखर चौराहे से मुडिय़ाखेड़ा बाइपास तक आए दिन रेत से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली दुर्घटना घटित कर रहे हैं और कोई विरोध करता है, तो वह लडऩे-झगडऩे पर आमादा हो जाते हैं। लोगों ने कहा कि स्टेशन रोड थाना पुलिस की गाड़ी व 100 डायल रेत के ट्रैक्टर ट्रॉलियों को किसी मंत्री व वीआइपी की तरह फॉलो करती है , फिर आम जनता विरोध की हिम्मत कैसे जुटा ले।
शहर में लगती हैं रेत मंडी, पुलिस व प्रशासन सरेंडर
रेत माफिया के समक्ष पुलिस, वन विभाग और प्रशासन पूरी तरह सरेंडर हैं। पिछले लंबे समय से रेत के अवैध कारोबारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जबकि शहर में बाइपास, बड़ोखर चौराहे पर खुलेआम रेत की मंडी लगती है। आईजी चंबल रेंज जब मुरैना आए थे तब पहली पीसी में उन्होंने रेत के अवैध कारोबारियों को टारगेट किया था। सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे लेकिन इसे गंभीरता से नहीं लिया गया। इससे पहले पुलिस व प्रशासन इतना असहाय कभी नहीं देखा कि आंखों के सामने अवैध कारोबार हो रहा है फिर भी कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं।
इनका कहना....
- बड़ोखर बस स्टैंड के पास जिस बच्चे की ट्रेक्टर ट्रॉली से मौत हुई है, वह रेत खाली करके लौट रहा था। उसके फोटो हमारे पास आ गए हैं, उसको पकडऩे पुलिस पार्टी गई है।
सुधीर सिंह कुशवाह, सीएसपी, मुरैना

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned